logo-image
लोकसभा चुनाव

सिक्किम के CM प्रेम सिंह तमांग की पत्नी कृष्णा कुमारी राय ने दिया विधायक पद से इस्तीफा, जानें क्यों?

Krishna Kumari Rai resigns: सिक्किम के सीएम प्रेम सिंह तमांग की पत्नी कृष्णा कुमारी राय ने शपथ लेने के दूसरे दिन ही विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने अपने इस्तीफे का कारण भी बताया है.

Updated on: 14 Jun 2024, 06:04 AM

New Delhi:

Krishna Kumari Rai resigns: सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग की पत्नी कृष्णा कुमारी राय ने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया हैं. उन्होंने शपथ लेने के एक दिन बाद ही नामची सिंघीथांग विधानसभा सीट से अपना इस्तीफा दे दिया. बता दें कि कृष्णा कुमारी राय ने हाल ही में हुए राज्य विधानसभा चुनाव में जीत हासिल की थी. गौरतलब हैं कि इस विधानसभा चुनाव में सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (एसकेएम) ने राज्य की कुल 32 विधानसभा सीटों में से 31 पर जीत हासिल की थी.

वहीं राज्य की एकमात्र लोकसभा सीट पर भी जीत हासिल की है. कृष्णा कुमारी राय ने इस साल पहली बार विधानसभा चुनाव लड़ा था. उन्होंने 5,302 मतों से जीत हासिल की थी. उन्हें कुल 71.6 प्रतिशत वोट मिले थे, वहीं सीएम तमांग के बाद जीत के मामले में दूसरे स्थान पर रहीं थीं. वहीं सीएम तमांग को सोरेंग-चाकुंग में 72.18 प्रतिशत वोट मिले थे.

ये भी पढ़ें: Population Control: जनसंख्या नियंत्रण पर सरकार का बड़ा प्लान, बढ़ती आबादी पर ऐसे लगेगी रोक

जानें क्यों दिया सीएम की पत्नी ने इस्तीफा

बता दें कि सीएम की पत्नी कृष्णा कुमारी राय ने गुरुवार को अपने क्षेत्र के मतदाताओं को एक पत्र लिखकर बताया कि उन्होंने इस्तीफा दे दिया है. साथ ही उन्होंने इसका कारण भी बताया. राय ने बताया कि उन्होंने इसलिए चुनाव लड़ा क्योंकि वह पार्टी के फैसले का सम्मान कर रही थीं. उन्होंने लिखा, "बहुत भारी मन से, मैं आपको यह सूचित करने के लिए लिख रही हूं कि मैंने आधिकारिक तौर पर अपना इस्तीफा सौंप दिया है.  मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं इतनी जल्दी चुनावी राजनीति में प्रवेश करूंगी. मैंने हमेशा राजनीति को एक सामाजिक गतिविधि के रूप में देखा है, और यही कारण है मैंने चुनाव में प्रवेश इसलिए किया क्योंकि मुझे संसदीय बोर्ड और पार्टी अध्यक्ष द्वारा लिए गए निर्णयों का सम्मान करना था.''

पति तमांग की की तारीफ

कृष्णा कुमारी राय ने आगे लिखा, "मेरा हमेशा से यह दृढ़ विश्वास रहा है कि लोगों की सेवा करने के लिए मुझे किसी पद पर रहने की आवश्यकता नहीं है. मैं अपनी क्षमता से मदद करती रही हूं और करती रहूंगी. माननीय मुख्यमंत्री और मैं आश्वस्त करता हूं कि नए नामची सिंगिथांग निर्वाचन क्षेत्र के लिए उम्मीदवार एक प्रतिबद्ध और समर्पित व्यक्ति होगा, जो नामची सिंगिथांग के लोगों की सेवा करेगा." मुख्यमंत्री की पत्नी ने अपने पति तमांग की तारीफ करते हुए कहा कि उन्हें विश्वास है कि तमांग के नेतृत्व में सिक्किम प्रगति और विकास के पथ पर आगे बढ़ेगा.

ये भी पढ़ें: Explainer: राज्यसभा में घटेगी I.N.D.I.A की ताकत, उपचुनाव में 10 में से 9 सीटों पर NDA की जीत तय! जानिए कैसे?