News Nation Logo

जी-23 और कांग्रेस की कलह अब सड़क पर आई, गुलाम नबी आजाद के खिलाफ जम्मू में प्रदर्शन

जम्मू में गुलाम नबी (Ghulam Nabi Azad) आजाद के 'एकजुटता प्रदर्शन' के बाद कांग्रेस में असंतुष्ट नेताओं (जी-23) और गांधी परिवार (सोनिया गांधी-राहुल गांधी) के बीच की दरार गहरी होती जा रही है.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 02 Mar 2021, 01:23:16 PM
Congress workers Protest

G-23 और कांग्रेस की कलह सड़क पर आई, आजाद के खिलाफ जम्मू में प्रदर्शन (Photo Credit: ANI)

जम्मू:

जम्मू में गुलाम नबी (Ghulam Nabi Azad) आजाद के 'एकजुटता प्रदर्शन' के बाद कांग्रेस में असंतुष्ट नेताओं (जी-23) और गांधी परिवार (सोनिया गांधी-राहुल गांधी) के बीच की दरार गहरी होती जा रही है. कांग्रेस (Congress) से खफा चल रहे जी-23 (G23) नेता और कांग्रेस पार्टी की आंतरिक कलह अब खुलकर सड़कों पर आ गई है. आज कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद के खिलाफ कांग्रेस नेता जम्मू में सड़कों पर उतर आए और उनकी पार्टी विरोधी गतिविधियों को लेकर उनके पुतले को आग के हवाले कर दिया. इस मौके पर कांग्रेस कार्यकर्ता आज़ाद के खिलाफ गुस्से में नज़र आए और जमकर नारेबाजी की.

यह भी पढ़ें : असम में प्रियंका गांधी की 'चुनावी चाय', टोकरी माथे पर लगा बागान में तोड़ीं चाय की पत्तियां

जम्मू-कश्मीर के पार्टी कार्यकर्ताओं का कहना है कि आज़ाद लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ के कसीदे पड़ रहे हैं, जबकि उन्हीं के कारण जम्मू कश्मीर से 370 भी गया और लोगों का विकास भी रुक गया. ऐसे में पार्टी उनकी इस गुस्ताखी को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं करेगी.

उल्लेखनीय है कि बीते दिनों जम्मू में  गुलाम नबी आजाद के 'शांति सम्मेलन' के दौरान कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं ने पार्टी आलाकमान पर निशाना साधा था. इस दौरान  गुलाम नबी आजाद ने कहा था, 'गांधी जी आज नहीं है, लेकिन उनकी सोच , विचारधारा और उनके विचार आज भी हमारे साथ और मैं आज भी उनकी विचारधारा पर चल रहा हूं.' उन्होंने कहा था, 'मेरे सामने कोई धर्म, कोई जाति और कोई उच्च नीच का सवाल पैदा नहीं होता. सीएम या मंत्री बना तो एक ही बात की थी, अपने अधिकारियों को कहा था कि किसी से भी कोई इस बुनियाद पर भेदभाव करें.'

यह भी पढ़ें : 4 मार्च को आ सकती है बीजेपी के उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, चुनाव समिति की बैठक में होगा फैसला

गुलाम नबी आजाद के इस बयान को राहुल गांधी के 'उत्तर-दक्षिण' वाले बयान से जोड़कर देखा गया. राहुल गांधी खुद इस बयान के बाद विरोधियों के निशाने पर आ गए थे. बाद में उन्हीं की ही पार्टी के कुछ नेताओं ने भी दबे शब्दों में बिना नाम लिए इस पर आपत्ति जताई थी. आजाद के बयान को भी इसी का जवाब माना गया था. आजाद के अलावा कपिल सिब्बल, आनंद शर्मा समेत कई और नेताओं ने भी इस सम्मेलन में कांग्रेस पर ही सवाल खड़े किए थे. 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 02 Mar 2021, 01:23:16 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.