News Nation Logo

मुंगेर में फिर भड़की हिंसा, उग्र भीड़ ने फूंका थाना, डीएम-SP दोनों हटाए गए

उपद्रवियों ने एसपी दफ्तर में जमकर तोड़फोड़ के बाद एसडीओ आवास में भी उत्पात मचाया है. इतना ही नहीं, उग्र भीड़ ने एक थाने पर पथराव किया.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 29 Oct 2020, 02:43:20 PM
Munger Violence

मुंगेर में फिर हिंसा, भीड़ ने थाना फूंका, SP दफ्तर में तोड़फोड़ (Photo Credit: News Nation)

मुंगेर:

बिहार के मुंगेर में एक बार फिर लोगों को गुस्सा फूट पड़ा है. बताया जा रहा है कि बीते दिन हुई गोलीबारी के विरोध में आज सैकड़ों लोग सड़क पर उतर आए और जमकर हंगामा किया. मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी न होने से नाराज भीड़ ने मुंगेर के पुलिस अधीक्षक के कार्यालय पर धावा बोला है. उपद्रवियों ने एसपी दफ्तर में जमकर तोड़फोड़ के बाद एसडीओ आवास में भी उत्पात मचाया है. इतना ही नहीं, उग्र भीड़ ने एक थाने पर पथराव किया और फिर वहां मौजूद तमाम गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया है. लोगों की भीड़ को काबू करने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस फोर्स को मौके पर बुलाया गया है. 

यह भी पढ़ें: तेजस्वी बोले- जनरल डायर बनने का अधिकार किसने दिया 

बताया जा रहा है कि आज सैकड़ों लोगों ने बीते दिन हुई घटना में आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर प्रदर्शन किया. इसी दौरान अचानक से भीड़ उग्र हो गई और पुलिस कार्यालय के आगे लगे बोर्ड को भी उखाड़ फेंका. इसके बाद भीड़  पूरब सराय थाने बढ़ी और थाने के सामने खड़ी गाड़ियों में आग लगा दी. इस घटनाक्रम से वहां पूरे इलाके में माहौल तनावपूर्ण हो गया है. इस बीच मुंगेर के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को हटा दिया गया है. साथ ही मामले की जांच मगध के डिविजन कमिश्नर को सौंपी गई है.

उल्लेखनीय है कि बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के मतदान के एक दिन पहले मंगलवार को मुंगेर जिले में देवी दुर्गा की मूर्ति विसर्जन के दौरान हंगामा हो गया था. इस दौरान गोलीबारी और पथराव हुआ, जिसमें एकत व्यक्ति की मौत हो गई. स्थानीय लोगों का आरोप है कि 20 साल के एक युवक की मौत पुलिस गोलीबारी में हुई है. जबकि प्रशासन का कहना है कि वह भीड़ के बीच से किसी के द्वारा चलाई गई गोली से मारा गया था.

यह भी पढ़ें: मुंगेर में भक्तों पर पुलिस ने बरसाई लाठीचार्ज, रणदीप सुरजेवाला ने कहा- पीएम मोदी, सीएम नीतीश क्यों चुप...देखें Video 

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो विसर्जन के लिए मूर्ति को ले जाने दौरान एक बांस से बने वाहक के टूट जाने के बाद परेशानी शुरू हो गई थी और इसे ठीक करने में समय लग रहा था. मूर्ति को ले जाने वाले वाहक की मरम्मती में हुई देरी के कारण अन्य निकाले गए मूर्ति जुलूस रास्ते में फंसे हुए थे. प्रशासन चाहता था कि जुलूस जल्दी से जल्दी निकले, क्योंकि सुरक्षाकर्मियों को बुधवार को चुनाव ड्यूटी पर तैनात किया जाना था. इसी दौरान लोगों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प शुरू हो गई.

बिहार में चुनाव के दिन बुधवार को मुंगेर की घटना को लेकर जमकर राजनीति भी हुई. महागठबंधन ने इस हिंसक झड़प में एक युवक की मौत को लेकर सरकार को घेरा. कांग्रेस ने घटना की तुलना जलियांवाला हत्याकांड से की. विपक्षी दलों के महागठबंधन की ओर से मामले पर बयानबाजी किए जाने के एक दिन बाद यानी आज फिर से मुंगेर में फिर से हिंसा भड़क उठी है. इस पर भी राजनीति होना तय है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 29 Oct 2020, 02:14:26 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.