News Nation Logo

Dhoni : जहां से शुरू 16 साल बाद वहीं पर खत्‍म, जानिए कहानी

अपनी कप्तानी में भारत को दो बार विश्व क्रिकेट का ताज दिलाने वाले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने शनिवार को बेहद साधारण अंदाज में अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया. धोनी ने इस फैसले का ऐलान इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर करते हुए किया.

IANS | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 16 Aug 2020, 04:50:42 PM
dhoni runout

dhoni runout (Photo Credit: gettyimages)

New Delhi:

अपनी कप्तानी में भारत को दो बार विश्व क्रिकेट का ताज दिलाने वाले पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने शनिवार को बेहद साधारण अंदाज में अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया. एमएस धोनी (MS Dhoni) ने अपने इस बड़े फैसले का ऐलान इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर करते हुए किया है. उन्होंने वीडियो के साथ कैप्शन में लिखा, धन्यवाद. पूरे करियर के दौरान अपना प्यार और समर्थन देने के लिए आप सबका बहुत बहुत धन्यवाद. आज शाम 7.29 बजे के बाद से मुझे रिटायर समझा जाए. एमएस धोनी के साथ हालांकि एक अजीब इत्तेफाक जुड़ा है.

यह भी पढ़ें ः एमएस धोनी को मिला The hundred 100 का ऑफर, शेन वार्न ने कही बड़ी बात

एमएस धोनी अपने करियर के पहले मैच में भी रन आउट हुए और अंतिम मैच में भी. धोनी ने 23 दिसंबर 2004 को चटगांव में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे मैच से अपने अंतरराष्‍ट्रीय करियर की शुरुआत की थी और अपने पहले मैच में पहली ही गेंद पर ही वह रन आउट हो गए थे. इस करीबी मुकाबले में भारत को 11 रन से जीत मिली थी.इत्तेफाक से एमएस धोनी अपने करियर के आखिरी मैच में भी रन आउट हुए. विश्व कप 2019 में न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मैच में भी धोनी रन आउट हुए. मार्टिन गप्टिल के थ्रो ने धोनी को रन आउट कर भारत की विश्व कप जीतने की उम्मीदों पर पानी फेर दिया था और इस मैच में भारत को हार का सामना करना पड़ा.

यह भी पढ़ें ः राजीव शुक्‍ला का बड़ा बयान, धोनी के लिए विदाई मैच नहीं

यह मैच धोनी के करियर का अंतिम अंतराष्‍ट्रीय मैच साबित हुआ. इसके ठीक एक साल बाद उन्होंने अंतरराष्‍ट्रीय किकेट को अलविदा कह दिया. जूनियर क्रिकेट से बिहार क्रिकेट टीम, झारखंड क्रिकेट टीम से इंडिया ए टीम तक और वहां से भारतीय टीम तक का धोनी का सफर महज पांच-छह साल में पूरा हो गया. धोनी की कप्तानी में भारत ने आईसीसी टी-20 विश्व कप (2007), क्रिकेट विश्व कप (2011) और आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी (2013) का खिताब जीता. इसके अलावा भारत 2009 में पहली बार टेस्ट में नंबर एक बना था. दिसंबर 2014 में धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से अचानक संन्यास की घोषणा कर दी थी.

यह भी पढ़ें ः सुब्रमण्‍यम स्‍वामी ने MS Dhoni को दिया बड़ा ऑफर, बोले- लोकसभा चुनाव लड़ें

एमएस धोनी ने साल 2017 की शुरूआत में ही वनडे और टी20 कप्तानी को भी उसी अंदाज में अलविदा कहा, जिसके लिए वो जाने जाते हैं और इसके तीन साल बाद उन्होंने अपने पुराने अंदाज में ही अंतर्राष्ट्रीय से संन्यास लेने की घोषणा कर दी. दिसंबर 2005 में चेन्नई में श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट करियर की शुरूआत करने वाले धोनी ने भारत के लिए 90 टेस्ट मैचों की 144 पारियों में 38.09 की औसत से 4876 रन बनाए. टेस्ट में उनके नाम छह शतक और 33 अर्धशतक दर्ज है और उनका सर्वोच्च स्कोर 224 है.

यह भी पढ़ें ः धोनी ने संन्‍यास की बात गुरु तक को नहीं बताई, जानिए कोच केशव रंजन बनर्जी क्‍या बोले

वहीं, 23 दिसंबर 2004 को चटगांव में बांग्लादेश के खिलाफ वनडे मैच में पदार्पण करने वाले धोनी ने 350 वनडे मैचों की 297 पारियों में 50.57 की औसत से 10773 रन बनाए हैं. इसमें उनके नाम 10 शतक और 73 अर्धशतक दर्ज हैं. वनडे में उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 183 हैं. दुनिया के सबसे सर्वश्रेष्ठ फिनिशर माने जाने वाले धोनी ने एक दिसंबर 2006 को जोहान्सबर्ग में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी 20 करियर की शुरूआत की थी. उन्होंने 98 टी 20 मैचों में 37.60 की औसत से 1617 रन बनाए हैं. इसमें उनके नाम दो अर्धशतक हैं. उनका सर्वोच्च स्कोर 56 हैं.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 16 Aug 2020, 04:47:23 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो