News Nation Logo
Banner

दादी की गोद में खाना खा रही बच्ची को जबड़े में दबोचकर ले गया तेंदुआ, इस हालत में मिली लाश

शाम के करीब 3-4 बजे श्रेया को भूख लगी तो दादी उसे गोद में बिठाकर खाना खिलाने लगी. इसी दौरान जंगल से निकलकर आया तेंदुआ दादी की गोद से मासूम को अपने जबड़े में दबोचकर भाग गया.

News Nation Bureau | Edited By : Sunil Chaurasia | Updated on: 20 Nov 2020, 12:36:26 PM
leopard wiki

सांकेतिक तस्वीर (Photo Credit: Wikipedia)

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के बहराइच से एक बेहद ही खौफनाक मामला सामने आया है. बहराइच में स्थित कतर्नियाघाट वन्यजीव प्रभाग का एक तेंदुआ पास के गांव में रहने वाली 5 साल की बच्ची को अपना निवाला बना लिया. दरअसल, मुर्तिहा रेंज के अंतर्गत आने वाले जंगल से सटे गोलहना गांव की सुमित्रा गुरुवार दोपहर अपनी पोती श्रेया (05) को साथ लेकर खेत में काम करने गई थी. शाम के करीब 3-4 बजे श्रेया को भूख लगी तो दादी उसे गोद में बिठाकर खाना खिलाने लगी. इसी दौरान जंगल से निकलकर आया तेंदुआ दादी की गोद से मासूम को अपने जबड़े में दबोचकर जंगल की ओर भाग गया.

ये भी पढ़ें- छत फाड़कर घर में आ गिरी ऐसी चीज, रातों-रात 10 करोड़ रुपये का मालिक बन गया शख्स

जिसके अगले दिन यानि शुक्रवार को सुबह बच्ची का शव क्षत-विक्षत हालत में जंगल में पाया गया. बच्ची की दर्दनाक मौत से ग्रामीणों में आक्रोश है. पुलिस अधीक्षक विपिन मिश्र ने बताया कि सूचना मिलने पर काफी संख्या में आक्रोशित ग्रामीण एकत्रित हो गए. मामले की जानकारी मिलने के बाद वनकर्मी भी मौके पर पहुंचे. जिसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने वनकर्मियों पर पथराव कर दिया. पथराव में वन दरोगा समेत कुल पांच वनकर्मी घायल हुए हैं.

ये भी पढ़ें- मालगाड़ी पर चढ़कर सेल्फी ले रहा था लड़का, 25000 वोल्ट के तार ने चूस लिया शरीर का सारा खून

वन विभाग के एक वाहन को भी ग्रामीणों ने पलट दिया और कुछ अन्य वाहनों में तोड़फोड़ की है. उन्होंने बताया कि रात में दो वन दरोगा लापता बताए गए थे जो सुबह वापस आ गए. दरअसल ये दोनों ग्रामीणों के हमले से बचने के लिए झाड़ियों के पीछे छिप गए थे. ताजा जानकारी के मुताबिक अभी भी सैकड़ों ग्रामीण इकट्ठा हैं, जिससे गांव में तनाव बना हुआ है.

ये भी पढ़ें- मुंबई में 'कराची' देख भड़के शिवसेना नेता, सुना दिया हटाने का फरमान

एसपी ने बताया कि सात वन रेंजों के वनकर्मी, पुलिस उपाधीक्षक व आसपास के थानों की पुलिस घटनास्थल पर कैम्प कर रही है. प्रभागीय वनाधिकारी यशवंत सिंह ने शुक्रवार को बताया कि "ग्रामीणों ने वन विभाग के एक फारेस्टर को बंधक बना कर उसकी पिटाई भी की है." सिंह ने बताया, "सुबह बच्ची का क्षत विक्षत शव बरामद हुआ है. उम्मीद है कि अब माहौल शांत होगा. माहौल को शांत करने के लिए शव के शीघ्र पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल प्रशासन से आग्रह किया गया है. साथ ही ग्रामीणों को समझाने की कोशिशें जारी हैं."

ये भी पढ़ें- 12 साल की नन्ही बच्ची को है अजीबो-गरीब बीमारी, नहाने से भी हो सकती है मौत

उन्होंने बताया, "ग्रामीणों द्वारा वन विभाग की सलाह ना मानने के कारण भी इस तरह की घटनाएं हो जाती हैं. ग्रामीणों को जंगल से सटे इलाके में बच्चों को ना ले जाने और समूह में ही घरों से निकलने की सलाह दी जाती रही है. डीएफओ ने कहा "फिलहाल ग्रामीण आक्रोशित हैं. उन्हें समझा-बुझा कर और पुलिस की सहायता से शांत करने का प्रयास जारी है. घटना गंभीर है, सरकारी कर्मियों पर हमला हुआ है तो बाद में इस संबंध में रेंज केस व पुलिस केस दर्ज कराया जाएगा."

First Published : 20 Nov 2020, 12:36:26 PM

For all the Latest Offbeat News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो