News Nation Logo
Banner

अब होगी बाबर आजम की असली और आखिरी परीक्षा, जानिए क्‍यों और कैसे

पाकिस्‍तान के बड़े क्रिकेटरों में शुमार बाबर आजम को अब दोहरी जिम्‍मेदारी दी गई है. उन्‍हें अपनी टीम के लिए रन तो बनने ही होंगे, साथ ही अब कप्‍तानी भी करनी होगी.

Sports Desk | Edited By : Pankaj Mishra | Updated on: 15 Jul 2020, 04:05:32 PM
Babar Azam ians

Babar Azam (Photo Credit: आईएएनएस )

New Delhi:

पाकिस्‍तान के बड़े क्रिकेटरों में शुमार बाबर आजम (Babar Azam) को अब दोहरी जिम्‍मेदारी दी गई है. उन्‍हें अपनी टीम के लिए रन तो बनने ही होंगे, साथ ही अब कप्‍तानी भी करनी होगी. पिछले काफी समस ये दुनिया भर के बड़े बल्‍लेबाजों से बाबर आजम (Babar Azam) की तुलना की जाती रही है, लेकिन बाबर आजम की असल परीक्षा तो अब शुरू होगी. पाकिस्‍तानी टीम इस वक्‍त इंग्‍लैंड (ENGvPAK) में है और वहीं पर सीरीज होगी. पाकिस्‍तान के पूर्व क्रिकेटरों को भी लगता है कि इंग्‍लैंड में बाबर आजम की असल परीक्षा होगी. 

यह भी पढ़ें ः VIDEO : एमएस धोनी, विराट कोहली और रोहित शर्मा को लेकर बोले ऋषभ पंत

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर मुद्दसर नजर को लगता है कि इंग्लैंड सीरीज बाबर आजम के लिए अंतिम परीक्षा है. अगर वह यहां सफल हो जाते हैं तो फिर कोई उन्हें रोक नहीं पाएगा. पाकिस्तान को इंग्लैंड में तीन टेस्ट और इतने ही टी-20 मैचों की भी सीरीज खेलनी है. मुद्दसर नजर के मुताबिक, पाकिस्तान की वनडे और T20 टीम का हिस्सा बाबर आजम को इंग्लैंड में अच्छा करने की जरूरत है क्योंकि उन्होंने विश्व के बाकी कोने में काफी रन बनाए हैं. 
मुद्दसर नजर ने कहा कि बाबर आजम के लिए इंग्लैंड अंतिम पड़ाव है. उन्होंने हालांकि पहले भी इंग्लैंड का दौरा किया है, हालांकि उस समय उनकी परीक्षा नहीं हुई थी. अगर इस बार वह यहां स्कोर करते हैं तो कोई भी उन्हें पकड़ नहीं पाएगा. वह जिस तरह से इस समय गेंदबाजों पर हावी हो रहे हैं, अगर वह ऐसा ही इंग्लैंड में करते हैं तो कोई उन्हें पकड़ नहीं सकता.

यह भी पढ़ें ः ENGvWI : कप्‍तान जो रूट करेंगे वापसी, वेस्टइंडीज की नजरें सीरीज जीतने पर

मुद्दसर नजर ने बाबर आजम की कमजोरियों पर भी बात की और कहा, बाबर आजम की एक कमजोरी है कि वह ऑफ स्टम्प के बाहर की गेंद को ड्राइव करते हैं, जो उन बल्लेबाजों की स्वाभाविक कमजोरी है जो पाकिस्तान में खेलते हुए बड़े हुए हैं. हाल ही में वे देर से खेलने लगे हैं, और बल्ले पर उनकी ग्रिप भी अच्छी है.
आपको बता दें कि पाकिस्‍तान के ही पूर्व कप्‍तान और विकेटकीपर रहे राशिद लतीफ ने बाबर आजम के उस बयान की आलोचना की थी, जिसमें उन्‍होंने कहा था कि उनकी तुलना पाकिस्‍तान के महान खिलाड़ियों से की जानी चाहिए. राशिद लातीफ ने कहा था कि किसी भी खिलाड़ी की तुलना उसके मौजूदा समय के खिलाड़ियों से ही होती है. ऐसे में बाबर आजम की तुलना भारत के विराट कोहली, इंग्‍लैंड के जो रूट और न्‍यूजीलैंड के कप्‍तान केन विलियमसन जैसे बल्लेबाजों से होगी. राशिद लातीफ ने कहा कि बाबर आजम ने पाकिस्तानी दिग्गजों से तुलना का बयान दबाव में दिया है.

यह भी पढ़ें ः IPL 2020 पर फैसला अगले सप्‍ताह संभव, जानिए क्‍या बन रहे हैं समीकरण

आपको बता दें कि बाबर आजम भारतीय कप्तान विराट कोहली से लगातार तुलना से उकता गए हैं और उन्‍होंने कहा कि पाकिस्तान के महान बल्लेबाजों से उनकी तुलना होनी चाहिए. विराट कोहली से छह साल छोटे बाबर को विभिन्न प्रारूपों में कोहली के जबर्दस्त रिकार्ड के करीब पहुंचने के लिए अभी लंबा सफर तय करना है. भारतीय कप्तान के खाते में 70 अंतरराष्ट्रीय शतक हैं और तीनों प्रारूपों में उनका औसत 50 से अधिक है. बाबर आजम ने एक आनलाइन मीडिया सत्र में कहा था कि मुझे अधिक खुशी होगी अगर मेरी तुलना जावेद मियांदाद, मोहम्मद युसूफ या यूनिस खान से होगी. विराट कोहली या किसी अन्य भारतीय से तेरी तुलना क्यों. बाबर ने 16 अंतरराष्ट्रीय शतक जमाए हैं और वनडे था टी20 में उनका औसत 50 से अधिक है जबकि टेस्ट में उनका औसत 45.12 है. उन्होंने यह भी कहा था कि इंग्लैंड के खिलाफ आगामी सीरीज में किसी एक गेंदबाज को वह निशाना नहीं बनाएंगे. उन्होंने कहा कि मैं यह नहीं देखता कि गेंदबाज कौन है या उसकी कैसी साख है. मैं हर गेंद को उसकी गुणवत्ता के आधार पर खेलता हूं. इंग्लैंड के पास उम्दा गेंदबाज है और उन्हें घर पर खेलने का फायदा मिलेगा लेकिन इस तरह की चुनौती में ही मैं रन बनाना चाहता हूं.

(इनपुट आईएएनएस)

First Published : 15 Jul 2020, 04:01:30 PM

For all the Latest Sports News, Cricket News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

LiveScore Live Scores & Results

वीडियो

×