News Nation Logo

BREAKING

Banner

क्रिकेट के दुनिया में आज क्यों फेमस हो गया 49204084041 का नंबर, जानिए यहां 

भारतीय क्रिकेट टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले ही मैच में तीसरे ही दिन आठ विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा. जब दूसरे दिन का खेल खत्म हुआ था, उस वक्त टीम इंडिया अच्छी स्थिति में थी.

By : Pankaj Mishra | Updated on: 20 Dec 2020, 06:29:44 AM
India dominate drawn pink ball tour game in Sydney

India dominate drawn pink ball tour game in Sydney (Photo Credit: ians)

नई दिल्ली :

भारतीय क्रिकेट टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की सीरीज के पहले ही मैच में तीसरे ही दिन आठ विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा. जब दूसरे दिन का खेल खत्म हुआ था, उस वक्त टीम इंडिया अच्छी स्थिति में थी, लेकिन तीसरे दिन का खेल शुरू होते ही भारतीय बल्लेबाजी भरभरा कर ढह गए. एक के बाद एक बल्लेबाज आउट होते चले गए और पूरी टीम मात्र 36 रन ही बना सकी. टीम इंडिया की ओर से कोई भी बल्लेबाज दहाई के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच पाया. भारतीय का मजबूत बल्लेबाजी लाइन अप पैट कमिंस और जोश हेजलवुड की तेज गेंदबाजी जोड़ी के सामने ढह गया, जिससे आस्ट्रेलिया ने शुरूआती दिन रात्रि टेस्ट में ढाई दिन के अंदर आठ विकेट से शानदार जीत हासिल की. 

यह भी पढ़ें : INDvsAUS : रोहित शर्मा पहुंचे ऑस्ट्रेलिया, इस दिन करेंगे मैदान में वापसी 

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने दूसरी पारी में भारतीय बल्लेबाजों के स्कोर का जिक्र करते हुए ट्वीट किया, भूलने का ओटीपी है 49204084041. कोई भी बल्लेबाज दोहरे अंक तक नहीं पहुंच सका. जैसा कि सभी भारतीय फैंस जानते हैं कि वीरेंद्र सहवाग अपने बेबाक अंदाज और मजेदार जवाब के लिए जाने जाते हैं, अब एक बार फिर से उन्होंने एक ऐसा संदेश दिया जो तेजी से वायरल हो रहा है. वीरेंद्र सहवाग ने टीम इंडिया की बल्लेबाजी को ओटीपी कहा है, ये क्यों उससे पहले आपको टीम इंडिया का बल्लेबाजी क्रम समझना होगा. दूसरी पारी को देखें तो पृथ्वी शॉ 4 रन, मयंक 9, बुमराह 2, पुजारा 0, कोहली 4, रहाणे 0, हनुमा विहारी 8  साहा 4 अश्विन 0, उमेश यादव 4 और शमी 1. इन नंबर को जोड़ा जाए को कुछ ये ऐसा  49204084041 दिखने लगेगा जो किसी फोन पर आने वाले वन टाइम पासवर्ड के रूप में दिख रहा है. जिसको एक बार इस्तेमाल करके भूल जाना चाहिए और सहवाग ने भी कुछ ऐसा ही कहा है.

यह भी पढ़ें : INDvAUS कोरोना वायरस : ब्रेट ली ने छोड़ी कमेंट्री, सिडनी टेस्ट पर खतरा!

वीरेंद्र सहवाग के आदर्श सचिन तेंदुलकर ने भी स्वीकार किया कि आस्ट्रेलिया ने भारतीय टीम को चारों खाने चित्त कर दिया. सचिन तेंदुलकर ने लिखा, जिस तरह से भारत ने पहली पारी में बल्लेबाजी और गेंदबाजी की, वे अच्छी स्थिति में थे लेकिन आस्ट्रेलिया ने आज सुबह सचमुच शानदार वापसी की. उन्होंने लिखा, यही टेस्ट क्रिकेट की खूबसूरती है. यह तब तक खत्म नहीं होता, जब तक यह पूरा समाप्त नहीं हो जाता. भारत को दूसरे पारी में चित्त कर दिया गया. आस्ट्रेलिया को बधाई. 
 भारत का पिछला न्यूनतम टेस्ट स्कोर 1974 में इंग्लैंड के खिलाफ लार्ड्स में 42 रन का था. महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर को लगता है कि आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज शानदार थे. सुनील गावस्कर ने चैनल सेवनह्णसे कहा, भारतीय बल्लेबाज जिस तरीके से आउट हुए, उसके लिए उन्हें दोषी ठहराना उचित नहीं होगा क्योंकि आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने लाजवाब गेंदबाजी की. मौजूदा बल्लेबाजों की रक्षात्मक कमियों का जिक्र करते हुए पूर्व बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने कहा, इसमें कोई शक नहीं की 36 रन के स्कोर को अलग पारी के रूप में ही देखा जायेगा और देखा भी जाना चाहिए लेकिन जब भी गेंद का मूवमेंट होता है तो पिछले तीन टेस्ट (न्यूजीलैंड में दो टेस्ट) में भारत का स्कोर - 165, 191, 242, 124, 244, 36  रहा है. 

यह भी पढ़ें : रिकी पोंटिंग के मुरीद हुए दिनेश कार्तिक, IPL 2021 में क्या दिल्ली कैपिटल्स में जाएंगे! 

उन्होंने कहा, इससे स्पष्ट है कि भारत को अपने रक्षात्मक कौशल में सुधार करने की जरूरत है. आज के माहौल में करने से ज्यादा कहना आसान है. भारतीय टीम का न्यूनतम स्कोर का पिछला रिकार्ड 42 रन का था जो भारतीय टीम ने इंग्लैंड के खिलाफ 24 जून 1974 में लार्ड्स में बनाया था. भारतीय टीम 46 साल पहले 42 रन पर सिमट गयी थी और उस मैच का हिस्सा रहे मदन लाल ने पीटीआई से कहा, मुझे उस मैच के बारे में कुछ याद नहीं. हम काफी खराब खेले थे और दुख भरी बातें याद करने का क्या फायदा. आस्ट्रेलिया महान स्पिनर शेन वार्न ने कहा, वाह. पैट कमिंस और जोश हेजलवुड ने यहां एडीलेड में कितनी शानदार गेंदबाजी की. लाजवाब. उन्होंने कहा, भारतीय बल्लेबाजों के लिए सहानुभूति क्योंकि उन्होंने इसकी उम्मीद नहीं की होगी, ऐसा दिन रहा जिसमें बल्लेबाजों ने हर गेंद पर बल्ला स्पर्श किया और इन्हें खेला भी नहीं और सभी को चूक गए. अविश्वसवनीय.  ग्रोइन चोट के कारण श्रृंखला के शुरूआती मैच में नहीं खेले डेविड वार्नर इस नतीजे से खुश थे जिससे उनकी टीम ने चार मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली. उन्होंने लिखा, आज खिलाड़ियों ने अविश्वसनीय जीत दर्ज की, गेंदबाजों ने आज क्या शानदार प्रयास किया. क्रिकेट के लिए अविश्वसनीय दिन. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने टिप्पणी की, बताया था ना....भारत को टेस्ट सीरीज में रौंदा जाएगा. पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज आरपी सिंह ने कहा, आज का दिन काफी बुरा रहा, इसमें कोई शक नहीं लेकिन याद रखिये यह चार मैचों की सीरीज है हमने पहले भी वापसी की है और यह टीम भी ऐसा कर सकती है. पूर्व भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने लिखा, मैच अच्छी स्थिति में था और हम इसमें बने हुए थे लेकिन एक खराब सत्र हमारे खिलाफ गया.

यह भी पढ़ें : INDvsAUS : विराट कोहली का ऑस्ट्रेलिया दौरा खत्म, लेकिन फिर भी रहेगा गम 

भारतीय टीम ने अपनी दूसरी पारी में जब नौ विकेट पर 36 रन बनाए थे तब मोहम्मद शमी को चोटिल होने के कारण क्रीज छोड़नी पड़ी, जिससे पारी वहीं पर समाप्त हो गई. भारत का यह 88 साल के टेस्ट इतिहास में न्यूनतम स्कोर है. भारत को पहली पारी में 55 रन की बढ़त मिली थी और इस तरह से ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए 90 रन का लक्ष्य मिला. मोहम्मद शमी चोटिल होने के कारण गेंदबाजी नहीं कर पाए और ऑस्ट्रेलिया ने आसानी से 21 ओवर में दो विकेट पर 93 रन बनाकर दिन रात टेस्ट मैचों में अपना शानदार रिकॉर्ड बरकरार रखा. भारत का इससे पहले न्यूनतम स्कोर 42 रन था जो उसने 1974 में इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में बनाया था. टेस्ट क्रिकेट में न्यूनतम स्कोर का रिकार्ड न्यूजीलैंड के नाम पर है जिसने 1955 में इंग्लैंड के खिलाफ आकलैंड में 26 रन बनाए थे.  चार टेस्ट की सीरीज में अब टीम इंडिया 0-1 से पीछे हैं और अगला टेस्ट 26 दिसंबर से शुरु होने वाला है.इस टेस्ट के लिए विराट कोहली नहीं होंगे जबकि ऑस्ट्रेलिया के लिए डेविड वॉर्नर वापसी करेंगे.ऐसे में देखना होगा कि पहले टेस्ट की शर्मनाक हार से बैकफुट पर आई टीम इंडिया कैसा प्रदर्शन करती है.

(input bhasha)

First Published : 19 Dec 2020, 08:40:28 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.