News Nation Logo

BREAKING

Banner

'बंगाल दूसरा कश्मीर है, बीजेपी कार्यकर्ता छड़ी लेकर चलें ताकि पलटवार कर सकें'

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उत्साह में आकर घोष बंगाल को 'दूसरा कश्मीर' कह गए. यही नहीं, बीजेपी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से हो रही हिंसा पर भी वह काफी मुखर नजर आए.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 26 Nov 2020, 10:50:07 AM
Dilip Ghosh

दिलीप घोष ने बंगाल को दूसरा कश्मीर बता दिया विवादों को न्योता. (Photo Credit: न्यूज नेशन.)

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने इस बार नए विवादों को जन्म दे दिया है. विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उत्साह में आकर घोष बंगाल को 'दूसरा कश्मीर' कह गए. यही नहीं, बीजेपी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से हो रही हिंसा पर भी वह काफी मुखर नजर आए. उन्होंने  आरोप लगाया कि जब भगवा दल के कार्यकर्ता बीरभूम जिले में उनकी रैली में हिस्सा लेने आ रहे थे, तब उन पर टीएमसी कार्यकर्ताओं ने हमला किया. इसके बाद घोष ने पार्टी के कार्यकर्ताओं से छड़ी लेकर सड़क पर निकलने को कहा ताकि जरूरत पड़ने पर पलटवार किया जा सके. इस तरह दिलीप घोष ने एक नए विवाद को जन्म दे दिया है. घोष बीरभूम में एक 'चा-चक्र' (एक कप चाय पर एक स्पष्ट बातचीत सत्र) कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. राज्य में अगले साल अप्रैल-मई में विधानसभा चुनाव होने हैं.

यह भी पढ़ेंः भारत से तनाव के बीच शी ने सेना को युद्ध लिए तैयार रहने का आदेश दिया

सूरी में आयोजित पार्टी की एक रैली में घोष ने दावा किया कि बीजेपी के सत्ता में आने पर तृणमूल कांग्रेस के कई नेता जेल में होंगे. उन्होंने कहा, 'हमारे जो कार्यकर्ता सभा में हिस्सा लेने आ रहे थे उनपर तृणमूल कांग्रेस ने हमला किया. बीजेपी के कार्यकर्ता मार खाने के लिए पैदा नहीं हुए हैं. मैं आग्रह करता हूं कि पार्टी कार्यकर्ता खाली हाथ सड़कों पर नहीं निकले. वे छड़ी लेकर निकलें ताकि जरूरत पड़ने पर जवाबी हमला किया जा सके.' बीरभूम जिले के सिमुलिया में दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं के बीच तब संघर्ष हो गया जब मिनी बस में रैली में हिस्सा लेने जा रहे बीजेपी के कार्यकर्ताओं का तृणमूल कांग्रेस के स्थानीय नेताओं से झगड़ा हो गया.

यह भी पढ़ेंः निवार तमिलनाडु-पुडुचेरी की ओर बढ़ा, चेन्नई, कुड्डलोर में तेज हवाएं

घोष ने कहा, 'बंगाल में हर जगह अशांति है. पुलिस और प्रशासन अप्रभावी हो गया है, क्योंकि उन्हें तृणमूल कांग्रेस के नेता चला रहे हैं. राज्य में जब बीजेपी सत्ता में आएगी तो तृणमूल कांग्रेस के कई नेता जेल में होंगे.' घोष ने कहा, 'बीरभूम जिले में बम बनाने की कई इकाइयां पता चली हैं और आतंकवादी गिरफ्तार हुए हैं. अभी यहां की स्थिति वैसी है जैसी कश्मीर में हुआ करती थी.' मेदिनीपुर के सांसद ने कहा कि 2021 के चुनाव में सत्ता परिवर्तन होना जरूरी है. ऐसा नहीं होने पर लोगों का बंगाल में रहना मुश्किल हो जाएगा. बीजेपी प्रदेश प्रमुख ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार की ओर से भेजा गया पैसा लोगों के हाथों में नहीं पहुंचता है. उसे तृणमूल कांग्रेस के नेता लूट लेते हैं.

यह भी पढ़ेंः अगर आज बैंकों से जुड़े कामकाज निपटाने जा रहे हैं तो यह खबर जरूर पढ़ लीजिए

भारतीय जनता पार्टी के नेता ने कहा, 'बंगाल दूसरे कश्मीर में बदल गया है. हर दिन आतंकवादियों को विभिन्न जिलों से गिरफ्तार किया जा रहा है. हर दिन अवैध बम बनाने वाले कारखानों का पता लगाया जा रहा है.' भाजपा की राज्य इकाई के प्रमुख ने कहा कि राज्य भर में भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ झूठे मामले दर्ज किए जा रहे हैं. घोष ने कहा, 'राज्य सरकार के कारण कई विकास परियोजनाएं ठप हो रही हैं.' वहीं तृणमूल कांग्रेस के नेता सौगत रॉय ने कहा, 'राज्य के भाजपा अध्यक्ष चुनाव के करीब आते ही बेबुनियाद और गैरजिम्मेदाराना बयान दे रहे हैं.' कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पार्टी के राज्यसभा सदस्य प्रदीप भट्टाचार्य ने भी घोष के दावे को खारिज कर दिया. 

First Published : 26 Nov 2020, 09:18:31 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.