News Nation Logo
Banner

भाषण से ज्यादा अटल जी के मौन में थी ताकत, वाजपेयी की याद में PM मोदी ने शेयर किया वीडियो

आज देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की दूसरी पुण्यतिथि है. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल बिहारी वाजपेयी को उन्हें श्रद्धांजलि दी.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 16 Aug 2020, 12:31:08 PM
Atal ji  Modi

भाषण से ज्यादा अटल जी के मौन में थी ताकत, PM मोदी ने शेयर किया वीडियो (Photo Credit: Twitter)

नई दिल्ली:

आज देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Atal Bihari Vajpayee) की दूसरी पुण्यतिथि है. इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अटल बिहारी वाजपेयी को उन्हें श्रद्धांजलि दी. प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) ने कहा कि भारत उनकी असाधारण सेवा और देश की प्रगति के लिए उनके प्रयासों को सदा याद रखेगा. इसके साथ ही मोदी ने आज पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी की याद में लगभग दो मिनट का पुरानी तस्वीरों का एक वीडियो ट्विट पर साझा किया है.

यह भी पढ़ें: वाजपेयी के कार्यकाल में पहली बार चरितार्थ हुआ सुशासन: अमित शाह

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट में लिखा है, 'प्रिय अटल जी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि. देश उनकी असाधारण सेवा और देश की प्रगति में उनके प्रयासों को हमेशा याद रखेगा.' प्रधानमंत्री ने जो वीडियो साझा की है, उसमें मोदी की आवाज है. वीडियो में वाजपेयी की राजनीति में उनके लंबे करियर के दौरान तस्वीरों को साझा किया गया है. वीडियो में मोदी कह रहे है, 'यह देश अटल जी के बलिदान को कभी नहीं भूला सकता. उनके नेतृत्व में हमने परमाणु शक्ति के रूप में देश का मस्तक ऊंचा किया. एक राजनेता, एक सांसद, एक मंत्री या प्रधानमंत्री के रूप में अटल जी ने कई भूमिकाओं में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया है.'

वीडियो में मोदी कह रहे हैं, 'अटल जी के जीवन के बारे में कई बेहतरीन बातें कही जा सकती हैं और कोई भी पहलू दूसरे से कम नहीं है. उनके भाषणों की चर्चा हुआ करती थी. लेकिन भविष्य में अगर किसी विशेषज्ञ ने उनके भाषणों का विश्लेषण किया, तो उनकी चुप्पी में ताकत उनके भाषणों की तुलना में कई गुना अधिक मजबूत होगी. वह जनसभा में भी केवल कुछ शब्द बोलने के बाद मौन हो जाते थे और यह बड़ा गजब था, उस जनसभा के आखिरी व्यक्ति को भी उनके मौन में से मैसेज मिल जाता था.

यह भी पढ़ें: मोदी पर राहुल की टिप्पणी से 'लाल' हुई BJP, कहा- वो आगरा में इलाज कराएं

मोदी आगे कहते हैं, 'आज अटल जी को श्रद्धांजलि अर्पित करने का अवसर है. मैं अटल जी को अपनी तरह से श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं.' इस वीडियो को आखिरी में प्रधानमंत्री मोदी की अटल की साथ भी कुछ तस्वीरें हैं. जिनमें से एक तस्वीर में वह पीएम मोदी को वाजपेयी से आशीर्वाद लेते हुए दिखाया गया है.

इस अवसर पर पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी को गृहमंत्री अमित शाह ने देश भक्ति और भारतीय संस्कृति की प्रखर आवाज बताया है. उन्होंने कहा है कि वह एक राष्ट्र समर्पित राजनेता होने के साथ-साथ कुशल संगठक भी थे. उनके प्रधानमंत्री कार्यकाल में देश ने पहली बार सुशासन को चरितार्थ होते देखा. गृहमंत्री अमित शाह ने अटल बिहारी वाजपेयी की पुण्यतिथि पर उन्हें याद करते हुए कहा, 'आज प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार अटल जी के विचारों को केंद्र में रखकर सुशासन व गरीब कल्याण के मार्ग पर अग्रसर है और भारत को विश्व में एक महाशक्ति बनाने के लिए कटिबद्ध है.'

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी की कायरता से चीन की इतनी हिम्मत हुई... राहुल गांधी का हमला

उल्लेखनीय है कि अटल बिहारी वाजपेयी पहले ऐसे प्रधानमंत्री थे, जो बीजेपी नेता थे. उनका 16 अगस्त 2018 को निधन हो गया था. वाजपेयी का जन्म 25 दिसंबर 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर में हुआ था. वह तीन बार भारत के प्रधानमंत्री रहे थे. पहली बार वह 16 मई 1996 को प्रधानमंत्री बने, लेकिन बहुमत साबित नहीं कर पाने के कारण 28 मई 1996 उन्हें इस पद से हटना पड़ा. फिर 19 मार्च 1998 से 17 अप्रैल 1999 तक वाजपेयी प्रधानमंत्री रहे. आखिर में 13 अक्टूबर 1999 से 22 मई 2004 तक सत्ता में रहे थे.

वाजपेयी ने सबसे पहले प्रधानमंत्री के तौर पर 13 दिन, दूसरी बार 408 दिन और तीसरी बार 1847 दिन बिताए थे. सभी कार्यकाल को मिलाकर वह 2268 दिनों तक देश के प्रधानमंत्री रहे. आपको यह भी बता दें कि वाजपेयी को 2015 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था.

First Published : 16 Aug 2020, 12:24:53 PM

For all the Latest Specials News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो