News Nation Logo

INDvsENG : इंग्लैंड के युवा बल्लेबाजों में कौशल की कमी, जानिए किसने कही ये बात 

इंग्लैंड के पूर्व लेफ्ट आर्म स्पिनर मोंटी पनेसर का कहना है कि इंग्लैंड के मौजूदा युवा बल्लेबाजों के पास स्पिन के मददगार वाली पिच पर खेलने के कौशल की कमी है और वह इस तरह नहीं खेल पाए जिस तरह भारत ने खेला.

IANS | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 07 Mar 2021, 12:47:24 PM
England cricketers

England cricketers (Photo Credit: IANS)

रायपुर :

इंग्लैंड के पूर्व लेफ्ट आर्म स्पिनर मोंटी पनेसर का कहना है कि इंग्लैंड के मौजूदा युवा बल्लेबाजों के पास स्पिन के मददगार वाली पिच पर खेलने के कौशल की कमी है और वह इस तरह नहीं खेल पाए जिस तरह भारत ने खेला. भारत ने शनिवार को अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेले गए चौथे मुकाबले के तीसरे दिन इंग्लैंड को पारी और 25 रनों से हराकर चार मैचों की सीरीज 3-1 से अपनी नाम की थी. रोड सेफ्टी वर्ल्‍ड सीरीज के लिए रायपुर पहुंचे मोंटी पनेसर ने कहा कि इंग्लैंड के बल्लेबाजों को इस दौरे यह सीखना चाहिए कि टर्निग विकेट पर किस तरह खेलते हैं. मोंटी पनेसर ने आईएएनएस से कहा कि इस सीरीज में इंग्लैंड के युवा बल्लेबाज थोड़े घबराए हुए थे और उनके पास फिलहाल इस तरह को कौशल नहीं है जो भारतीय बल्लेबाजों के पास है. कप्तान जोए रूट पर काफी जिम्मेदारियां थी और वह स्पिन के खिलाफ काफी बेहतर खेले हैं. लेकिन जोए रूट के साथ किसी बल्लेबाज को साथ देना चाहिए था जिससे साझेदारी की जा सके. 

यह भी पढ़ें : मार्टिन गुप्‍टिल ने 71 रन बनाकर रोहित शर्मा को पीछे छोड़, जानिए आंकड़े 

2006 में भारत के खिलाफ नागपुर में टेस्ट डेब्‍यू करने वाले पनेसर ने कहा कि भारत में खेलना आसान नहीं है. इस दौरे पर इंग्लैंड की शुरूआत अच्छी रही थी और उसने भारत को चेन्नई में खेले गए पहले टेस्ट में हराया था लेकिन उसे अगले तीन मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा. इस पर इंग्लैंड के पूर्व स्पिन गेंदबाज ने कहा कि मैदान पर दर्शकों को शामिल करने का प्रभाव भी टीम पर पड़ा. 38 वर्षीय पनेसर ने कहा कि दर्शकों के होने से प्रभाव पड़ता है. भारत दौरे से पहले इंग्लैंड श्रीलंका गई थी जहां दर्शक मौजूद नहीं थे और इंग्लैंड ने वहां अच्छा प्रदर्शन किया. यहां भी पहले टेस्ट में दर्शक नहीं थे और इंग्लैंड ने जीत हासिल की. लेकिन दूसरे मैच से दर्शकों को शामिल होने की मंजूरी दी गई और भारत ने वापसी की. मेरे ख्याल से दर्शकों के होने से प्रभाव पड़ता है. दर्शकों का असर इंग्लैंड पर पड़ा.

यह भी पढ़ें : Road Safety World Series: 13000 रन बनाने वाले बल्‍लेबाज की वापसी आज 

मोटेरा में हुए तीसरे टेस्ट में इंग्लैंड की हार के बाद इंग्लैंड के कई पूर्व खिलाड़ियों ने पिच को लेकर सवाल खड़े किए थे. इस पर मोंटी पनेसर ने कहा कि हार का कोई बहाना नहीं होता. भारत ने इस पिच पर अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन इंग्लैंड ऐसा नहीं कर सका. पिच को लेकर किसी को दिक्कत नहीं होनी चाहिए. पिच में थोड़ी घास थी जो अच्छा था. जाहिर है कि भारत भी दो दिन में मैच खत्म करना नहीं चाहता होगा. उन्होंने कहा कि असली बात यह है कि इंग्लैंड का कौशल भारत में थोड़ा कम है. इंग्लैंड को भविष्य में भारत दौरे पर जाने से पहले अच्छे से तैयारी करनी चाहिए. इंग्लैंड की तैयारी में कुछ कमी थी.
मोंटी पनेसर ने कहा कि इंग्लैंड की टीम कुछ हद तक रूट पर निर्भर थी. रूट के आउट होते ही टीम बिखर जा रही थी. रूट ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. रूट ऐसे खेल रहे थे जैसे कोई भारतीय बल्लेबाज यहां खेलता है. इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड को कोचिंग प्रोग्राम में थोड़ा परिवर्तन करना चाहिए. उन्हें युवा बल्लेबाजों को सीखाना चाहिए कि भारत में स्पिन के खिलाफ किस तरह खेलते हैं. इंग्लैंड को भारत दौरे पर ज्यादातर स्पिन गेंदबाजों को खेलाना चाहिए था. पनेसर ने इंग्लैंड के लिए 50 टेस्ट मैचों में 167 विकेट झटके हैं. उन्होंने 2013 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपना आखिरी टेस्ट खेला था.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 07 Mar 2021, 12:47:24 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.