News Nation Logo

D-Company के क्राइम सिंडिकेट में कौन-कौन, नए डॉजियर से खुलासा

भारतीय खुफिया एजेंसियों ने भारत के मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) का एक नया डोजियर (फाइल) तैयार किया है, जो कि मोस्ट वांटेड अपराधी के ग्लोबल ऑपरेशन में महत्वपूर्ण व गहरी जानकारी मुहैया कराता है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 23 Aug 2020, 02:06:25 PM
D Company

दाऊद के खासमखास सिपाहसालारों वाली डी-कंपनी का पुराना फोटो. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

भारतीय खुफिया एजेंसियों ने भारत के मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) का एक नया डोजियर तैयार किया है, जो कि मोस्ट वांटेड अपराधी के ग्लोबल ऑपरेशन में महत्वपूर्ण व गहरी जानकारी मुहैया कराता है. यह न सिर्फ मोस्ट वांटेड के कार्यों के विस्तृत परतों और उसकी कंपनियों के नामों का खुलासा करता है, बल्कि उसके ड्रग्स व्यापर में शामिल कर्मियों से लेकर जुआ/सट्टेबाजी और आतंकवाद (Terrorism) से जुड़े नेटवर्क का भी पदार्फाश करता है. दाऊद की कंपनियों की सूची का भी इस डोजियर में उल्लेख है. हालांकि वो रहता तो पाकिस्तान (Pakistan) में है, लेकिन उसकी सभी जानी मानी कंपनियों का पता दुबई के हैं. उसकी कंपनियों के नाम ओएसिस ऑइल एंड लुब एलसीसी, दुबई, अल-नूर डायमंड्स, दुबई, ओएसिस पावर एलसीसी, दुबई, डोल्फिन कंस्ट्रक्शन, ईस्ट वेस्ट एयरलाइंस (फिलहाल बंद है), किंग वीडियो, दुबई, मोइन गारमेंट्स, दुबई है.

डोजियर में पूरा खुलासा
यह सूची, ड्रग्स से लेकर आतंकी अपराध तक सभी जानकारी अलग-अलग नामों और संबंधित व्यक्तियों की जिम्मेदारियों का विवरण भी देती है. डी-कंपनी को चलाने वाले उसके परिवार के सदस्य और गुर्गों के नाम भी इसमें दिए गए हैं. यहां फिर से आश्चर्यचकित करने वाला नाम डॉक्टर या यू कहें कि जावेद चुटानी का सामने आ रहा है. वह आपराधिक कांडों में बराबर का भागीदार माना गया है. इसके बाद दाऊद का भाई अनीस और छोटा शकील का स्थान है, जो कि अंडरवर्ल्ड डॉन के सबसे भरोसेमंद सहायकों में से हैं.

यह भी पढ़ेंः कैरेबियन देश की नागरिकता पर कराची में दाऊद ने खरीदी कई संपत्तियां

जावेद चुटानी उर्फ डॉक्टर
यह पाकिस्तान का निवासी है, जो लगातार दाऊद के संपर्क में है. वहीं दुबई में भी उसका निवास-स्थान है. विवरण के अनुसार जावेद चुटानी पेशे से सट्टेबाज भी हैं. साथ ही रियल एस्टेट में भी उसकी दिलचस्पी है. वह दाऊद का बहुत करीब है और उसके साथ पारिवारिक संबंध भी हैं. संभावना है कि वह कराची के उसी इलाके में रह रहा है, जहां दाऊद रहता है. जावेद चुटानी की बेटी संभवत: ब्रिटेन में रह रही है, क्योंकि उसे ब्रिटेन के फोन नंबर का प्रयोग करते हुए पाया गया था. उसके वर्तमान जुए का खाता 'कामरान' के नाम से चलता है. वह दिलीप दुबई (दुबई में बसा एक भारतीय) और शोएब (दुबई में बसा एक भारतीय) के संपर्क में है. चुटानी तारिक (दुबई निवासी) और दाऊद के बीच संदेशवाहक का काम भी करता है.

अनीस इब्राहिम
यह दुबई के नंबर का इस्तेमाल करता है. छोटा शकील की बेटी की शादी के लिए उसे एक अज्ञात व्यक्ति को होटलों की बुकिंग के बारे में सूचित करते हुए पाया गया है. हालांकि बुकिंग करने में मुश्किल (शायद आमंत्रितों की अधिक संख्या होने से) होने के कारण उसने होटल की बुकिंग की सुविधा के लिए मुंबई के एक चौधरी से बात की थी. हालांकि दोनों की बातचीत कोडवर्ड में हुई थी, क्योंकि अनीस को 'समझ गया ना' कहता हुआ पाया गया था. इससे पहले अनीस ने दाऊद की बहन हसीना पारकर की मौत के 40वें दिन किसी कलीम के जरिए अली शाह को पैसे भेजे थे.

छोटा शकील
दाऊद का करीबी सहयोगी और प्रमुख गुर्गा छोटा शकील वर्तमान में पाकिस्तान में रह रहा है. हाल ही में उसने एक अज्ञात व्यक्ति (दुबई का निवासी) से संपर्क किया और उसे दाऊद के जन्मदिन समारोह में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था (स्थान का खुलासा नहीं किया गया). वह डोजियर में उल्लेख डी-कंपनी के सभी सदस्यों के संपर्क में है.

यह भी पढ़ेंः देश समाचार न पकड़ा जाता आतंकी यूसुफ तो देश को दहला देता! मिला बारूद से भरा बक्सा

जावेद भाई
यह मोस्ट वांटेड का एक करीबी सहयोगी है, जिसे ज्यादातर मौकों पर दाऊद के साथ देखा जाता है. वह दाऊद के निजी नंबरों पर फोन कॉल भी लेते हुए पाया गया है. उसे जवार भाई और मोती भाई भी कह के बुलाया जाता है. उसे दाऊद की जगह बैंकिंग और भुगतान से जुड़े निर्देश देते देखा गया है. वहीं इसे मुंबई के एक नंबर पर संपर्क करते हुए पाया गया है. यह जावेद भाई जाहिर तौर पर दुबई में दाऊद द्वारा बनाए गए सोसायटीज/अपार्टमेंट की देखरेख करता है. हाल ही में किसी अमर जेबी ने फोन पर जावेद को सूचित किया था कि उसने सोसायटी/अपार्टमेंट में एक फ्लैट/विला खरीदने के लिए तारिक से बात की थी, लेकिन तारिक ने उसे बताया था कि इसके लिए उसे जावेद भाई की अनुमति की आवश्यकता है. इससे स्पष्ट होता है कि जावेद भाई डी-कंपनी के व्यावसायिक मामलों की देखरेख करता है.

तारिक
यह दाऊद का एक महत्वपूर्ण सहयोगी है, जो दुबई में रहता है. वह छोटा शकील और गिरोह के अन्य सदस्यों के संपर्क में है. वह दुबई में दाऊद के संपत्ति और कारोबार को संभालता है. 6 सितंबर, 2014 को एक सूचना के अनुसार तारिक ने पाकिस्तान में किसी से संपर्क किया था और दाऊद के भाई अनीस भाई के बारे में बात की थी. इस बातचीत के अनुसार अनीस शारजाह (दुबई) में रहता है. उसने किसी सिराज से भी संपर्क किया था और छोटा शकील की बेटी की शादी के लिए किए जा रहे प्रबंधों के बारे में बातचीत की थी. उसकी एक गर्लफ्रेंड भी है, जो वर्तमान में नेपाल में रह रही है. यह नेपाली महिला पहले मुंबई की रहने वाली थी और एक ब्यूटी पार्लर में काम करती थी. तारिक वही व्यक्ति है जिसने दाऊद को ब्रिटेन के उसके दोस्त (संभवत: नदीम-श्रवण के संगीतकार जोड़ी का नदीम) की गिरफ्तारी के बारे में सूचित किया था. वह वही व्यक्ति है जिसने दाऊद के लिए 2009/10 मॉडल टोयोटा लैंडक्रूजर्स खरीदा था और उसे पाकिस्तान भेजा था. ये वाहन बुलेट प्रूफ है. वह दाऊद गिरोह के अधिकांश सदस्यों के संपर्क में रहता है. वहीं तारिक के सहयोगी का नाम अल्ताफ है.

इकबाल
यह दाऊद का एक और सहयोगी है. इकबाल कांगो देश के नंबर का उपयोग कर रहा है और दुबई और पाकिस्तान में कंस्ट्रक्शन का कारोबार कर रहा है. एक सूचना के अनुसार इकबाल दाऊद के घर का नवीनीकरण करा रहा है और इसके के लिए कश्मीर से श्रमिकों को लाया गया है. इकबाल ने दाऊद के घर का दौरा किया है और संभवत: कराची में उसका घर है. वह कांगो सहित अफ्रीकी देशों में डी-कंपनी के कामों को संभाल रहा है. एक कॉल के अनुसार इकबाल तंजानिया में रहता है, जबकि उसका परिवार पाकिस्तान में रहता है. उसके बड़े बेटे का नाम यासिर उर्फ आसिफ है. दूसरे बेटे का नाम मुस्तफा है. उसकी बेटी का नाम सना है. वहीं मोहसिन पाकिस्तान में इकबाल का ड्राइवर और सुपरवाइजर है. वह दुबई के तारिक के संपर्क में भी रहता है.

यह भी पढ़ेंः ISIS आतंकी अबू यूसुफ के घर से बरामद दो मानव बम जैकेट, पूछताछ जारी

अहमद जमाल
यह कराची में रहने वाला दाऊद का करीबी सहयोगी है. उसकी बेटी की शादी 2014 में हुई थी. दाऊद ने इकबाल को 9 और 13 अगस्त 2014 को शादी में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था. इस शादी के लिए अहमद जमाल ने सऊदी अरब के किसी माजिद बाबा को भी आमंत्रित किया था. यह माजिद बाबा पहले छोटा शकील के संपर्क में था और उसकी भाषा से लगता है कि माजिद एक भारतीय है.

फिरोज
यह मोस्ट वांटेड के व्यवसाय का एक महत्वपूर्ण सदस्य है. यह छोटा शकील के संपर्क में है और दुबई में रहता है. फिरोज दाऊद गिरोह के कवर बिजनेल को संभाल रहा है. संभवत: फिरोज ही दाऊद की कंपनी ओएसिस ऑइल एंड लुब एलसीसी को संभालता है, वहीं उसे फिरोज ओएसिस कह कर संबोधित किया जाता है. ऐसी संभावना है कि वह एक दक्षिण भारतीय है और बहुत शिक्षित है. वह तमिल, अरबी, अंग्रेजी और हिंदी बोल सकता हैं. फिरोज के दक्षिण भारत और मुंबई में संपर्क हैं. जानकारी के अनुसार फिरोज ही अल नूर डायमंड्स की देखरेख कर रहा है. वह अफ्रीका से हीरे की तस्करी भी करता है. वहीं एक रहमत नामक व्यक्ति अफ्रीकी सेल नंबर का उपयोग करता है और दुबई में सेफ डिलिवरी के लिए एमिरेट्स एयरलाइंस का उपयोग करके अफ्रीका से हीरों का परिवहन करने में अफ्रीकी नागरिकों को शामिल करता है. प्रत्येक ट्रिप में करीब 4/5 लाख डॉलर के हीरे दुबई में तस्करी किए जाते हैं और कूरियर शुल्क के रूप में अफ्रीकी कूरियर को 10,000 डॉलर का भुगतान किया जाता है. उसकी दो पत्नियां हैं एक भारतीय और एक पाकिस्तानी. उसकी मुंबई में भी संपत्ति है.

सिराज
यह पाकिस्तान में रहता है और दाऊद, छोटा शकील और तारिक का सहयोगी है. उसने तारिक से संपर्क कर 600-650 मुद्रा (शायद दाऊद के 60वें जन्मदिन के उत्सव से जुड़ा) के लिए नाश्ते की पार्टी की व्यवस्था के बारे में बात की थी.

यह भी पढ़ेंः ISIS आतंकी यूसुफ की पत्नी ने किया बड़ा खुलासा, यूट्यूब पर सीखा बम बनाना

अहमद
यह छोटा शकील के लिए काम कर रहा है. इसका प्रमुख काम विभिन्न व्यवसायियों से पैसों का कलेक्शन करना है. हाल ही में छोटा शकील ने अहमद से काम के बारे में बातचीत की थी, जिस पर अहमद ने बताया था कि एक कंपनी (शायद डीडी ग्रुप) के मालिक विनोद, जॉन और राजीव, (शायद इस कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी) वर्तमान में मुंबई में नहीं हैं. इसके बाद अहमद ने इस कंपनी के कुछ अन्य कर्मचारियों जैसे संतोष और सुरेश से बात की थी और छोटा शकील को सूचित किया कि उनका 50 प्रतिशत काम 'हो गया है'. इसके बाद छोटा शकील ने उससे कहा था कि उन्हें पूरा पैसा देने के लिए कहो (शायद प्रोटेक्शन मनी).

फहीम
इसका पूरा नाम संभवत: फहीम मचमच है. वह छोटा शकील के साथ कराची में रह रहा है. वह एक जवाहर और रमेश के बीच पैसे के विवाद को सुलझाने के बारे में श्याम केशवानी के संपर्क में पाया गया है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 23 Aug 2020, 02:06:25 PM

For all the Latest Specials News, Exclusive News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.