logo-image
लोकसभा चुनाव

IPL 2023: आईपीएल के अगले सीजन में 11 की जगह 12 खिलाड़ी खेलेंगे मैच, जानें क्या है नया नियम

बीसीसीआई ने अपने एक बयान में कहा, 'बीसीसीआई 'इम्पैक्ट प्लेयर' कॉन्सेप्ट को लागू करना जा रही है.

Updated on: 02 Dec 2022, 05:58 PM

highlights

  • 'इम्पैक्ट प्लेयर' कॉन्सेप्ट लागू करने जा रही BCCI
  • प्लेइंग 11 में एक खिलाड़ी को बदलने की होगी छूट 
  • टॉस के दौरान कप्तान 15 खिलाड़ियों के नाम का करेंगे ऐलान

नई दिल्ली:

IPL 2023: आईपीएल 2023 के लिए बीसीसीआई (BCCI) एक नए नियम को लागू करने जा रही है. इस नियम का नाम 'इम्पैक्ट प्लेयर' (Impact Player Rule) होगा. आईपीएल के ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से इसके बारे में जानकारी दी गई है. इससे पहले ये नियम बास्केटबॉल, बेसबॉल फैंस फुटबॉल जैसे खेलों में लागू है. बता दें कि हाल ही में समाप्त हुई सैयद मुश्ताक अली टी20 ट्रॉफी में 'इम्पैक्ट प्लेयर' नियम को लागू किया गया था. 

बीसीसीआई ने अपने एक बयान में कहा, 'बीसीसीआई 'इम्पैक्ट प्लेयर' कॉन्सेप्ट को लागू करना जा रही है. जिसमें भाग लेने वाली टीमें टी20 मुकाबले के दौरान अपने प्लेइंग इलेवन के एक सदस्य को बदल सकती है.' नियम के मुताबिक किसी भी टीम को अपनी प्लेइंग 11 के एक खिलाड़ी को बदलने की छूट होगी. पहले टॉस के दौरान कप्तान को अपने प्लेइंग इलेवन को बताना पड़ता था. लेकिन इस नियम को लागू होने के बाद कप्तान अपनी 15 सदस्यीय खिलाड़ी का नाम ले सकता है. 

यह भी पढ़ें: IPL 2023: दिल्ली का कप्तान बनेगा ये खिलाड़ी, ऋषभ पंत की कुर्सी जानी तय!

क्या है आईपीएल का 'इम्पैक्ट प्लेयर' नियम

इस नियम के मुताबिक टॉस के दौरान कप्तान अपने 15 खिलाड़ियों का नाम ले सकता है. जिसमें से 11 खिलाड़ी ही प्लेइंग 11 का हिस्सा होंगे. लेकिन जरुरत पड़ने पर टीमें अपनी किसी एक खिलाड़ी को बतौर सब्सटिट्यूट मैदान पर खेलने को भेज सकती है. सब्सटिड्यूट के तौर पर एक खिलाड़ी एक पारी के 14वें ओवर में प्लेइंग 11 में से किसी एक खिलाड़ी का जगह ले सकता है. लेकिन इसकी जानकारी पहले फील्ड अंपायर या फिर चौथे अंपायर को देनी पड़ेगी.

अगर किसी टीम का कोई बल्लेबाज या गेंदबाज अच्छी फॉर्म में नहीं है तो उसकी जगह सब्सटिट्यूट के तौर पर किसी दूसरे खिलाड़ी को खेलने मैदान पर भेजा सकता है. वहीं जल्दी विकेट गिरने पर कोई टीम अपने एक गेंदबाज की जगह एक एक्स्ट्रा बल्लेबाज खिला सकती है. ऐसा गेंदबाजी में भी हो सकता है. हालांकि फिर पहले खेलने वाला खिलाड़ी सब्सटिड्यूट के आने के बाद दोबारा खेल का हिस्सा नहीं होगा.

यह भी पढ़ें: IPL 2022: इस युवा स्पिनर को रिटेन कर खुश होंगे धोनी, फिर चमकेगी CSK की किस्मत!