News Nation Logo
Banner

World Cup Super League: आईसीसी पर उठे सवाल, जानिए माइकल आथर्टन ने क्‍या कहा

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल आथर्टन का मानना है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय सुपर लीग बेहद जटिल हैं. उनका कहना है कि इसका फॉर्मेट भारत में होने वाले 2023 विश्व कप के लिए सरल क्वालीफिकेशन के लिए बनाना चाहिए था.

Bhasha | Updated on: 28 Jul 2020, 02:06:03 PM
icc

आईसीसी (Photo Credit: ians)

मैनचेस्टर :

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल आथर्टन (Michael Atherton) का मानना है कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) (ICC) की एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय सुपर लीग (ICC World Cup Super League) बेहद जटिल हैं. उनका कहना है कि इसका फॉर्मेट भारत में होने वाले 2023 विश्व कप के लिए सरल क्वालीफिकेशन के लिए बनाना चाहिए था. आईसीसी ने सोमवार को एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय सुपर लीग शुरू की है, जिससे 2023 में होने वाले पुरुष विश्व कप में हिस्सा लेने वाली टीमों का फैसला होगा. मेजबान भारत और सात टॉप की टीमों को विश्व कप के लिए सीधे प्रवेश मिलेगा. सुपर लीग की शुरुआत विश्व चैंपियन इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच 30 जुलाई से शुरू हो रही सीरीज के साथ होगी. 

यह भी पढ़ें ः दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाज इमरान ताहिर चार महीने बाद पाकिस्तान से निकले, अब पहुंचे वेस्‍टइंडीज

पूर्व कप्‍तान माइकल आथर्टन ने स्काई स्पोर्ट्स क्रिकेट से कहा कि जो भी होता है उसके पीछे कोई तर्क होता है लेकिन यह काफी जटिल हो जाता है, क्योंकि आपको दो प्रणालियों को एक साथ जोड़ने का प्रयास करते हो. उन्होंने कहा कि आपके पास आईसीसी वैश्विक प्रतियोगिताएं हैं- विश्व कप, विश्व T20 और चैंपियन्स ट्रॉफी थी और आप इसे सामान्य द्विपक्षीय सीरीज से जोड़ने का प्रयास कर रहे हो जो भविष्य दौरा कार्यक्रम (एफटीपी) का हिस्सा है, जहां प्रत्येक टीम एक-दूसरे के खिलाफ खेलती है. माइकल आथर्टन ने कहा, इन दो चीजों को आपस में जोड़ना बेहद मुश्किल है और अंत में ऐसा हो जाता है.

यह भी पढ़ें ः IPL 2020 Update : आईपीएल गवर्निंग काउंसिल की बैठक इस दिन होगी! जानिए कब आएगा आईपीएल 13 का पूरा शेड्यूल

विश्‍व कप सुपर लीग में 13 टीमें हिस्सा लेंगी जिसमें आईसीसी के 12 पूर्ण सदस्य और नीदरलैंड शामिल है. नीदरलैंड ने विश्व क्रिकेट सुपर लीग 2015-17 जीतकर सुपर लीग में जगह बनाई है. सुपर लीग में प्रत्येक टीम तीन मैचों की चार सीरीज स्वदेश और चार विदेशी सरजमीं पर खेलेंगी. जो पांच टीमें सुपर लीग से सीधे क्वालीफाई करने में विफल रहेंगी वे क्वालीफायर 2023 में पांच एसोसिएट टीमों के साथ चुनौती पेश करेंगी और इनमें से दो टीमें भारत में होने वाले 10 टीमों के विश्व कप के लिए क्वालीफाई करेंगी. प्रत्येक टीम को जीत के लिए 10 अंक मिलेंगे जबकि टाई, बेनतीजा और रद होने वाले मैचों के लिए पांच अंक दिए जाएंगे. हार के लिए कोई अंक नहीं मिलेगा. टीमों की रैंकिंग आठ सीरीज से मिले अंकों के आधार पर की जाएगी. दो या अधिक टीमों के समान अंक होने पर स्थान तय करने के लिए नियम बनाए गए हैं.

यह भी पढ़ें ः कैरेबियन प्रीमियर लीग 2020 का पूरा शेड्यूल जारी, 18 अगस्त को शुरू होगा टूर्नामेंट.. 10 सितंबर को फाइनल

इंग्लैंड की ओर से 115 टेस्ट में 7728 रन बनाने वाले 52 साल के पूर्व बल्लेबाज आथर्टन ने कहा कि थोड़ी कम जटिल प्रणाली से लोगों को समझने में आसानी होती. आईसीसी की क्रिकेट समिति का हिस्सा इंग्लैंड के पूर्व कप्तान एंड्रयू स्ट्रॉस ने कहा कि इससे सहज प्रणाली लागू कर पाना असंभव है और संचालन संस्था जो भी करे उसे आलोचना का सामना करना ही पड़ेगा. उन्होंने कहा, किसी भी सहज प्रक्रिया को खोजने का प्रयास करना समझ आता है लेकिन यह संभव नहीं है. स्ट्रॉस ने कहा, हम सभी बेमतलब द्विपक्षीय क्रिकेट की बात करते हैं जिसकी कोई प्रासंगिकता नहीं है और फिर जब आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियन के साथ सभी चीजों को समेटने की कोशिश करता है तो सभी कहते हैं कि अंक प्रणाली बेहद जटिल है और फिर वे (आईसीसी) सुपर लीग को आजमाते हैं और वे (लोग) कहते हैं कि वे ऐसा क्यों कर रहे हैं. आईसीसी न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन जैसे खिलाड़ियों की आलोचना का सामना कर चुकी है जिनका कहना है कि अंक प्रणाली उचित नहीं है जबकि भारतीय कप्तान विराट कोहली का कहना है कि विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में विदेशी सरजमीं पर मिली जीत पर अधिक अंक मिलने चाहिए.

First Published : 28 Jul 2020, 02:05:04 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.