News Nation Logo

BREAKING

हाईकोर्ट की फटकार के बाद लालू के जेल मैनुअल पर प्रशासन सख्त, दो मंत्रियों को मिलने से रोका

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के जेल मैनुअल के उल्लंघन पर झारखंड उच्च न्यायालय के सख्त रुख के बाद जेल प्रशासन भी सख्त हो गया है.

IANS | Updated on: 20 Dec 2020, 07:30:17 AM
Lalu Yadav

लालू यादव (Photo Credit: फाइल फोटो)

रांची/पटना:

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद के जेल मैनुअल के उल्लंघन पर झारखंड उच्च न्यायालय के सख्त रुख के बाद जेल प्रशासन भी सख्त हो गया है. शनिवार को झारखंड के दो मंत्रियों को लालू प्रसाद से मिलने नहीं दिया गया. दोनों राजद सुप्रीमो के छोटे बेटे तेजस्वी यादव के साथ राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस में लालू प्रसाद से मिलने पहुंचे थे. दो मंत्री राजद के सत्यानंद भोक्ता और कांग्रेस के बादल हैं. केवल तेजस्वी यादव को अपने पिता से मिलने की अनुमति दी गई.

यह भी पढ़ें: शहाबुद्दीन को सलाखों के पीछे डालने वाले एसके सिंघल बने बिहार के नए DGP 

झारखंड के श्रम मंत्री रहे भोक्ता ने कहा कि हम सांसद हैं और इसलिए हमने जेल मैनुअल का पालन किया और लालू प्रसाद से नहीं मिले. दरअसल, जेल मैनुअल के उल्लंघन को लेकर झारखंड उच्च न्यायालय ने एक जनहित याचिका पर सख्त रुख अपनाया है. शुक्रवार को जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए अदालत ने रांची प्रशासन से पूछा कि किसके आदेश पर लालू प्रसाद को भुगतान वार्ड से रिम्स निदेशक के बंगले में स्थानांतरित किया गया था.

यह भी पढ़ें: अपने ड्रीम प्रोजेक्ट का जायजा लेने राजगीर पहुंचे नीतीश कुमार, कही ये बात 

तेजस्वी यादव ने बिहार विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद पहली बार रिम्स के वार्ड में अपने पिता से मुलाकात की. समझा जाता है कि दोनों ने चुनाव परिणाम पर चर्चा की. लालू प्रसाद को चार चारा घोटाला मामलों में दोषी ठहराया गया है और वे 14 साल तक की जेल की सजा काट रहे हैं.

First Published : 20 Dec 2020, 07:30:17 AM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.