News Nation Logo

मुंगेर में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान हिंसक झड़प और फायरिंग, 1 की मौत

मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन पुलिस प्रशासन द्वारा ही करवाया जा रहा है .सभी पूजा समिति देर रात प्रतिमा को सड़क पर ही छोड़कर अपने अपने घर चले गए. देर रात से सुबह तक प्रशासन अपने से प्रतिमा को विसर्जन के लिए सोझी घाट गंगा किनारे पहुंचा रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 27 Oct 2020, 03:05:31 PM
Durga statue immersion in Munger

दुर्गा पूजा के दौरान हिंसक झड़प (Photo Credit: न्यूज नेशन)

मुंगेर:

मुंगेर में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान पुलिस और पब्लिक के बीच हिंसक झड़प हो गई. इस दौरान पथराव और गोलीबारी में एक की मौत हो गई. वहीं, आधे दर्जन लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए. जख्मी में कई पुलिस कर्मी भी शामिल हैं. दरअसल, कोतवाली थाना क्षेत्र के दीनदयाल चौक के पास प्रतिमा विसर्जन को लेकर पुलिस और पब्लिक आमने-सामने हो गई. बता दें कि मुंगेर जिला में प्रथम चरण में ही तीनों विधानसभा जमालपुर तारापुर एवं मुंगेर में मतदान होना है. इसको लेकर प्रशासन प्रतिमा को जल्दी-जल्दी विसर्जन करवाना चाह रही थी. बड़ी दुर्गा महारानी शादीपुर की प्रतिमा काफी धीरे-धीरे आगे बढ़ रही थी.

यह भी पढ़ें : अब जम्मू-कश्मीर में कोई भी खरीद सकेगा जमीन, मोदी सरकार का बड़ा फैसला

दीनदयाल चौक के पास प्रशासन प्रतिमा को पूजा समिति से आगे बढ़ाने को कह रही थी. इसी बीच पब्लिक विरोध करने लगी. स्थिति उग्र हो गई. लाठीचार्ज हुआ .पथराव हुआ और गोलियां चलने लगी. लगभग 1 दर्जन से अधिक गोली चली. गोलीबारी में कोतवाली थाना क्षेत्र के लोहा पट्टी निवासी 22 वर्षीय अनुराग कुमार की मौत घटनास्थल पर ही हो गई. गोलीबारी में 7 अन्य लोग घायल हैं .जिसमें एक को बेहतर इलाज के लिए भागलपुर रेफर किया गया है .6 का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है. सदर अस्पताल के डिप्टी सुपरिटेंडेंट निरंजन ने बताया कि सभी गोली लगे घायलों का एक्सरे किया जाएगा. अगर डीप में गोली लगी होगी तो उन्हें रेफर किया जाएगा. बाहर गोली अगर होगी तो उसे निकाला जाएगा. प्रतिमा विसर्जन में जल्दबाजी करने तथा पुलिस पर गोलीबारी करने का आरोप स्थानीय लोगों ने लगाए.

यह भी पढ़ें : हाथरस कांड: CBI जांच की निगरानी इलाहाबाद HC करेगा, SC का फैसला

मृतक के परिजन तथा अन्य लोगों ने कहा कि पुलिस की यह तानाशाही है. पुलिस ने गोली चलाई है. हम लोग प्रतिमा का विसर्जन कर रहे थे, लेकिन पुलिस जल्दी विसर्जन करने का दबाव बना रही थी. हम लोगों के आस्था के साथ खिलवाड़ हुआ है. हम लोग 11वीं पूजा को विसर्जन करते हैं, लेकिन पुलिस दसवीं को ही विसर्जन करवा रही थी. फिर भी हम लोग विसर्जन कर रहे थे, लेकिन पुलिस जल्दबाजी में करने को कह रही थी. नहीं करने पर हम लोगों के साथ मारपीट तथा गोलीबारी हम लोगों के साथ किया गया. घटना के बाद मुंगेर के एसपी लिपि सिंह एवं राजेश मीणा ने बयान जारी कर कहा कि प्रतिमा विसर्जन के दौरान शरारती तत्व के द्वारा हंगामा किया गया है. गोलीबारी भी शरारती तत्वों ने चलाई है. इसमें एक की मौत हुई है कई अन्य घायल हैं. एसपी ने बताई की कोतवाली थाना प्रभारी भी घायल है तथा पुलिस के भी तीन जवान घायल हुए हैं. उन्होंने कहा कि फिलहाल स्थिति शांतिपूर्ण है .

यह भी पढ़ें : रामदास अठावले कोरोना पॉजिटिव, कल पायल घोष को दिलाई थी पार्टी की सदस्यता

लेकिन हकीकत है कि मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन पुलिस प्रशासन द्वारा ही करवाया जा रहा है .सभी पूजा समिति देर रात प्रतिमा को सड़क पर ही छोड़कर अपने अपने घर चले गए. देर रात से सुबह तक प्रशासन अपने से प्रतिमा को विसर्जन के लिए सोझी घाट गंगा किनारे पहुंचा रही है. सुबह होने के बाद पूजा समिति भी अपने-अपने प्रतिमा के पास नजर आ रहे हैं. लेकिन लोगों में आक्रोश देखने को मिल रहा है .मुंगेर में 28 तारीख को यानी कल चुनाव होना है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 27 Oct 2020, 03:05:31 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.