News Nation Logo
Banner

बिहार चुनाव: दिग्गज राजनेताओं के बेटों की जिद्द ने बीजेपी और कांग्रेस को पिता की दिलाई याद

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में महज कुछ वक्त रह गया है. लेकिन बिहार के दो बड़े गठबंधन के अंदर ठीक से सबकुछ तय नहीं हुआ है. एनडीए और महागठबंधन दोनों की एक ही समस्या है और वो है सीट बंटवारे को लेकर.

Written By : Rajnish Sinha | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 02 Oct 2020, 11:44:05 PM
tejashwi yadav

दिग्गज राजनेताओं के बेटों की जिद्द ने BJP और कांग्रेस को पिता की दिलाई (Photo Credit: ट्वीटर )

नई दिल्ली :

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में महज कुछ वक्त रह गया है. लेकिन बिहार के दो बड़े गठबंधन के अंदर ठीक से सबकुछ तय नहीं हुआ है. एनडीए और महागठबंधन दोनों की एक ही समस्या है और वो है सीट बंटवारे को लेकर. गठबंधन के अंदर पार्टियों में सीट को लेकर सहमति नहीं बनती दिखाई दे रही है.

एनडीए में चिराग पासवान की जिद्द और महागठबंधन में तेजस्वी यादव की जिद्द का नतीजा है कि दोनों गठबंधनों में अबतक कुछ तय नहीं हुआ है. जी हां कांग्रेस को याद आ रहे हैं तेजस्वी के पिता सज़ायाफ़्ता लालू प्रसाद तो भाजपा को याद आ रहे अस्पताल में भर्ती राम विलास पासवान.

इसे भी पढ़ें: हाथरस मामले में सीएम योगी ने की बड़ी कार्रवाई, SP समेत कई अफसर हुए सस्पेंड

दरअसल महागठबंधन से जीतन राम मांझी और उपेन्द्र कुश्वाहा ने तेजस्वी के नेतृत्व पर सवाल खड़ा कर गठबंधन तोड़ दिया. सबको लगा कांग्रेस से बड़ी आसानी से गठबंधन हो जाएगा. मगर ये क्या कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल को लालू यादव की याद आ गई. उन्होंने कहा कि लालू यादव रहते तो इस तरीके की समस्या नहीं आती. आज जो समय है हम नहीं चाहते कि गठबंधन टूटे. लेकिन कुछ लोगों की वजह से ऐसा हो सकता है. शक्ति सिंह गोहिल ने इशारों में तेजस्वी को अनुभवहीन भी बताया दिया.

इधर एनडीए (NDA) में भी पेंच है. लोजपा (LJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag paswan) ने बीजेपी को सीट बंटवारे को लेकर मुश्किल में डाल दिया है. चिराग पासवान लगातार नीतीश कुमार पर हमला कर रहे हैं और अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं.

और पढ़ें:हाथरस केस: जंतर-मंतर पर प्रदर्शन, CM केजरीवाल बोले- जल्द ही दोषियों को फांसी हो

सूत्रों की मानें तो चिराग ने 45 विधान सभा की सीट,केन्द्रीय मंत्रीमंडल में जगह,दो विधान परिषद की सीट और राज्य सभा का एक कोटा मांगा है. वहीं लोजपा को जेडीयू और बीजेपी 30 सीट से ज्यादा देने को तैयार नहीं हैं.

हद तो ये की बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल ने भी माना कि राम विलास पासवान अस्वस्थ है इसलिए ऐसी परेशानी हो रही है. नहीं तो अबत सीट शेयरिंग पर बात बन जाती. एनडीए में सभी दलों को एक साथ रखने की कोशिश बीजेपी कर रही है.

मगर दो राजनीतिक दिग्गजों की नयी पीढ़ी ने पुरानी पीढ़ी को राजनीति का नया व्याकरण सिखाया है. जिसमे पुत्र हठ ने पिता को भी विवश दिखाया है.

First Published : 02 Oct 2020, 09:39:06 PM

For all the Latest States News, Bihar News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो