News Nation Logo
Banner

IND vs AUS ODI : केएल राहुल करेंगे ओपनिंग! तीन जिम्मेदारियों के लिए हैं तैयार

भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच तीन वन डे मैचों की सीरीज का पहला मैच 27 नवंबर को खेला जाएगा, इसमें ज्‍यादा वक्‍त भी नहीं बचा है. हालांकि रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में सलामी बल्‍लेबाज शिखर धवन के साथ पारी की शुरुआत कौन करेगा, यह अभी तक साफ नहीं है.

By : Pankaj Mishra | Updated on: 25 Nov 2020, 06:51:24 PM
kl rahul

kl rahul (Photo Credit: getty images)

नई दिल्‍ली :

भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच तीन वन डे मैचों की सीरीज का पहला मैच 27 नवंबर को खेला जाएगा, इसमें ज्‍यादा वक्‍त भी नहीं बचा है. हालांकि रोहित शर्मा की गैरमौजूदगी में सलामी बल्‍लेबाज शिखर धवन के साथ पारी की शुरुआत कौन करेगा, यह अभी तक साफ नहीं है. हालांकि केएल राहुल इसके लिए सबसे प्रबल दावेदार माने जा रहे हैं, लेकिन माना ये भी जा रहा है कि केएल राहुल मध्‍यक्रम में खेलें, ताकि वहां भी मजबूती मिल सके. ऐसे में शिखर धवन के साथ ओपनिंग के लिए शुभमन गिल और मयंक अग्रवाल में से कोई आ सकता है. हालांकि इस बीच केएल राहुल ने खुद ही ये कह दिया है कि वे किसी भी नंबर पर बल्‍लेबाजी कर सकते हैं. टीम मैनेजमेंट को जहां भी जरूरी लगे, वहां पर बल्‍लेबाजी कर सकते हैं. 

यह भी पढ़ें : LPL 2020 Live Streaming Online: कब, कहां और कैसे देखें लंका प्रीमियर लीग के मैच 

लोकेश राहुल ऑस्ट्रेलिया दौरे पर तीन जिम्मेदारियों मुख्य बल्लेबाज, विकेटकीपर और उप-कप्तानी निभाने को तैयार हैं. केएल राहुल ने बुधवार को कहा कि हाल ही में खत्म हुए आईपीएल ने उन्हें इसके लिए तैयार किया है. लोकेश राहुल ने साथ ही कहा कि वह नंबर-5 पर बल्लेबाजी करने के लिए तैयार हैं. केएल राहुल ने मीडिया कॉन्फ्रेंस में कहा कि पिछली बार जब मैं भारत के लिए खेला था, तब मैंने नंबर-5 पर बल्लेबाजी की थी और इसका लुत्फ लिया था. टीम जो चाहती है मैं वो करने को तैयार हूं.

यह भी पढ़ें : IND vs AUS : BCCI ने CA से रोहित शर्मा और इशांत के लिए मांगी छूट

लोकेश राहुल ने न्यूजीलैंड के खिलाफ कोविड-19 से पहले फरवरी में खेली गई तीन मैचों की वनडे सीरीज में नाबाद 88 और 112 रनों की पारियां खेली थीं. राहुल ने साथ ही कहा कि उनके विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी लेने से टीम के पास एक अतिरिक्त बल्लेबाज और गेंदबाज को खेलाने का विकल्प मिलता है. उन्होंने कहा, आईपीएल में खेलने से मुझे थोड़ी तैयारी करने का मौका मिला है. मुझे वहां भी यह जिम्मेदारियां निभानी पड़ी थीं. यह चुनौतीपूर्ण था, यह नया था. मुझे लगता है कि मैं इस रोल का आदी हो गया हूं. मैंने इसका लुत्फ लेना शुरू कर दिया है. इसलिए मुझे लगता है कि मैं यहां भी इसका लुत्फ ले सकूंगा. कर्नाटक के रहने वाले इस बल्लेबाज ने 2016 में वनडे में डेब्‍यू किया था और तब से सिर्फ 32 वनडे खेले हैं. वहीं, 2016 में ही राहुल ने टी-20 में डेब्‍यू किया था और वह अभी तक 42 टी-20 मैच खेल चुके हैं. राहुल को लगता है कि उन्हें किसी एक रोल में ढलने का मौका नहीं मिला. लेकिन महेंद्र सिंह धोनी के 2019 विश्व कप के बाद न खेलने से राहुल को मौके मिलने शुरू हो गए. दिसंबर-2019 से फरवरी-2020 तक उन्होंने नौ वनडे मैच खेले हैं.

यह भी पढ़ें : विंडीज टेस्ट सीरीज से कोलिन ग्रांडहोम बाहर, आखिरी T20 में सैंटनर होंगे कप्तान

लोकेश राहुल ने कहा कि मैंने लंबे समय से वनडे क्रिकेट नहीं खेली थी, हालांकि मैं भारतीय टीम का हिस्सा था, लेकिन मुझे इस तरह का लंबा मौका नहीं मिला था. यह अच्छी बात है कि मैं टीम में योगदान दे रहा हूं और अपनी जिम्मेदारी निभा रहा हूं. मैं इस बात से खुश हूं कि मैं मैदान पर जाकर लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा हूं. राहुल ने कहा कि वह एक बार में एक ही काम पर ध्यान देंगे. उन्‍होंने कहा, मैंने आईपीएल में खेलकर मौजूदा पल में, वर्तमान में रहना सीखा है. बल्लेबाजी करते हुए स्थिति को परखना और यह देखना कि मैं टीम को मैच कैसे जिता सकता हूं. जब विकेटकीपिंग करता हूं तो इन आखिरी के तीन-चार सेकेंड में यह देखना कि गेंद कैसे आ रही है. यह जरूरी है कि मैं तब एक विकेटकीपर के तौर पर सोचूं न कि एक लीडर के तौर पर. मैंने आईपीएल में यही सीखा है. यह काफी अहम है और निजी तौर पर आगे जाने के लिए महत्वपूर्ण भी.

यह भी पढ़ें : IND vs AUS : खिलाड़ी मैदान पर क्‍या कहेंगे अपशब्द, जस्‍टिन लैंगर ने दिया जवाब 

भारत को 2021 और 2022 में होने वाल दो टी-20 विश्व कप और 2023 में वनडे विश्व कप की तैयारी करनी है और ऐसे में राहुल टीम के लिए विकेटकीपर-बल्लेबाज के विकल्प हो सकते हैं. इस पर राहुल ने कहा कि उन्हें इस मामले में कुछ नहीं बताया गया है, लेकिन वह किसी भी तरह की चुनौती लेने को तैयार हैं. उन्होंने कहा, मुझे कुछ भी बताया नहीं गया है और मैं इतनी दूर के बारे में नहीं सोच रहा हूं. जाहिर सी बात है कि विश्व कप काफी अहम है. यह हर टीम, हर देश का लक्ष्य होते हैं. जहां तक मेरी बात है तो, हम अभी भी एक बार में एक मैच के बारे में सोच रहे हैं. अगर मैं बल्ले और ग्लव्स से लगातार अच्छा करता रहा तो यह हमें अतिरिक्त गेंदबाज या बल्लेबाज खेलाने का विकल्प मुहैया कराएगा. इससे टीम संयोजन में मदद मिलेगी. निजी तौर पर मैं यह करना पसंद करूंगा. अगर मौका मिलता है तो मैं तीनों विश्व कप में कीपिंग करना पसंद करूंगा. मैं यह अपने देश के लिए करना पसंद करूंगा. वनडे टीम में संजू सैमसन एक और विकेटकीपर के विकल्प हैं जबकि टी-20 में राहुल अकेले हैं.

(इनपुट आईएएनएस)

First Published : 25 Nov 2020, 06:47:33 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.