News Nation Logo
Banner

सुप्रीम कोर्ट ने पराली जलाने की घटनाएं रोकने के लिए नए आयोग का गठन किया

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में पराली जलाने (Stubble Burning) की घटनाओं को रोकने और इसकी निगरानी के लिए सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस मदन लोकुर की अध्यक्षता में  एक सदस्यीय आयोग का गठन किया है.

Written By : अरविंद सिंह | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 16 Oct 2020, 01:58:59 PM
Supreme Court

सुप्रीम कोर्ट (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली एनसीआर में बढ़ते वायु प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने नए आयोग का गठन किया है. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश में पराली जलाने (Stubble Burning) की घटनाओं को रोकने और इसकी निगरानी के लिए सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस मदन लोकुर की अध्यक्षता में  एक सदस्यीय आयोग का गठन किया है.

यह भी पढ़ेंः PM मोदी का 23 अक्टूबर से बिहार में ताबड़तोड़ चुनावी अभियान, 12 रैलियों को करेंगे संबोधित

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के चीफ सेकेट्री उन्हें सहयोग करेंगे. कोर्ट ने आदेश दिया कि संबंधित राज्य उन्हें काम में मदद के लिए ज़रूरी स्टाफ और ट्रांसपोर्ट उपलब्ध करेगी. पहले से राज्यो में काम रही कमेटी भी जस्टिस लोकुर की कमेटी को रिपोर्ट करेगी. नई कमेटी हर 15 दिन में सुप्रीम कोर्ट में अपनी रिपोर्ट जमा कराएगी.  

यह भी पढ़ेंः Hathras Case : एसआईटी जांच पूरी, सरकार को जल्द सौंप सकती है रिपोर्ट

एनसीसी और एनएसएस के वॉलंटियर करेंगे सहयोग
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इन राज्यों में NCC, NSS, भारत स्काउट और गाइड पराली जलाने जैसी घटनाओ की मॉनिटरिंग में सहायता के लिए तैनात की जाएगी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हमारी चिंता है कि दिल्ली एनसीआर में रह रहे लोगों को सांस लेने के लिए स्वच्छ हवा उपलब्ध रहे. इस मामले में अगली सुनवाई 26 अक्टूबर को की जाएगी.

First Published : 16 Oct 2020, 01:58:59 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो