News Nation Logo

कहीं धोखे का शिकार तो नहीं हुईं मैरीकॉम? हार से पहले मना चुकीं थी जीत का जश्र!

छह बार की विश्व चैंपियन भारत की मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम को यहां चल रहे टोक्यो ओलंपिक में महिला फ्लाईवेट 51 किग्रा भार वर्ग के राउंड-16 मुकाबले में कोलंबिया की इंग्रीट लोरेना वालेंसिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 29 Jul 2021, 10:49:00 PM
Mary Kom

Mary Kom (Photo Credit: Google)

नई दिल्ली:

छह बार की विश्व चैंपियन भारत की मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम को यहां चल रहे टोक्यो ओलंपिक में महिला फ्लाईवेट 51 किग्रा भार वर्ग के राउंड-16 मुकाबले में कोलंबिया की इंग्रीट लोरेना वालेंसिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा. भारत की ओर से पदक की प्रबल दावेदार मानी जा रहीं मैरी कॉम  को वालेंसिया ने करीबी मुकाबले में 3-2 से हराया. मैरी कॉम  के इस तरह प्री क्वार्टर फाइनल मुकाबले में हारने से भारत की पदक की उम्मीदों को बड़ा झटका लगा है. वहीं, मैच के बाद मैरी कॉम ने अंपायर के फैसले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया. वालेंसिया अपने प्रदर्शन से जहां तीन जजों को प्रभावित करने में कामयाब रहीं वहीं मैरी कॉम से दो जज ही प्रभावित हुए.

यह भी पढ़ेंः कोरोना: देश के किस राज्य की आबादी में कितनी एंटीबॉडी, ICMR ने बताया सबकुछ

दरअसल, मैरी कॉम के खिलाफ तीन प्रयासों में इंग्रिट की यह पहली जीत है. वास्ताव में भारतीय मुक्केबाज मैरी कॉम ने रिंग में विजेता की घोषणा होने से ठीक पहले अपना हाथ ऊपर उठा लिया था, इससे पहले कि इंग्रिट को विजेता घोषित किया जाता है. मैरीकोम ने वालेंसिया को 2019 में विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में 5-0 से हराया था लेकिन उन्हें यहां हार का सामना करना पड़ा. 32 वर्षीय वालेंसिया अपने प्रदर्शन से जहां तीन जजों को प्रभावित करने में कामयाब रहीं वहीं मैरीकोम से दो जज ही प्रभावित हुए. रियो ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता वालेंसिया को पहले राउंड में चार जजों ने 10-10 अंक दिए जबकि मैरीकोम को सिर्फ एक जज ने 10 अंक दिए. दूसरे और तीसरे राउंड में मैरीकोम को तीन जजों ने 10-10 अंक दिए जबकि इन राउंड में वालेंसिया को दो जजों ने 10-10 अंक दिए.

यह भी पढ़ें : PM मोदी बोले- राष्ट्रीय शिक्षा नीति को हर तरह के दबाव से मुक्त रखा गया

हालांकि, पहले राउंड में वालेंसिया को मिली बड़ी बढ़त के आधार पर फैसला मैरीकोम के खिलाफ गया. मैरीकोम का यह आखिरी ओलंपिक हो सकता है. इससे पहले, उन्होंने पहले राउंड में डोमिनिका गणराज्य की मिगुएलिना हेरनांडेज गार्सिया को 4-1 से हराया था लेकिन वह प्री क्वार्टर फाइनल की बाधा पार नहीं कर सकीं और ओलंपिक में उनका सफर यहीं समाप्त हुआ.

First Published : 29 Jul 2021, 10:11:37 PM

For all the Latest Sports News, More Sports News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.