News Nation Logo

INDvsAUS : बॉक्सिंग डे टेस्ट में रविंद्र जडेजा की वापसी संभव, जानिए कौन होगा बाहर 

चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले ही टेस्ट में बुरी तरह से हार चुकी टीम इंडिया अब दूसरे टेस्ट के लिए सही प्लेइंग इलेवन चुनने पर विचार कर रही है. पहले मैच की प्लेइंग इलेवन से कप्तान विराट कोहली और तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी पहले ही बाहर हो चुके हैं.

Bhasha | Updated on: 21 Dec 2020, 06:30:01 PM
ravindra jadeja ians

ravindra jadeja ians (Photo Credit: ians)

नई दिल्ली :

चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले ही टेस्ट में बुरी तरह से हार चुकी टीम इंडिया अब दूसरे टेस्ट के लिए सही प्लेइंग इलेवन चुनने पर विचार कर रही है. पहले मैच की प्लेइंग इलेवन से कप्तान विराट कोहली और तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी पहले ही बाहर हो चुके हैं. लेकिन इन दो अलावा कुछ और भी बदलाव दूसरे मैच में देखने के लिए मिल सकते हैं. भारतीय टीम मैनेजमेंट ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 26 दिसंबर से होने वाले बॉक्सिंग डे टेस्ट से पहले रविंद्र जडेजा की चोट पर करीबी नजर रखे हुए है और अगर रविंद्र जडेजा फिट होते हैं तो प्लेइंग इलेवन में हनुमा विहारी की जगह ले सकते हैं. पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय के दौरान रविंद्र जडेजा के सिर में चोट लगी थी और इसके बाद उनके पैर की मांसपेशियों में भी खिंचाव आ गया था, जिसके कारण वह पहले टेस्ट से बाहर हो गए थे. भारत को पहले टेस्ट में हार का सामना करना पड़ा और इस दौरान रविद्र जडेजा ने नेट पर वापसी की. पता चला है कि रविंद्र जडेजा अच्छी तरह उबर रहे हैं, लेकिन अभी यह निश्चित रूप से नहीं कहा जा सकता कि वह 26 दिसंबर से मेलबर्न में शुरू होने वाले दूसरे टेस्ट के लिए पूरी तरह से वे फिट हो जाएंगे. हालांकि अगर रविंद्र जडेजा फिट होते हैं हनुमा विहारी को प्लेइंग इलेवन से बाहर होना पड़ सकता है. 

यह भी पढ़ें : INDvAUS : टीम इंडिया में ये है कमी, माइकल हसी ने कर दिया खुलासा

दरअसल हनुमा विहारी के बाहर होने का कारण हालांकि एडीलेड में पहले टेस्ट में उनका खराब प्रदर्शन नहीं बल्कि अजिंक्य रहाणे और रवि शास्त्री द्वारा सर्वश्रेष्ठ संयोजन उतारा जाना है. बीसीसीआई के एक वरिष्ठ सूत्र ने पीटीआई को बताया कि अगर रविंद्र जडेजा लंबे स्पैल फेंकने के लिए फिट हो जाते हैं तो फिर बहस का कोई बात ही नहीं है. रविंद्र जडेजा अपने आलराउंड कौशल के आधार पर विहारी की जगह लेगा. साथ ही इससे हमें एमसीजी में पांच गेंदबाजों के साथ उतरने का विकल्प मिलेगा. 
रविंद्र जडेजा ने 49 टेस्ट में 35 से अधिक की औसत से 1869 रन बनाए हैं जिसमें एक शतक और 14 अर्धशतक शामिल हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के पिछले दौरों पर अर्धशतक जड़े थे. दूसरी तरफ विहारी ने 10 टेस्ट में 576 रन बनाए हैं जिसमें वेस्टइंडीज के खिलाफ शतक के अलावा चार अर्धशतक शामिल हैं. उन्होंने 33 से अधिक के औसत से रन बनाए हैं. लोगों का यह भी मानना है कि अगर बल्लेबाजी कौशल पर ध्यान दें तो भी विशेषज्ञ विहारी और आलराउंडर जडेजा में अधिक अंतर नहीं है. मोहम्मद शमी कलाई में फ्रेक्चर के कारण पहले ही सीरीज से बाहर हो गए हैं और ऐसे में भारत चार की जगह पांच विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतर सकता है. भारत को इस बीच सोमवार को एडीलेड ओवल में अभ्यास सत्र में हिस्सा लेना था लेकिन बारिश के कारण इसे रद्द करना पड़ा. 

यह भी पढ़ें : INDvAUS 2nd Test : बाक्सिंग डे टेस्ट के मैन ऑफ द मैच को मिलेगा ये स्पेशल पदक

कप्तान विराट कोहली को मंगलवार को भारत के लिए रवाना होगा है और टीम मेलबर्न के लिए रवाना होगी. कप्तान ने यहां दूसरी पारी में टीम के 36 रन पर सिमटने के बाद खिलाड़ियों के साथ बात की. सीनियर बल्लेबाज रोहित शर्मा सिडनी टेस्ट से पूर्व तीन जनवरी से ट्रेनिंग शुरू कर सकते हैं. वह अभी सिडनी में दो कमरे के अपार्टमेंट में क्वारंटीन से गुजर रहे हैं. कोविड-19 मामलों में इजाफे के बाद न्यू साउथ वेल्स राज्य सरकार की पाबंदियों को देखते हुए क्रिकेट आस्ट्रेलिया डेविड वार्नर और सीन एबट को पहले ही सिडनी से मेलबर्न ला चुका है. बीसीसीआई हालांकि क्वारंटीन के बीच में रोहित को मेलबर्न नहीं ला सकता. क्रिकेट आस्ट्रेलिया को हालांकि अब भी तीसरे टेस्ट की मेजबानी सात जनवरी से सिडनी में करने की उम्मीद है और अगर ऐसा होता है जो रोहित को मेलबर्न लाने की जरूरत नहीं होगी क्योंकि वैसे भी यह सीनियर बल्लेबाज दूसरे टेस्ट में नहीं खेल पाएगा. अगर स्थिति बदलती है और तीसरे टेस्ट को स्थानांतरित किया जाता है तो बीसीसीआई क्रिकेट आस्ट्रेलिया के साथ चर्चा करके जरूरी कदम उठाएगा.

First Published : 21 Dec 2020, 06:30:01 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.