News Nation Logo
Quick Heal चुनाव 2022

अंतरिक्ष यात्रियों ने स्पेस स्टेशन के बाहर पहले सोलर पैनल को किया इंस्टॉल

नया आईरोसा इस महीने की शुरूआत में स्पेसएक्स ड्रैगन अंतरिक्ष यान द्वारा आईएसएस को दिया गया था. किम्ब्रू और पेस्केट ने सोलर पैनल को अनफोल्ड किया.

IANS | Edited By : Dhirendra Kumar | Updated on: 21 Jun 2021, 03:38:15 PM
Space Station

Space Station (Photo Credit: IANS )

highlights

  • नया आईरोसा इस महीने की शुरूआत में स्पेसएक्स ड्रैगन अंतरिक्ष यान द्वारा आईएसएस को दिया गया था
  • इंस्टॉलेशन के लिए फ्लाइट सपोर्ट स्ट्रक्च र से दूसरे आईरोसा को लगाने के लिए हार्डवेयर के काम को पूरा किया

वॉशिंगटन :

अंतर्राष्ट्रीय स्पेस स्टेशन (International Space Station) पर उतरे दो अंतरिक्ष यात्रियों ने सफलतापूर्वक सोलर पैनल को इंस्टॉल करने का काम पूरा कर लिया है. ये सूरज से प्राप्त उर्जा को अपने में सोखकर हर दिन किए जाने वाले तमाम वैज्ञानिक अनुसंधान संबंधी कार्यों के लिए बिजली प्रदान करेगा और साथ ही स्पेस स्टेशन के संचालन के काम में भी मदद देगा. नासा के अंतरिक्ष यात्री शेन किम्ब्रू (Shane Kimbrough) और ईएसए (यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी) के अंतरिक्ष यात्री थॉमस पेस्केट (Thomas Pesquet) ने साल के अपने आठवें स्पेसवॉक में आईएसएस के बाहर स्टेशन के बैकबोन ट्रस स्ट्रक्च र (पी6) के बाईं ओर (पोर्ट) के अंतिम छोर पर नए आईएसएस रोल-आउट सोलर एरे (आईआरओएसए) को इंस्टॉल किया है.

यह भी पढ़ें: Coronavirus (Covid-19): सिर्फ 15 मिनट में पता चल जाएगा कोविड है या नहीं, आ गई नई टेस्टिंग किट

किम्ब्रू और पेस्केट ने सोलर पैनल को अनफोल्ड किया
नया आईरोसा इस महीने की शुरूआत में स्पेसएक्स ड्रैगन अंतरिक्ष यान द्वारा आईएसएस को दिया गया था.

यह भी पढ़ें: Google के इस कदम से करीब तीन अरब Android यूजर्स को होगा फायदा, बगैर इंटरनेट सिग्नल के भी मिल जाएगा फोन

किम्ब्रू और पेस्केट ने सोलर पैनल को अनफोल्ड किया, इसे अपने स्थान पर लगाया और इंस्टॉलेशन के काम को पूरा करने के लिए स्टेशन के पावर सप्लाई से केबल को जोड़ा.

यह भी पढ़ें: ब्रह्मांड की उत्पत्ति समेत इन रहस्यों का खुलेगा राज? वैज्ञानिकों ने दिया यह संकेत

इसके अलावा, अंतरिक्ष यात्रियों ने इंस्टॉलेशन के लिए फ्लाइट सपोर्ट स्ट्रक्च र से दूसरे आईरोसा को लगाने के लिए हार्डवेयर के काम को भी पूरा किया.

यह भी पढ़ें: 11 करोड़ साल पहले इंग्लैंड का यह इलाका गढ़ होता था डायनासोर्स का

यह जोड़ी 25 जून के लिए संभावित रूप से निर्धारित एक अन्य स्पेसवॉक के दौरान दूसरे सौर सरणी उन्नयन की दिशा में काम करेगी. इसे पी6 ट्रस के 4बी पावर चैनल पर बिठाया गया है.

यह भी पढ़ें: फेसबुक को संसदीय पैनल का कड़ा संदेश- टीका लगवाएं और सामने हाजिर हों

First Published : 21 Jun 2021, 03:38:15 PM

For all the Latest Science & Tech News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.