News Nation Logo

BREAKING

कोरोना पॉजिटिव होने के शक में क्वारेंटाइन सेंटर में भर्ती प्रवासी मजदूर ने किया सुसाइड, रिपोर्ट निकली निगेटिव

बिहार में वैशाली जिले के हाजीपुर सदर थाना क्षेत्र स्थित क्वारेंटाइन सेंटर में बुधवार को कोरोना वायरस के संदिग्ध व्यक्ति ने खुद को फांसी लगा ली.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Ns | Updated on: 21 May 2020, 10:31:42 AM
suicide

कोरोना पॉजिटिव होने के शक में कोरेंटाइन सेंटर में मजदूर ने किया सुसाइड (Photo Credit: फाइल फोटो)

हाजीपुर:

बिहार (Bihar) में वैशाली जिले के हाजीपुर सदर थाना क्षेत्र स्थित क्वारेंटाइन सेंटर में बुधवार को कोरोना वायरस के संदिग्ध व्यक्ति ने खुद को फांसी लगा ली. क्वारेंटाइन सेंटर में व्यक्ति का शव फंदे पर लटका हुआ मिला. व्यक्ति को कुरान से संक्रमित होने का शक था हालांकि बाद में आई रिपोर्ट में कोरोना वायरस (Corona Virus) नेगेटिव मिला है. मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. फिलहाल पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है.

यह भी पढ़ें: बिहार में कोरोना वायरस संक्रमित मामलों की संख्या बढकर 1675 हुई

जानकारी के अनुसार, वैशाली जिले बेलसर जारंग का रहने वाला राजेश दो दिन पहले दिल्ली से बिहार लौटा था. करीब हजार किलोमीटर पैदल चल कर अपने गांव पहुंचने वाला राजेश थक चुका था. बीमार था और बेहद तनाव में था. बीमार राजेश के मन में ये बात बैठ गई थी की उसे संक्रमण हो चुका है. घर जाने की बजाय सीधे मुख्यालय के कोरेन्टाइन सेंटर पर पहुंचा. सदर थाना क्षेत्र के मजीराबाद स्थित कोरेन्टाइन सेंटर में भर्ती हुआ.

बीमार महसूस करने पर मेडिकल टीम ने प्रवासी मजदूर राजेश की जांच रिपोर्ट के लिए एक दिन बाद यानी कल उसका सेम्पल लेकर पटना भेजा. हैरत इस बात की राजेश को कोई संक्रमण नहीं था और महज संक्रमण के शक में जकड़े उसके मन ने उसे इस कदर तनावग्रस्त कर दिया जिसने उसे मौत को आसान रास्ता समझ लिया. क्वारेंटाइन सेंटर में मजदूर के इस सुसाइड की खबर के बाद जिले का प्रशासनिक अमला सेंटर पहुंचा. शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया.

यह भी पढ़ें: बिहार में क्वारंटाइन सेंटर में पार्टी कर रहे हैं प्रवासी मजदूर, आपस में भिड़े

हाजीपुर सदर थाना अध्यक्ष रोहन कुमार ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि वैशाली जिले के पटेढ़ी बेलसर प्रखंड निवासी उक्त व्यक्ति दो दिन पूर्व दिल्ली से अपने घर लौटा था और हाजीपुर में स्क्रीनिंग के दौरान उसे दिग्घी स्थित अंबेडकर छात्रावास में बनाए गए पृथकवास केंद्र में भेजा गया था. थाना अध्यक्ष ने कहा कि मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण की जांच के लिए उसका नमूना लिए जाने के बाद से वह घबराया हुआ था.

उधर, मृतक के भाई का कहना है कि प्रवासी मजदूर ने 2 दिन पहले बताया था कि उसको चक्कर आ रहे हैं और सीने में दर्द हो रहा है बुखार और घबराहट की गई व्यक्ति ने शिकायत की थी. कल जांच के सैम्पल लिया गया था. देर शाम रिपोर्ट में कोरोना वायरस नेगेटिव पाया गया. लेकिन रिपोर्ट आने से पहले तनाव में उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. मृतक राजेश के भाई राकेश ने बिलखते हुए बताया कि वो दो दिनों से लगातार अपने भाई राजेश को ढाढस बंधा रहा था, लेकिन तनाव में जकड़े राजेश ने जान दे दी.

यह वीडियो देखें: 

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 21 May 2020, 10:31:42 AM