News Nation Logo

जानिए कौन हैं IPS लिपि सिंह, मुंगेर केस से चर्चा में हैं 'लेडी सिंघम'

बिहार के मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन के मामले ने तूल पकड़ लिया है.  गुरुवार को मामले ने एक बार फिर तूल पकड़ लिया. गुस्साई भीड़ ने न सिर्फ थाने को आग के हवाले कर दिया बल्कि कई गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 29 Oct 2020, 03:13:54 PM
LIPI Singh

लिपि सिंह (Photo Credit: फाइल फोटो)

मुंगेर:

बिहार के मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन के मामले ने तूल पकड़ लिया है.  गुरुवार को मामले ने एक बार फिर तूल पकड़ लिया. गुस्साई भीड़ ने न सिर्फ थाने को आग के हवाले कर दिया बल्कि कई गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की. लिपि सिंह लोगों के निशाने पर आ चुकी हैं. चुनाव आयोग ने कार्रवाई करते हुए उन्हें हटा दिया है. आइए जानते हैं कौन हैं मुंगेर की एसपी लिपि सिंह. 

यह भी पढ़ेंः बाल-बाल बचे BJP सांसद मनोज तिवारी, हेलिकॉप्टर की पटना में इमरजेंसी लैंडिंग

बिहार के नालंदा जिले की रहने वाली लिपि सिंह 2016 बैच की आईपीएस अधिकारी हैं. लिपि सिंह अपनी ट्रेनिंग से लेकर अब तक कई मामलों से चर्चा में आ चुकी हैं. वो अपने पुलिस अभियानों से भी सुर्ख‍ियों में रही हैं. उनके पिता आरसीसी सिंह भी एक आईएएस अफसर रह चुके हैं. लिपि सिंह के पिता को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का काफी करीबी माना जाता है. लिपि सिंह के पिता जनता दल यूनाइटेड से राज्यसभा सांसद हैं.  

पति भी हैं आईएएस अधिकारी  
लिपि सिंह के पति सुहर्ष भगत भी आईएएस अफसर हैं वो वर्तमान में बांका के जिलाधिकारी हैं. अब लिपि सिंह को लेकर चर्चा हो रही है कि चुनाव के दौरान नेताओं के रिश्तेदार और करीबियों को ट्रांसफर किया जाता है. लेकिन सत्तारुढ दल के नेता आरसीपी सिंह की बेटी लिपि सिंह का ट्रांसफर नहीं किया गया. लोगों में चर्चा है कि ट्रेनिंग के बाद ज्यादातर पोस्टिंग में वो अपने पिता आरसीपी सिंह के आसपास ही रही हैं. इस चुनाव में दोनों पति-पत्नी को ड्यूटी पर तैनात किया गया है. अब राजनीतिक दल ये सवाल उठा रहे हैं कि ये जानते हुए भी कि दोनों आरसीपी सिंह के रिशतेदार और नीतीश कुमार के करीबी हैं फिर भी इन्हें ड्यूटी पर क्यों लगाया गया. 

यह भी पढ़ेंः मुंगेर में फिर हिंसा, भीड़ ने थाना फूंका, डीएम-SP दोनों हटाए

अनंत सिंह पर कार्रवाई से मिली थी चर्चा
पिछले साल लिपि सिंह मोकामा जिले के बाहुबली और निर्दलीय विधायक अनंत सिंह पर कार्रवाई करके चर्चा में आईं थी. विधायक के गांव के घर से एक एके-47 बरामद हुई जिसके बाद अनंत सिंह को जेल जाना पड़ा है. उस समय अनंत सिंह ने आरोप लगाया था कि आरसीपी सिंह के इशारों पर लिपि सिंह ने उन पर कार्रवाई की है. इस घटना के बाद लिपि सिंह को एएसपी से पदोन्नत करते मुंगेर का पुलिस कप्तान बनाया गया था. 

मूर्ति विसर्जन को लेकर की थी कार्रवाई
मंगलवार को बिहार के मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन के दौरान पुलिस कार्रवाई से वो चर्चा में आ गईं. यह कहा जा रहा है कि इस घटना में पुलिस पर हमला हुआ. इसमें थानेदार का सिर फटा और 20 पुलिसवाले घायल हुए और एक की मौत हो गई है.  

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 29 Oct 2020, 03:13:54 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.