logo-image
लोकसभा चुनाव

देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने भारत के लिए क्या दिया योगदान?

Pt. Jawaharlal Nehru: पंडित जवाहरलाल नेहरू भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक प्रमुख नेता के रूप में आदर्शवाद, धर्मनिरपेक्षता, और विकास के लिए उठाए गए कई मुद्दों को प्रोत्साहित किया.

Updated on: 15 Jan 2024, 02:16 PM

नई दिल्ली:

Pt. Jawaharlal Nehru: पंडित जवाहरलाल नेहरू, भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान नेता और भारत के पहले प्रधानमंत्री थे. उनका जन्म 14 नवंबर 1889 को इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश, में हुआ था. उनके पिता का नाम मोतीलाल नेहरू था, जो भी एक प्रमुख स्वतंत्रता सेनानी थे. नेहरू ने अपनी शिक्षा को इंग्लैंड में केम्ब्रिज विश्वविद्यालय में पूरा किया और वहां से उन्होंने नए आदान-प्रदानों को सीखा. विदेश में रहकर उन्होंने भारतीय समाज के उत्थान और स्वतंत्रता के लिए काम करने का संकल्प किया. नेहरू ने महात्मा गांधी के साथ मिलकर स्वतंत्रता संग्राम में अपना योगदान दिया और उन्होंने बड़ी भूमिका निभाई.

ये भी पढ़ें: Republic Day 2024 : तिरंगे का हर अंग देता है संदेश, हर भारतीय के लिए जानना है जरूरी

उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के एक प्रमुख नेता के रूप में आदर्शवाद, धर्मनिरपेक्षता, और विकास के लिए उठाए गए कई मुद्दों को प्रोत्साहित किया. स्वतंत्रता मिलने के बाद, नेहरू को भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप में चुना गया. उनका कार्यकाल 15 अगस्त 1947 से लेकर 27 मई 1964 तक चला. इस अवधि में, उन्होंने शिक्षा, विज्ञान, और औद्योगिकी के क्षेत्र में महत्वपूर्ण प्रगति को प्रोत्साहित किया, और उनकी पंचवर्षीय योजना ने देश को आर्थिक समृद्धि की दिशा में बढ़ने में मदद की. नेहरू ने भारतीय समाज को धरोहर, साहित्य, और कला की महत्वपूर्णता को समझाने का प्रयास किया और उन्होंने नए भारत की रचना में अपना सकारात्मक योगदान दिया. उनके निधन से एक एक युग का अंत हो गया, लेकिन उनका योगदान आज भी भारतीय इतिहास में अमूर्त्य है और उन्हें बच्चों से लेकर बड़ों तक प्रिय नेता माना जाता है.

शिक्षा और विज्ञान: नेहरू ने शिक्षा और विज्ञान को प्राथमिकता दी और नई विश्वविद्यालयों की स्थापना की, जैसे कि अलाहाबाद विश्वविद्यालय और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय.

आर्थिक निर्माण: उन्होंने पंचवर्षीय योजना शुरू की, जिसमें देश की आर्थिक निर्माण को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में नौ सौ करोड़ रुपये से अधिक का निवेश किया गया.

ये भी पढ़ें: भारत के पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद का देश के लिए क्या योगदान है?

इंफ्रास्ट्रक्चर विकास: नेहरू ने इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास के लिए कई परियोजनाएं शुरू की, जैसे कि भारतीय रेलवे, भारतीय वायुसेना, और भारतीय नौसेना को मजबूत करने के लिए कई कदम उठाए.

पंचशील और विश्व नेतृत्व: नेहरू ने भारत को विश्व में महत्वपूर्ण स्थान पर रखने के लिए विश्व नेतृत्व की दिशा में कई कदम उठाए, जैसे कि पंचशील की प्रवृत्ति की, जो भारतीय नीति में शामिल है.

आर्थिक योजनाएं: नेहरू ने भारतीय गाँधी नेशनल राजमंडल योजना, खादी और गाँधी स्वयंसेवक संघ, और खादी और गांधी स्मृति योजना जैसी आर्थिक योजनाएं शुरू कीं.

ये भी पढ़ें: Video: कश्मीरी छात्रा ने पहाड़ी भाषा में गाया राम भजन, जमकर तारीफ कर रहे लोग

ग्रामीण विकास: ग्रामीण विकास के लिए उन्होंने कई योजनाएं आरंभ कीं, जैसे कि नेहरूग्राम योजना और ग्रामीण उद्यान योजना.

सामाजिक न्याय और निर्वाचन: नेहरू ने सामाजिक न्याय को बढ़ावा देने के लिए भी कई कदम उठाए, जैसे कि हिन्दी और अंग्रेजी के साथ निर्वाचन करने का प्रयास किया.

पंडित जवाहरलाल नेहरू ने भारतीय समाज को एक मौलिक स्वरूप में समझने का प्रयास किया और उनके योजनाओं ने देश को एक नए उच्चतम स्तर पर ले जाने में मदद की. उनका योगदान भारतीय इतिहास में महत्वपूर्ण है और उन्हें देश के प्रथम प्रधानमंत्री के रूप में याद किया जाता है.

ये भी पढ़ें: Indian Army Day 2024: आखिर क्या है सेना दिवस मनाने के पीछे की वजह, जानें 15 जनवरी का महत्व