News Nation Logo
Breaking
Banner

7 डिफेंस कंपनियों से समर्थ राष्ट्र के संकल्पों को मिलेगी मजबूतीः पीएम मोदी

रक्षा उपकरणों, हथियारों और वाहनों के निर्माण के लिए बनीं इन 7 नई कंपनियों की लांचिंग के मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि हमें देश को हथियारों एवं रक्षा उपकरणों के मामले में आत्मनिर्भर बनाना है.

Written By : सैय्यद आमिर हुसैन | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 15 Oct 2021, 02:15:00 PM
PM Modi

पीएम नरेंद्र मोदी ने आत्मनिर्भर भारत को दी बड़ी सौगात. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • शस्त्रपूजन की परंपरा निभाते हुए आत्मनिर्भर भारत की पहल
  • इन सात कंपनियों के लिए 65000 करोड़ के ऑर्डर मिल चुके
  • लक्ष्य दूसरे देशों से मुकाबले का नहीं है, बल्कि नेतृत्व करने का

नई दिल्ली:  

विजयदशमी के दिन भारत में शस्त्र पूजन की परंपरा का पालन करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को 7 डिफेंस कंपनियां समर्पित की. रक्षा उपकरणों, हथियारों और वाहनों के निर्माण के लिए बनीं इन 7 नई कंपनियों की लांचिंग के मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि हमें देश को हथियारों एवं रक्षा उपकरणों के मामले में आत्मनिर्भर बनाना है. उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत देश को सबसे बड़ी मिलिट्री पावर बनाने का लक्ष्य तय किया है. इन कंपनियों के जरिए देश को हथियार, सैन्य वाहन, उपकरण एवं उन्नत तकनीक हासिल हो सकेगी. ये सात कंपनियां देश के समर्थ्य को बढ़ाएंगी. 41 ऑर्डिनेंस फैक्ट्री को सात कंपनियों में तब्दील करना हमारे नए संकल्प को दिखाता है.

आजादी के बाद ऑर्डिनेंस फैक्ट्री को नहीं कर सके अपग्रेड
उन्होंने कहा कि विश्व युद्ध के समय देश की ऑर्डिनेंस फैक्ट्री का दमखम पूरी दुनिया ने देखा. आजादी के बाद इसे अपग्रेड करने की जरूरत थी. अब भारत अपन दम पर दुनिया का आधुनिक सैन्य ताकत बनेगा. आत्म निर्भर भारत अभियान डिफेंस सेक्टर के लिए काफी अहम है. डिफेंस सेक्टर में हम बडे रिफॉर्म करेंगे. प्राइवेट और सरकारी सेक्टर मिलकर रक्षा क्षेत्र में आगे बढ़ेंगे. 100 से ज्यादा सामरिक उपकरण अब इंपोर्ट नहीं किए जाएंगे. इन सात कंपनियों के लिए 65000 करोड़ के ऑर्डर मिल चुके हैं.

यह भी पढ़ेंः मोदी सरकार को बट्टा, भूख-कुपोषण के मामले में नेपाल-पाकिस्तान तक बेहतर

जल्द वैश्विक पहचान बनाएंगी डिफेंस कंपनियां
उन्होंने कहा कि ये सातो कंपनियों जल्द ही ग्लोबल पहचान हासिल करेंगी. इक्कसवीं सदी में किसी भी कंपनी की ब्रांड वैल्यू उसके रिसर्च क्षमता पर निर्भर करेगा. रिसर्च देश के हर सेक्टर के लिए जरूरी होना चाहिए. उत्पादों की बेहतर कीमत हमारी ताकत और क्वालिटी हमारी छवि को मजबूत करेगी. इसके साथ ही उन्होंने रक्षा क्षेत्र में अनुसंधान का महत्व बताया. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'रिसर्च और इनोवेशन से देश की परिभाषा तय होती है. यह भारत की ग्रोथ का सबसे अहम उदाहरण है. उन्होंने कहा कि हमें इनोवेटर्स को पूरी आजादी देनी होगी ताकि वे देश के लिए नए-नए आविष्कार कर सकें.'

यह भी पढ़ेंः जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकियों से मुठभेड़ में जेसीओ समेत दो जवान शहीद

7 सालों में डिफेंस एक्सपोर्ट 315 फीसदी की गति से बढ़ा
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारा लक्ष्य दूसरे देशों के मुकाबले बराबरी पर आने का नहीं है बल्कि दुनिया में नेतृत्व करने का है. उन्होंने अपनी सरकार के दौर में हथियारों के आयात में कमी और एक्सपोर्ट बढ़ने का भी जिक्र किया. पीएम मोदी ने कहा कि बीते 5 सालों में भारत का डिफेंस एक्सपोर्ट 315 फीसदी की गति से आगे बढ़ा है. नरेंद्र मोदी ने कहा, 'मैं इन सभी 7 कंपनियों से अपील करता हूं कि वे रिसर्च और इनोवेशन को अपने वर्क कल्चर में बढ़ावा दें. आपको फ्यूचर टेक्नोलॉजी में लीड करना होगा और रिसर्चर्स को मौके देने होंगे. मैं देश के स्टार्टअप्स से भी अपील करूंगा कि वे इन सातों कंपनियों के साथ मिलकर काम करें.

First Published : 15 Oct 2021, 02:15:00 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.