News Nation Logo

'मियां टेंशन मत लो और स्ट्रॉन्ग बनो', सिराज के बुरे वक्त में साथ आए विराट

बीसीसीआई ने मोहम्मद सिराज को स्वदेश वापस लौटने का विकल्प दिया था लेकिन इस तेज गेंदबाज ने राष्ट्रीय टीम की ओर से खेलने का फैसला किया.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 24 Nov 2020, 01:19:05 PM
mohammad siraj rcbtweets2

मोहम्मद सिराज (Photo Credit: RCBTweets/ Twitter)

नई दिल्ली:

टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज इन दिनों काफी मुसीबतों से जूझ रहे हैं. सिराज के पिता का अभी हाल ही में निधन हो गया था. पिता के निधन के बावजूद मोहम्मद सिराज अपने घर नहीं लौटे. बुरे वक्त से गुजर रहे मोहम्मद सिराज को टीम के कप्तान विराट कोहली का काफी साथ मिल रहा है. विराट ने सिराज को जीवन में मजबूती से खड़े रहने की सलाह दी, जो उनकी काफी मदद कर रहा है. बता दें कि सिराज को भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए टीम में शामिल किया गया है और वे अभी सिडनी में साथी खिलाड़ियों के साथ जमकर अभ्यास कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- ये भी पढ़ें : अपने पिता के निधन के बाद पहली बार बोले मोहम्मद सिराज, जानिए क्या कहा

अपने पिता के निधन के बावजूद परिवार से दूर भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जाने वाली सीरीज की तैयारी में कप्तान विराट कोहली की ‘मजबूत बनने’ सलाह ने उनकी काफी मदद की. कोहली भी पेशेवर जिम्मेदारियों को निभाते हुए निजी त्रासदी का सामना कर चुके हैं. साल 2007 में रणजी ट्रॉफी मैच के दौरान उनके पिता का निधन हो गया था लेकिन उन्होंने अगले दिन मैदान पर वापसी करते हुए दिल्ली की ओर से 97 रन की शानदार पारी खेली थी. सिराज के पिता मोहम्मद गौस का पिछले हफ्ते फेफड़ों से जुड़ी बीमारी के कारण हैदराबाद में निधन हो गया था, वह 53 साल के थे.

ये भी पढ़ें- IPL निराशाजनक था लेकिन दो दिन पहले लय हासिल कर ली: स्मिथ

बीसीसीआई ने सिराज को स्वदेश वापस लौटने का विकल्प दिया था लेकिन इस तेज गेंदबाज ने राष्ट्रीय टीम की ओर से खेलने का फैसला किया. छब्बीस साल के सिराज ने यहां भारतीय टीम के ट्रेनिंग सत्र के इतर कहा, ‘‘विराट भाई ने कहा कि मियां तनाव मत लो और मजबूत बनो. तुम्हारे पिता चाहते थे कि तुम भारत के लिए खेलो. इसलिए ऐसा करो और तनाव मत लो.’’ उन्होंने कहा, ‘‘कप्तान ने मुझे कहा कि अगर इस स्थिति में तुम मजबूत बन पाए तो इससे तुम्हें मदद ही मिलेगी. ये भारतीय कप्तान के सकारात्मक शब्द थे और इन्हें सुनकर काफी अच्छा लगा.’’

ये भी पढ़ें- दिग्गज ने बताई अपनी Playing XI, सचिन, धोनी समेत इन खिलाड़ियों को मिली जगह

क्रिकेटर के रूप में सिराज के शुरुआती वर्षों में उनके पिता आटोरिक्शा चलाते थे और इस क्रिकेटर पर उनका काफी प्रभाव है. उन्होंने कहा, ‘‘यह मेरे लिए काफी बड़ा नुकसान है क्योंकि वह मेरे सबसे बड़े समर्थक थे. वह चाहते थे कि मैं अपने देश के लिए चमकूं और मैं अब उनके सपनों को साकार करना चाहता हूं.’’ सिराज ने अपना साथ देने वाले टीम के अपने साथियों को भी धन्यवाद दिया.

ये भी पढ़ें- Ind Vs Aus: टेस्ट सीरीज में नहीं खेलेंगे रोहित शर्मा, कारण आया सामने

उन्होंने कहा, ‘‘मैं टीम के अपने साथियों का आभारी हूं कि उन्होंने इस मुश्किल समय में मेरा साथ दिया और हर चीज का ख्याल रखा.’’ सिराज ने कहा कि उनकी मां ने भी उन्हें दौरे से वापसी नहीं लौटने की सलाह दी जिसकी शुरुआत 27 नवंबर से सीमित ओवरों के मुकाबले के साथ होगी. उन्होंने कहा, ‘‘अम्मी ने कहा कि एक दिन सभी को जाना होता है. आज तुम्हारे पिता गए, कल मैं हो सकती हूं. वही करो जो तुम्हारे पिता चाहते थे. भारत के लिए खेलो. शायद वह शारीरिक रूप से मौजूद नहीं हो लेकिन मैं महसूस कर सकता हूं कि वह हमेशा मेरे साथ मौजूद हैं.’’

First Published : 24 Nov 2020, 01:19:05 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.