News Nation Logo

सुशांत केसः RJD सांसद मनोज झा बोले- मौत को पीपली लाइव मत बनाइये

आरजेडी सांसद मनोज झा (Manoj Jha) ने कहा कि एक राज्य की पुलिस का दूसरे राज्य की पुलिस के साथ क्या ऐसा व्यवहार होगा. यही डराता परेशान करता है. पहले जांच के लिए गई टीम का क्वारंटीन ना करना और बाद में विनय तिवारी को क्वारंटीन करना हैरान करता है.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 03 Aug 2020, 12:54:20 PM
Manoj Jha

मनोज झा (Photo Credit: फाइल फोटो)

पटना:

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput Case) मामले में जांच करने मुंबई पहुंचे बिहार के आईपीएस अधिकारी विनय तिवारी को क्वारंटीन किए जाने का मामला बढ़ता ही जा रहा है. अब बिहार में मुख्य विपक्षी पार्टी आरजेडी ने भी जांच के लिए गए आईपीएस अधिकारी के क्वारंटीन किए जाने को लेकर उद्धव सरकार पर निशाना साधा है.

आरजेडी सांसद मनोज झा (Manoj Jha) ने कहा कि एक राज्य की पुलिस का दूसरे राज्य की पुलिस के साथ क्या ऐसा व्यवहार होगा. यही डराता परेशान करता है. पहले जांच के लिए गई टीम का क्वारंटीन ना करना और बाद में विनय तिवारी को क्वारंटीन करना हैरान करता है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मीडिया से बात कर रहे है. उन्हें बिना वक्त गवाए उद्धव ठाकरे से बात करनी चाहिए और पूछना चाहिए कि ऐसा क्यों हो रहा है. उन्होंने कहा कि इस मामले को पीपली लाइव न बनाकर मामले की सीबीआई या कोर्ट मॉनिटर जांच करानी चाहिए.  

यह भी पढ़ेंः सुशांत केसः एसपी को जबरन क्वारंटीन कर बैकफुट पर आई BMC, कह रही-हमने तो ये कहा था...

वहीं इस मामले में सुशांत सिंह राजपूत के चचेरे भाई नीरज कुमार बबलू ने कहा कि पूरे देश में ये मामला उठ रहा है. महाराष्ट्र पुलिस किस तरीके से बिहार पुलिस अधिकारियों के साथ गलत व्यवहार कर रही है. इस मामले में कई बड़े लोग शामिल हैं. आखिरकार मुंबई पुलिस किसके इशारे पर काम कर रही है. पहले जो अधिकारी जांच के लिए गए थे, उन्हें क्वारंटीन क्यों नहीं किया गया. आखिरकार क्या राज है जो मुंबई पुलिस छिपाना चाहती है. विनय तिवारी के साथ जो व्यहवार किया है वो दुर्भाग्यपूर्ण है.

यह भी पढ़ेंः सुशांत केसः बिहार-महाराष्ट्र सरकार आमने-सामने, नीतीश बोले - जो हुआ सही नहीं हुआ

बैकफुट पर आई बीएमसी   
इस मामले में बैकफुट पर आई बीएमसी ने कहा कि राज्य सरकार के क्वारंटीन संबंधी दिशानिर्देशों के पालन के तहत यह कार्रवाई की गई है. अगर आईपीएस अधिकारी को जांच के लिए क्वारंटीन में छूट चाहिए तो वह इसके लिए आवेदन कर सकते हैं. विनय तिवारी को क्वारंटीन करने के मामले में जेडीयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि मुंबई पुलिस की ताजा हरकत ने सबको अचंभित कर दिया है. आईपीएस अधिकारी को क्वारंटीन करने की घटना शर्मनाक है. दो राज्यों की पुलिस के बीच ऐसा उदाहरण पहले नही देखा. उन्होंने कहा कि
आरोपी को बचाने का प्रयास किया जा रहा है. सारी दुनिया सुशांत मामले में सच जानना चाहती है. वहीं सुशांत की बहन श्वेता सिंह ने भी सवाल उठाते हुए ट्वीट किया कि जांच के लिए पहुंचे एक आईपीएस अधिकारी को कैसे क्वारंटीन किया जा सकता है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 03 Aug 2020, 12:51:06 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.