logo-image
लोकसभा चुनाव

World Cup 2023 : बांग्लादेश को मुश्किल में छोड़ ढाका लौटे कप्तान शाकिब अल हसन, वजह जान हो जाएंगे हैरान

Shakib Al Hasan : बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन वर्ल्ड कप 2023 के बीच ढाका लौट गए हैं. खराब प्रदर्शन से जूझ रही बांग्लादेश को कप्तान ने बड़ा झटका दिया है.

Updated on: 26 Oct 2023, 06:56 PM

नई दिल्ली:

Shakib Al Hasan Return To Dhaka : भारत में खेले जा रहे वनडे वर्ल्ड कप में टीम का हालत बहुत ही खराब है. टीम अबतक 5 मुकाबले खेल चुके हैं जिसमें से 4 में हार का सामना करना पड़ा है और एक में जीत मिली है. बांग्लादेश की टीम ने अपने प्रदर्शन से फैंस को काफी निराश किया है. टीम की मुश्किलें कम नहीं हो रही कि अब कप्तान शाबिक अल हसन ने अचानक से बांग्लादेश लौट पर उनमें और इजाफा कर दिया. 

बीते मंगलवार (24 अक्टूबर) को साउथ अफ्रीका के खिलाफ बांग्लादेश को 149 रनों से करारी हार का सामना करना पड़ा. इसके अगले ही दिन ही कप्तान शाकिब अल हसन ढाका चले गए. अब वर्ल्ड कप में बांग्लादेश को अपना अगला मुकाबला 28 अक्टूबर को नीदरलैंड्स के खिलाफ कोलकाता के ईडन गॉर्डन में खेलना है. ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ के मुताबिक शाकिब अल हसन बुधवार (25 अक्टूबर) को ढाका पहुंचे थे. यहां वे अपने मेंटॉर नजमुल अबेदीन फहीम से मिलने पहुंचे. फिर वह ढाका में सीधे शेर-ए-बंग्ला स्टेडियम गए, जहां उन्होंने तीन घंटे तक प्रैक्टिस किया.

यह भी पढ़ें: IPL 2024 : भारत में नहीं बल्कि इस देश में होगा आईपीएल 2024 का ऑक्शन, BCCI कर रही है तैयारी

शाकिब के मेंटॉर नजमुल अबेदीन फहीम ने बताया कि वे तीन दिनों तक यही पर अपना प्रैक्टिस करेंगे और फिर कोलकाता लौट जाएंगे. बता दें कि बांग्लादेश का अगला दो मैच कोलकाता में ही है. पहले यहां बांग्लादेश की टीम नीदरलैंड्स से भिड़ंगी फिर इसके बाद पाकिस्तान का सामना करेगी. 

टीम के साथ कप्तान ने भी परफॉर्में से किया निराश 

शाकिब अल हसन ने अबतक इस टूर्नामेंट में चार मैच खेल चुके हैं. इस दौरान उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है. बल्लेबाजी करते हुए उन्होंने चार पारियों में 14, 01, 40 और 01 रन बनाए हैं. वहीं गेंदबाजी में उन्होंने पहले मैच में 3 और बाकी तीनों मैचों में 1-1 विकेट चटकाए हैं. वहीं बांग्लादेश की बात करें तो उनकी टीम प्वाइंट्स टेबल में नौवें नंबर पर मौजूद है. टीम का नेट रनरेट निगेटिव -1.253 है. ऐसे में टीम के सेमीफाइनल में पहुंचने संभावनाए भी कम है. 

यह भी पढ़ें: IND vs ENG : वर्ल्ड कप में भारत का विजयरथ कहीं रोक न दे 20 साल पुराना इतिहास, लखनऊ में होगी असली परीक्षा