News Nation Logo

बिहार के छोटे दल पश्चिम बंगाल चुनाव में बिगाड़ेंगे बड़े दलों के समीकरण

मजेदार बात है कि बिहार में साथ रहने वाले दल भी बंगाल विधानसभा चुनाव में आमने-सामने नजर आएंगें.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 02 Mar 2021, 04:55:01 PM
Jitan Ram Manjhi Tejashwi Yadav

जीतन राम मांझी औऱ तेजस्वी यादव कर चुके बंगाल का दौरा. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • बिहार के छोटे दल भी उतर रहे बंगाल के समर में
  • सीमावर्ती क्षेत्रों में रखते हैं गहरा असर
  • मांझी औऱ तेजस्वी कर चुके हैं बंगाल का दौरा भी

पटना:

पटना बिहार में सक्रिय राजनीतिक दल पश्चिम बंगाल (West Bengal) में होने वाले चुनाव में भी अपना भाग्य आजमाएंगे. इसके लिए सभी राजनीतिक दल अपनी रणनीति बनाने में जुटे हैं. सबसे मजेदार बात है कि बिहार में साथ रहने वाले दल भी वहां आमने-सामने नजर आएंगें. पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव को लेकर अब तक आए सर्वेक्षण के मुताबिक यह तय है कि चुनाव में मुख्य मुकाबला तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (BJP) के बीच है. इस बीच बिहार में सक्रिय राजनीतिक दलों लोकजनशक्ति पार्टी (लोजपा), हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) और जनता दल-युनाइटेड (RJD)  चुनाव में उतरने की घोषणा कर दी है.

मांझी-तेजस्वी कर चुके हैं दौरा
हम के प्रमुख और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी पश्चिम बंगाल का दौरा कर भी चुके हैं. राजद के नेता तेजस्वी यादव भी सोमवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से मिलकर उनकी पार्टी को समर्थन देने की घोषणा कर चुके हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री से मिलने के बाद तेजस्वी ने एक बयान जारी कर कहा कि केंद्र सरकार द्वारा निरंतर देश के संघीय ढांचे और संवैधानिक संस्थाओं पर प्रहार किया जा रहा है. देश एक महत्वपूर्ण चौराहे पर खड़ा है. केंद्र सरकार जन कल्याणकारी कामों को छोड़कर अपनी सहयोगी संस्थाओं के सहयोग से हर वक्त विभिन्न-विभिन्न राज्यों में चुनाव लड़ने में अधिक व्यस्त रहती है.

यह भी पढ़ेंः G-23 और कांग्रेस की कलह अब सड़क पर आई, आजाद के खिलाफ जम्मू में प्रदर्शन

बंगाल में लगेगा बिहार का तड़का
उन्होंने कहा, 'हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद जी का मानना है कि विपक्ष के लिए यह समय देश के लोकतांत्रिक मूल्यों की रक्षा, विचारधारा की प्रतिबद्धता तथा सिद्धांतों की स्थिर राजनीति का है.' ऐसे में तय है कि पश्चिम बंगाल में बिहार के दल चुनावी समर में अपनी उपस्थिति दर्ज करेंगे. कहा जा रहा है कि ये दल तृणमूल कांग्रेस और भाजपा की राह में मुश्किलें पैदा करने और सियासी खेल बिगाड़ने की कोशिश में हैं. वैसे, बिहार के जितने भी राजनीतिक दल हैं उनका अभी तक किसी भी तरह का किसी भी पार्टी से गठबंधन नहीं हुआ है.

यह भी पढ़ेंः कांग्रेस- ISF गठबंधन पर अब BJP भी हमलावर, संबित पात्रा ने उठाए सवाल

सीमावर्ती क्षेत्रों में छोटे दलों की पहचान
लालू प्रसाद की पार्टी राजद ने समर्थन देने की जरूर घोषणा कर दी है. हम ने 26 सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा की है वहीं लोजपा ने अब तक सीटों की घोषणा नहीं की है. वैसे, कहा जा रहा है कि बिहार के छोटे दलों की पश्चिम बंगाल में बहुत ज्यादा पैठ नहीं है. हालांकि बिहार के सीमावर्ती क्षेत्रों के कुछ विधानसभा क्षेत्रों में यहां की दलों की पहचान है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 02 Mar 2021, 04:53:38 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.