News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

खिलाड़ी हमारी संपत्ति हैं, ट्रेनिंग को लेकर जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए : राजीव मेहता

भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) के महासचिव राजीव मेहता को लगता है कि खिलाड़ियों की ट्रेनिंग अभी शुरु नहीं की जानी चाहिए, क्योंकि कोविड-19 के मामले हर दिन के साथ तेजी से बढ़ते जा रहे हैं.

IANS | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 22 May 2020, 06:35:09 PM
Rajeev Mehta

राजीव मेहता (Photo Credit: PTI)

नई दिल्ली:

भारतीय ओलम्पिक संघ (आईओए) के महासचिव राजीव मेहता को लगता है कि खिलाड़ियों की ट्रेनिंग अभी शुरु नहीं की जानी चाहिए, क्योंकि कोविड-19 के मामले हर दिन के साथ तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. खेल मंत्रालय ने गुरुवार को भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) की मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) को मंजूरी दे दी जिनके पालन के साथ ही खिलाड़ी दोबारा से ट्रेनिंग पर लौट सकते हैं. मेहता ने आईएएनएस से कहा, "ऐसी भविष्यवाणी की गई है कि कोविड-19 के मामले जून में ज्यादा होंगे. लॉकडाउन के बाद भी मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. ऐसी स्थिति में खिलाड़ियों की ट्रेनिंग शुरू करने को लेकर जल्दबाजी क्यों?"

ये भी पढ़ें- संदेश झिंगन का जर्सी नंबर 21 रिटायर करेगा केरला ब्लास्टर्स, गुरुवार को ही छोड़ा था क्लब का साथ

मेहता ने कहा कि न ही आईओए, ना ही राज्य संघ और सरकार को खिलाड़ियों को ट्रेनिंग पर लौटने के लिए मजबूर किया जाना चाहिए. उन्होंने कहा, "मुझे समझ में नही आता की ट्रेनिंग शुरू करने की जल्दबाजी क्या है. यह मेरा निजी विचार है कि अभी ट्रेनिंग शुरू नहीं की जानी चाहिए क्योंकि यह खिलाड़ियों को जोखिम में डाल देगी. कोविड-19 की स्थिति को थोड़ा नियंत्रण में आने का इंतजार करना चाहिए."

ये भी पढ़ें- पूरी टीम की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद बड़े ग्रुप में ट्रेनिंग करेगी जुवेंटस एफसी

साई द्वारा जारी की गई एसओपी में खिलाड़ियों से ट्रेनिंग के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने को कहा है. एसओपी ने साथ ही लिखा है कि ट्रेनिंग शुरू करने से पहले खिलाड़ियों से सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करने को कहा था. इससे पहले आईओए अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा ने मेहता को बताया था कि उनसे महासचिव की कुछ जिम्मेदारियां ली जा रही हैं. अपने ईमेल में बत्रा ने कहा, "मैंने आपके काम के बोझ को कम करने/बांटने का फैसला किया है और आगे आने वाले दिनों में जो जरूरी होगा वो करूंगा. चूंकि मैं दिल्ली में रहता हूं और कुछ लोग लगातार दिल्ली आते रहते हैं तो हम सब मिलकर जिम्मेदारी निभा लेंगे."

ये भी पढ़ें- पिता को साइकिल पर बैठाकर 7 दिनों में किया था 1200 किमी का सफर, CFI ने ज्योति को ट्रायल के लिए बुलाया

मेहता ने हालांकि बत्रा के पत्र का जवाब देते हुए लिखा कि वह अपने ऊपर काम का बोझ नहीं महसूस कर रहे हैं. मेहता ने लिखा, "मुझे नहीं पता कि क्या हुआ है. हर चीज हमारे संविधान में लिखी हुई है और सभी तरह के काम लोगों को बांटे गए हैं. अचानक से मुझे बताया जा रहा है कि मेरी कुछ जिम्मेदारियां मुझसे वापस ली जा रही हैं." उन्होंने लिखा, "अध्यक्ष को लगता है कि मुझ पर ज्यादा जिम्मेदारी या दबाव है. मुझे हालांकि ऐसा नहीं लगता. मुझे जो जिम्मेदारियां दी गई हैं उनके साथ मैं सहज हूं."

First Published : 22 May 2020, 06:35:09 PM

For all the Latest Sports News, More Sports News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.