News Nation Logo

देश में पहली बार कोरोना संक्रमित शव का हुआ पोस्टमार्टम, इन सवालों के मिलेंगे जवाब

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) से इजाजत मिलने के बाद भोपाल एम्स (Bhopal AIIMS) में कोरोना वायरस (Corona Virus) की बीमारी से संक्रमित डेडबॉडी का पोस्टमार्टम किया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 18 Aug 2020, 09:41:21 AM
PostMortem

पोस्टमॉर्टम (Photo Credit: फाइल फोटो)

भोपाल:

देश में पहली बार कोरोना वायरस संक्रमित (Corona virus infection) शव का पोस्टमार्टम किया गया है. इससे यह जानने की कोशिश की जाएगी आखिर इस वायरस ने कैसे 50 हजार से अधिक लोगों की जान ले ली. यह इसलिए भी महत्वपूर्ण है कि इससे पहले किसी भी कोरोना संक्रमित के शव का पोस्टमार्टम नहीं किया गया. यहां तक कि परिजनों को भी डेडबॉडी नहीं दी जाती. इस रिसर्च से पता चल सकेगा कि संक्रमित होने के बाद शरीर के दिल, दिमाग, फेफडों सहित दूसरे अंगों पर वायरस कितना असर करता है-शरीर के किन अंगों पर इसका कितना प्रभाव पड़ता है.

यह भी पढ़ेंः हुआवे पर ट्रंप ने किया बड़ा अटैक, अमेरिकन टेक्नोलॉजी वाली चिप पर बैन

एम्स के डॉक्टरों ने किया पोस्टमार्टम
इस पोस्टमार्टम के लिए भोपाल एम्स (Bhopal AIIMS) में डॉक्टरों की विशेष टीम तैयार की गई. ये डॉक्टर इस डेडबॉडी के पोस्टमार्टम से रिसर्च करने का एक नया तरीका निकालेंगे. इस पोस्टमार्टम से विशेषज्ञ कोरोना वायरस के असर से शरीर के अंगों पर पड़ने वाले प्रभाव की भी पड़ताल की जाएगी. आईसीएमआर की मंजूरी के बाद एम्स भोपाल में 58 वर्षीय एक मरीज की मौत के बाद डॉक्टरों ने परिजनों से इस रिसर्च के लिए पोस्टमार्टम की अनुमति मांगी. मृतक के परिजनों की सहमति मिलने के बाद बीते रविवार को पोस्टमार्टम किया गया. कोरोना संक्रमित मरीज की मौत के बाद रिसर्च के लिए पोस्टमार्टम का देश में ये पहला मामला है.

यह भी पढ़ेंः एमपी: उज्जैन में बड़ा हादसा टला, बाल-बाल बचे ज्योतिरादित्य सिंधिया

पहले मना किया, फिर दी इजाजत
डेडबॉडी से रिसर्च करने के लिए आईसीएमआर से भोपाल एम्स ने अनुमति मांगी थी. पोस्टमार्टम के दौरान डॉक्टरों के संक्रमित होने की आशंका के कारण पहले तो आईसीएमआर ने मामले पर असहमति जताते हुए रिसर्च के अनुमति देने से मना कर दिया, लेकिन एम्स ने अपने एडवांस डाइसेक्शन रूम और इंफेक्शन रोकने के लिए किए गए प्रबंधों की जानकारी विस्तृत रूप से भेजी तो आईसीएमआर ने रिसर्च करने की अनुमति दे दी.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 18 Aug 2020, 09:41:21 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.