News Nation Logo

WHO का अलर्ट: वैक्सीन ले चुके लोगों को भी संक्रमित कर रहा Delta Plus Variants, जानिए लक्षण

विश्व स्वास्थ्य संगठन ( WHO) के प्रमुख टेड्रस अधनोम ने इसको अब तक सबसे ज्यादा संक्रामक वेरिएंट बताया है

News Nation Bureau | Edited By : Mohit Sharma | Updated on: 26 Jun 2021, 06:38:42 PM
Untitled

delta plus variant (Photo Credit: news nation)

highlights

  • Delta Plus Variant अब दुनिया भर के तमाम देशों के लिए चिंता का कारण बना
  • अब तक लगभग 85 देशों में इस घातक डेल्टा वेरिएंट की पहचान की जा चुकी है
  • WHO के प्रमुख टेड्रस अधनोम ने इसको सबसे ज्यादा संक्रामक वेरिएंट बताया

नई दिल्ली:

कोरोना संक्रमण से रोकथाम को लेकर जारी वैक्सीनेशन ( Corona Vaccination ) के बावजूद इस जानलेवा वायरस का प्रकोप कम होता नजर नहीं आ रहा है. नए-नए रूप बदल रहा कोरोना वायरस का डेल्टा प्लस वेरिएंट ( Delta Plus Variant) अब भारत समेत दुनिया भर के तमाम देशों के लिए चिंता का कारण बना हुआ है. अब तक लगभग 85 देशों में इस घातक डेल्टा वेरिएंट की पहचान की जा चुकी है. इसकी गंभीरता का पता इस बात से लगाया जा सकता है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रमुख टेड्रस अधनोम ने इसको अब तक का सबसे ज्यादा संक्रामक वेरिएंट बताया है. यहां तक जो यह वैक्सीन ले चुके लोगों को भी तेजी से अपना शिकार बना रहा है. WHO ने इस वेरिएंट को लेकर चिंता जाहिर की है.

यह भी पढ़ेंः चिराग पासवान बोले- मेरे पिता और लालू हमेशा करीबी दोस्त रहे हैं, लेकिन...

पूरी दुनिया कोरोना के Delta Plus Variant को लेकर गहरी चिंता में

शुक्रवार को एक प्रेस वार्ता में WHO के डायरेक्टर जनरल ने कहा कि मैं जानता हूं कि इस समय पूरी दुनिया कोरोना के Delta Plus Variant को लेकर गहरी चिंता में है. उन्होंने कहा कि इस वेरिएंट से खुद WHO भी चिंतित है. टेड्रस अधनोम के अनुसार डेल्टा एक बेहद संक्रामक वेरिएंट है, जो अब तक लगभग 85 देशों को अपनी जद में ले चुका है. सबसे बड़ी चिंता की बात यह है कि ये वैक्सीनेट लोगो को भी अपनी चपेट में ले रहा है. WHO ने चेतावनी दी है कि सार्वजनिक स्वास्थ्य और सोशल डिस्टेंसिंग में ढील कोरोना संंक्रमण को पनपने का मौका देते हैं.  उन्होंने आगे कहा कि संक्रमण फैलने से अस्पतालों में भर्ती के मामले भी बढऩे लगते हैं. हेल्थ सिस्टम पर ज्यादा दबाव बढ़ता है. ये भी कारण कोरोना से होने वाली मौतों के लिए उत्तरदायी होते हैं. 

यह भी पढ़ेंः महाराष्ट्र: कोर्ट ने पलांडे और शिंदे को 1 जुलाई तक ED की कस्टडी में भेजा

Delta Plus Variant कोरोना का बेहद खतरनाक वेरिएंट

टेड्रस ने कहा कि डेल्टा वेरिएंट से संक्रमित होने की संभावनाएं अपेक्षाकृत ज्यादा हैं. इस तरह के वेरिएंट अपने आप विकसित होते रहते हैं. हालांकि संक्रमण पर ब्रेक लगाकर वेरिएंट के बनने को रोका जा सकता है. वहीं, WHO की कोविड टेक्निकल लीड डॉ. मारिया वैन करखोव की माने तो डेल्टा कोरोना का बेहद खतरनाक वेरिएंट है. उन्होंने कहा कि यह अल्फा वेरिएंट से भी ज्यादा संक्रामक है. दुनियाभर में इसके केस तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. 

यह भी पढ़ेंः LAC पर चीन के खिलाफ सैन्य तैयारियों का जायजा लेंगे रक्षामंत्री राजनाथ

क्या है Delta Plus Variant के लक्षण-

डॉक्टरों की मानें तो Delta Plus Variant के लक्षण कोरोना वायरस के सामान्य लक्षणों से काफी अलग हैं. इनमें जैसे- 

  • सुनने की क्षमता कमजोर पडऩा
  • पेट में खराबी
  • खून में थक्के जमना
  • गैंग्रीन जैसे लक्षण 

First Published : 26 Jun 2021, 06:18:10 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.