News Nation Logo

IPL 2022 Mega Auction : हर टीम को मेगा ऑक्‍शन में खरीदने होंगे कम से कम इतने खिलाड़ी 

आईपीएल 2022 के मेगा ऑक्‍शन से पहले बीसीसीआई ने सभी टीमों के पर्स के बारे में ऐलान कर दिया है. इस बार सभी दस टीमें मेगा ऑक्‍शन में 90 करोड़ रुपये खर्च कर सकती हैं.

Pankaj Mishra | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 18 Nov 2021, 06:21:50 PM
IPL 2022 Trophy

IPL 2022 Trophy (Photo Credit: IANS)

नई दिल्‍ली :

IPL 2022 Mega Auction Rules : आईपीएल 2022 का मेगा ऑक्‍शन अब ज्‍यादा दूर नहीं है. 30 नवंबर तक आईपीएल की आठ टीमें अपने चार रिटेन किए गए खिलाड़ियों का खुलासा कर देंगी कि वे कौन से खिलाड़ी रिटेन कर रही हैं. इसके बाद दो नई टीमें लखनऊ और अहमदाबाद के पास मौका होगा कि वे रिलीज किए गए और नए आए खिलाड़ियों में से कोई भी तीन खिलाड़ी चुन सकते हैं. जब ये सारी प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तो मेगा ऑक्‍शन के लिए खिलाड़ियों की लिस्‍ट जारी कर दी जाएगी. अभी हालांकि बीसीसीआई ने ऑक्‍शन की तारीख का ऐलान तो नहीं किया है, लेकिन माना जा रहा है और संभावना नजर आ रही है कि जनवरी 2022 के पहले ही हफ्ते में आईपीएल का मेगा ऑक्‍शन होता हुआ नजर आ सकता है. लेकिन सवाल ये है कि आईपीएल के मेगा ऑक्‍शन में टीमों को कितने खिलाड़ी खरीदने होंगे. 

यह भी पढ़ें : IPL 2022 Mega Auction से पहले एमएस धोनी की कप्‍तानी वाली CSK की लिस्‍ट तैयार! 

आईपीएल 2022 के मेगा ऑक्‍शन से पहले बीसीसीआई ने सभी टीमों के पर्स के बारे में ऐलान कर दिया है. इस बार सभी दस टीमें मेगा ऑक्‍शन में 90 करोड़ रुपये खर्च कर सकती हैं. हालांकि मेगा ऑक्‍शन में जब टेबल सजेगी तो ये रकम 90 करोड़ रुपये नहीं होगी. क्‍योंकि टीमें इससे पहले चार खिलाड़ी रिटेन कर चुकी होंगी और रिटेन किए गए खिलाड़ियों को जो पैसा दिया जाएगा, वो उसमें से घटा दिया जाएगा. टीमों को बताना होगा कि जिन खिलाड़ियों को उन्‍होंने रिटेन किया है, उन्‍हें वे कितना पैसा दे रही हैं. दूसरा सवाल ये है कि सभी टीमों को कम से कम कितने खिलाड़ी खरीदने होंगे. इसका जवाब ये है कि सभी दस टीमों के स्‍क्‍वायड में कम से कम 18 खिलाड़ी होने चाहिए. यानी जब ऑक्‍शन खत्‍म होगा, तब उनके पास 18 खिलाड़ी होने चाहिए. इसी हिसाब से रकम खर्च करनी होगी. टीमें अगर ज्‍यादा से ज्‍यादा चार खिलाड़ी रिटेन कर लेंगी तो ऑक्‍शन के दौरान उन्‍हें कम से कम 14 खिलाड़ी खरीदने ही होंगे. इसके बाद उनकी टीम पूरी हो जाएगी. वहीं अगर टीम चाहे तो इससे ज्‍यादा भी खिलाड़ी खरीद सकती है, इनकी कुल संख्‍या 22 तक हो सकती है. बीसीसीआई ने ये नियम इसलिए बनाया है कि मैच के दौरान 11 खिलाड़ी तो प्‍लेइंग इलेवन का हिस्‍सा हो जाते हैं. लेकिन देखा जाता है कि लंबे टूर्नामेंट में कई बार खिलाड़ी चोटिल भी हो जाते हैं, इस दौरान कोई दिक्‍कत न हो इसलिए भी ज्‍यादा खिलाड़ी रखे जाते हैं. 

यह भी पढ़ें : IPL 2022 Mega Auction : ये खिलाड़ी रिलीज हुआ तो बिना ऑक्‍शन करोड़ों में बिकेगा!

मजे की बात ये भी है कि जो टीमें ज्‍यादा खिलाड़ी शामिल कर लेती हैं, कई बार देखने में आता है कि पूरे टूर्नामेंट में उन्‍हें एक भी मैच खेलने का मौका ही नहीं मिलता. कुछ बड़ी और अच्‍छी टीमें अपना पूरा का पूरा आईपीएल 14 से 15 खिलाड़ियों के बीच ही निकाल देती हैं. बाकी खिलाड़ी डगआउट में बैठकर इंतजार ही करते रहते हैं. आईपीएल 2020 और आईपीएल 2021 में भी हमें देखने के लिए मिला है कि कई खिलाड़ी करोड़ों के दाम पर खरीदे तो गए, लेकिन उन्‍हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला. हालांकि उनकी भी भूमिका अपनी टीम को जिताने में कम नहीं होती. वे लगातार अपना कुछ न कुछ इनपुट देते रहते हैं. जो टीम की जीत में बड़ा योगदान देता है. देखना होगा कि इस बार कौन सी टीम किस पर दांव लगाती है और अपने स्‍क्‍वायड में कितने खिलाड़ी शामिल करती है. अब आपको बहुत ज्‍यादा दिन तक इंतजार नहीं करना पड़ेगा.

First Published : 18 Nov 2021, 06:21:50 PM

For all the Latest Sports News, Indian Premier League News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.