News Nation Logo
Banner

जसप्रीत बुमराह ने IPL 2020 में किया कमाल, लेकिन वनडे को लेकर है चिंता, जानिए क्‍यों 

आईपीएल में इस साल जसप्रीत बुमराह ने जैसा प्रदर्शन किया है वो भारतीय टीम के लिए लिहाज से फायदे की बात है, लेकिन उनकी असल परीक्षा अगले महीने ऑस्ट्रेलिया में होने वाली वनडे सीरीज में होगी.

By : Pankaj Mishra | Updated on: 11 Nov 2020, 07:50:13 PM
teamindia jarsy

teamindia jarsy (Photo Credit: IANS)

नई दिल्‍ली :

आईपीएल में इस साल जसप्रीत बुमराह ने जैसा प्रदर्शन किया है वो भारतीय टीम के लिए लिहाज से फायदे की बात है, लेकिन उनकी असल परीक्षा अगले महीने ऑस्ट्रेलिया में होने वाली वनडे सीरीज में होगी. जसप्रीत बुमराह आईपीएल 2020 में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों की सूची में दूसरे स्थान पर रहे थे. कोविड-19 के कारण लगे लॉकडाउन से पहले भी जसप्रीत बुमराह टी-20 में बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे थे, लेकिन वनडे में उनकी फॉर्म चिंताजनक है. कम शब्दों में कहा जाए तो जसप्रीत बुमराह इस साल वनडे में उस तरह के विकेट टेकर के तौर पर नजर नहीं आए जो वह चोट से पहले थे. 

यह भी पढ़ें : IPL 2020 के 10 स्‍टार खिलाड़ी, सभी एक से बढ़कर एक, जानिए आंकड़े

दाएं हाथ के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को पिछले साल पीठ में चोट थी, जिस कारण वह 2019 में अगस्त में हुए वेस्टइंडीज दौरे के बाद से एक भी अंतरराष्‍ट्रीय मैच नहीं खेले थे. इस साल जनवरी-फरवरी में जब उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर वापसी की थी तो टी-20 और वनडे में उनका फॉर्म काफी अलग था. उन्होंने आठ टी-20 मैचों में आठ विकेट लिए थे और इस दौरान उनका इकॉनोमी रेट 6.38 रहा था जो उनके करियर इकॉनोमी रेट से बेहतर था. लेकिन वह वनडे में विकेट लेने में संघर्ष करते हुए दिखे थे. छह वनडे में उन्हें सिर्फ एक विकेट मिला था और प्रति ओवर 5.1 की दर से रन दिए थे जो वनडे में उनके करियर इकॉनोमी रेट 4.55 से थोड़ा ज्यादा है.

यह भी पढ़ें : तेजस्वी  यादव : आईपीएल में दिल्‍ली की टीम में थे, लेकिन नहीं मिला मौका, यहां जानिए पूरा सफर 

भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा कि जसप्रीत बुमराह उन बल्लेबाजों के डिफेंस को भी तोड़ सकते हैं जो उन्हें आराम से खेलना चाहते हैं. भारत की 1983 विश्व विजेता टीम का हिस्सा रहे पूर्व तेज गेंदबाज मदन लाल ने भी बुमराह की तारीफ की है और कहा है कि आईपीएल में कोई भी उन्हें आसानी से नहीं खेल पाया. मदन लाल ने कहा कि कगिसो रबाडा ने बेशक ज्यादा विकेट लिए हों, लेकिन कोई भी जसप्रीत बुमराह को आसानी से नहीं खेल पाया. उन्होंने काफी अहम विकेट अपने नाम किए हैं. मदन लाल ने कहा कि बुमराह के टी-20 और वनडे में जो अंतर है वो इसलिए है, क्योंकि दोनों प्रारूपों के स्वरूप में अंतर है.

यह भी पढ़ें : IPL 2021 में होंगी 9 टीमें, BCCI कराएगा मेगा ऑक्‍शन ! 

मदन लाल ने कहा कि वनडे में बल्लेबाज अच्छे गेंदबाज को सतर्क रहकर खेलते हैं, लेकिन टी-20 में वह ऐसा नहीं करते, क्योंकि उन्हें शुरू से ही रन बनाने होते हैं. उन्होंने कहा कि वह विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं, इसमें कोई शक नहीं है. लेकिन 50 ओवरों में, बल्लेबाज तालमेल बिठा लेते हैं. वह जानते हैं कि यह 10 ओवरों का स्पैल है. इसके अलावा 40 ओवर और हैं. टी-20 में कुछ ही ओवर होते हैं. अगर बल्लेबाज तीन-चार ओवर अपने बल्ले को रोकता है तो उससे पूरे मैच पर असर पड़ता है. 50 ओवरों में आपके पास समय होता है. टी-20 में बल्लेबाज हर गेंद पर आपको मारने की कोशिश करता है. पिछले छह वनडे मैचों में बल्लेबाजों ने उन्हें आसानी से खेला है और इन बल्लेबाजों में आस्ट्रेलिया भी शामिल है. यह देखना अहम होगा कि क्या बुमराह आईपीएल की फॉर्म को आस्ट्रेलिया में भी जारी रख पाते हैं या नहीं.

First Published : 11 Nov 2020, 07:50:13 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो