News Nation Logo

ममता पर ‘हमले’ के बाद TMC ने घोषणापत्र जारी करने का कार्यक्रम टाला

घटना के विरोध में तृणमूल कांग्रेस (TMC) शुक्रवार को पूरे बंगाल में काले झंडों के साथ मौन प्रदर्शन करने की तैयारी में है. इसके अलावा टीएमसी सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल दिल्‍ली में चुनाव आयोग (Election Commission) के अधिकारियों से मिलने भी जा रहा है.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 12 Mar 2021, 06:40:22 AM
Mamata Banerjee

ममता बनर्जी पर कथित हमले के बाद मचा हुआ है घमासान. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • ममता बनर्जी के कथित हमले पर सियासत तेज हुई
  • टीएमसी और चुनाव आयोग में भी इस मसले पर ठनी
  • टीएमसी ने घोषणापत्र जारी करने का कार्यक्रम टाला

कोलकाता:

पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) के पैर में कथित हमले के बाद नंदीग्राम (Nandigram) में लगी चोट को लेकर सियासत तेज होती जा रही है. इस घटना के विरोध में तृणमूल कांग्रेस (TMC) शुक्रवार को पूरे बंगाल में काले झंडों के साथ मौन प्रदर्शन करने की तैयारी में है. इसके अलावा टीएमसी सांसदों का एक प्रतिनिधिमंडल दिल्‍ली में चुनाव आयोग (Election Commission) के अधिकारियों से मिलने भी जा रहा है. इस बीच तृणमूल कांग्रेस ने राज्य में आगामी चुनाव के लिए अपना घोषणा पत्र जारी करने का कार्यक्रम टाल दिया है. इधर चुनाव आयोग ने टीएमसी की चिट्ठी पर बेहद कड़ा जवाब दिया है. आयोग का कहना है कि कानून व्‍यवस्‍था राज्य की जिम्मेदारी होती है.

'संकेत मिलने के बावजूद ममता को नहीं दी गई सुरक्षा'
गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने मंगलवार को वीरेंद्र को पश्चिम बंगाल के पुलिस महानिदेशक पद से तत्काल प्रभाव से हटाने का आदेश दिया था और उनकी जगह पी नीरजनयन को नियुक्त किया था. तृणमूल महासचिव पार्थ चटर्जी ने दावा किया कि वरिष्ठ बीजेपी नेताओं के कई बयानों से ये पर्याप्त संकेत मिले थे कि ममता पर हमला हो सकता है और ये जानकारियां होने के बावजूद मुख्यमंत्री को पर्याप्त सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई. टीएमसी ने यह भी आरोप लगाया था कि बंगाल के डीजीपी वीरेंद्र को हटाए जाने के एक दिन बाद ही नंदीग्राम में ममता बनर्जी पर हमला हो गया. टीएमसी नेताओं ने यह भी कहा था कि बीजेपी के एक सांसद ने डीजीपी को हटाए जाने के बाद कहा था कि अब 10 मार्च को देखिए क्‍या होता है.

यह भी पढ़ेंः TMC की शिकायत पर EC का जवाब, CM की सुरक्षा के लिए राज्य सरकार जिम्मेदार

टाला घोषणापत्र जारी करने का कार्यक्रम
इस घमासान के बीच पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर कथित हमले के बाद तृणमूल कांग्रेस ने राज्य में आगामी चुनाव के लिए अपना घोषणा पत्र जारी करने का कार्यक्रम टाल दिया है. पार्टी के नेताओं ने इस बारे में बताया. पार्टी अध्यक्ष बनर्जी द्वारा कालीघाट में अपने आवास पर बृहस्पतिवार दोपहर को घोषणापत्र जारी करने का कार्यक्रम था. तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया, 'घोषणापत्र जारी करने के कार्यक्रम को कुछ समय के लिए टाल दिया गया है. ममता बनर्जी के ठीक होने और घर वापस आने के बाद इसे जारी किया जाएगा. हमारा घोषणापत्र तैयार है, लेकिन मुख्यमंत्री की गैरमौजूदगी में इसे जारी करने का सवाल ही नहीं उठता.'

यह भी पढ़ेंः  गाजियाबाद: फैक्ट्री में लगी आग, 7 लोगों की झुलसने की खबर

दीदी का एसएसकेएम अस्पताल में चल रहा है इलाज
ममता बनर्जी एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती हैं. डॉक्टरों ने बताया कि मुख्यमंत्री के बायें पैर के टखने तथा पांव की हड्डियों में गंभीर चोट आयी हैं और उनके दायें कंधे, हाथ तथा गले पर भी चोट लगी है और उनका उपचार चल रहा है. मुख्यमंत्री ने बुधवार को आरोप लगाया कि नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान 'चार-पांच लोगों' द्वारा कथित रूप से धक्का दिये जाने की वजह से उनको चोट लगी है. बनर्जी ने पांच मार्च को पार्टी के 291 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी. पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में 27 मार्च से मतदान शुरू होगा. मतगणना दो मई को होगी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 12 Mar 2021, 06:35:00 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो