News Nation Logo

हत्या के आरोपी की अस्पताल में मौत, परिजनों ने पुलिस पर लगाया उत्पीड़न का आरोप

छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में हत्या के मामले में पूछताछ के बाद बिजली विभाग के अधिकारी की मौत हो गई है. अधिकारी के परिजनों ने पुलिस पर उससे मारपीट करने का आरोप लगाया है.

Bhasha | Updated on: 26 Nov 2020, 09:04:31 AM
Crime News

Crime News (Photo Credit: (सांकेतिक चित्र))

रायपुर:

छत्तीसगढ़ के सूरजपुर जिले में हत्या के मामले में पूछताछ के बाद बिजली विभाग के अधिकारी की मौत हो गई है. अधिकारी के परिजनों ने पुलिस पर उससे मारपीट करने का आरोप लगाया है. सूरजपुर जिले के पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा ने बुधवार को बताया कि जिले के लटोरी पुलिस चौकी क्षेत्र में हुई हरिश्चंद राजवाड़े उर्फ रामेश्वर (24 वर्ष) की हत्या के आरोपी बिजली विभाग के जूनियर इंजीनियर पूनम सिंह कतलम (44 वर्ष) की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई है.

और पढ़ें: आदिवासी नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप, आरोपियों की तलाश जारी

कुकरेजा ने बताया कि इस महीने की 23 तारीख को पुलिस को लटोरी पुलिस चौकी के अंतर्गत करवां बिजली उपकेंद्र के सामने एक व्यक्ति की अर्धनग्न और खून से लथपथ लाश होने की जानकारी मिली थी. उन्होंने बताया कि जानकारी के बाद पुलिस दल को घटनास्थल के लिए रवाना किया गया और मामले की जांच शुरू की गई. उन्होंने बताया कि जांच के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि शव गजाधरपुर गांव निवासी हरिश्चंद राजवाड़े की है.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलिस ने जब आसपास के लोगों से पूछताछ की तब जानकारी मिली कि रजवाड़े की मित्रता करवां बिजली उपकेंद्र के लाइन मैन विजय कुमार विश्वकर्मा से है और रजवाड़े अक्सर विश्वकर्मा के पास शराब पीने जाता था. उन्होंने बताया कि पूछताछ में पता चला कि इस दौरान जूनियर इंजीनियर पूनम कतलम भी अक्सर उनके साथ शराब पीता था.

उन्होंने बताया कि रजवाड़े को 22 नवंबर को उपकेंद्र में जाते हुए देखा गया था. कुकरेजा ने बताया कि पुलिस जब उप केंद्र में ही लोगों से पूछताछ कर रही थी तब कतलम ने सांस लेने में तकलीफ और घबराहट होने की जानकारी दी. बाद में पुलिस ने कतलम को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में भर्ती करा दिया.

ये भी पढ़ें: छत्तीसगढ़: मुठभेड़ में एक महिला माओवादी समेत तीन माओवादी ढेर

पुलिस अधिकारी ने बताया कि इधर पुलिस ने जब विजय से पूछताछ की तब उसने अपने अन्य साथी संजय दुबे, संजय कुमार विश्वकर्मा और पूनम सिंह कतलम के साथ मिलकर रजवाड़े से मारपीट करने और उसकी हत्या करने की जानकारी दी.

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हत्या का खुलासा होने के बाद पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जबकि कतलाम के अस्पताल में होने के कारण उसकी गिरफ्तारी नहीं की गई थी. उन्होंने बताया कि बाद में पुलिस को 24 नवंबर को सुबह लघुशंका जाने के दौरान कतलम के गिरने और उसकी मृत्यु होने की जानकारी मिली.

उन्होंने कहा कि चिकित्सकों ने बताया है कि कतलम की मृत्यु ह्रदय गति रूकने से हुई है. इधर कतलम के भाई दीपक ने पुलिस पर कतलम को बुरी तरह से पिटाई करने का आरोप लगाया है. दीपक के साथ हुई बातचीत के दौरान कहा कि उसके भाई के शरीर पर पिटाई करने के निशान है जिससे पता चलता है कि पुलिस ने कतलम को प्रताड़ित किया है.

उन्होंने बताया कि उन्हें स्थानीय लोगों से जानकारी मिली है कि पुलिस कतलम को हिरासत में लिया था. हांलाकि, सूरजपुर जिले के पुलिस अधीक्षक राजेश कुकरेजा ने आरोपों से इंकार किया है और कहा है कि पुलिस ने इस मामले की न्यायिक जांच कराने का अनुरोध किया है.

उन्होंने कहा कि इसकी जानकारी उच्च अधिकारियों को भी दी गई है. कुकरेजा ने बताया कि इस मामले में लटोरी चौकी के प्रभारी समेत 10 पुलिस कर्मियों को लाइन हाजिर कर दिया गया है. 

First Published : 26 Nov 2020, 08:59:49 AM

For all the Latest States News, Chhattisgarh News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.