News Nation Logo

Chintan Shivir : PM मोदी ने गृह मंत्रियों की बैठक में दिया मंत्र, बोले- करें ये काम

News Nation Bureau | Edited By : Deepak Pandey | Updated on: 28 Oct 2022, 11:53:51 AM
Modi

PM Narendra Modi (Photo Credit: File Photo)

नई दिल्ली:  

पीएम नरेंद्र मोदी ने हरियाणा के सूरजकुंड में शुक्रवार को हुए सभी राज्यों के गृह मंत्रियों के दो दिनी सम्मेलन को संबोधित किया है. उन्होंने कहा कि आज कल देश में उत्सव का माहौल है. ओणम, दशहरा, दुर्गापूजा और दीपावली सहित अनेक उत्सव शांति और सौहार्द के साथ देशवासियों ने मनाए हैं. अभी छठ पूजा सहित कई अन्य त्योहार भी हैं. विभिन्न चुनौतियों के बीच इन त्योहारों में देश की एकता का सशक्त होना, आपकी तैयारियों का भी प्रतिबिंब है.

यह भी पढ़ें : Chintan Shivir : PM मोदी ने गृह मंत्रियों की बैठक में दिया मंत्र, बोले- करें ये काम

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आजादी का अमृतकाल हमारे सामने हैं. आने वाले 25 वर्ष देश में एक अमृत पीढ़ी के निर्माण के हैं. ये अमृत पीढ़ी 'पंच प्राणों' के संकल्पों को धारण करके निर्मित होगी. संविधान में भले कानून और व्यवस्था राज्यों का दायित्व है, लेकिन ये देश की एकता-अखंडता के साथ भी उतने ही जुड़े हुए हैं, हर एक राज्य एक दूसरे से सीखें, एक दूसरे से प्रेरणा लें.

पीएम ने आगे कहा कि पहला- विकसित भारत का निर्माण, दूसरा- गुलामी की हर सोच से मुक्ति, तीसरा- विरासत पर गर्व, चौथा- एकता और एकजुटता, पांचवां- नागरिक कर्तव्य. इन पंच प्राणों का महत्व आप सभी भली भांति जानते हैं, समझते हैं. ये एक विराट संकल्प है, जिसको सिर्फ और सिर्फ सबके प्रयास से ही सिद्ध किया जा सकता है. देश की बेहतरी के लिए काम करें, ये संविधान की भी भावना है और देशवासियों के प्रति हमारा दायित्व है.

उन्होंने आगे कहा कि जब देश का सामर्थ्य बढ़ेगा तो देश के हर नागरिक, हर परिवार का सामर्थ्य बढ़ेगा. यही तो सुशासन है, जिसका लाभ देश के हर राज्य को समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक पहुंचाना है. इसमें आप सभी की बहुत बड़ी भूमिका है. मोदी ने कहा कि कई बार केंद्रीय एजेंसियों को कई राज्यों में एक साथ जांच करनी पड़ती है, दूसरे देशों में भी जाना पड़ता है, इसलिए हर राज्य का दायित्व है कि चाहे राज्य की एजेंसी हो, चाहे केंद्र की एजेंसी हो, सभी एजेंसियों को एक-दूसरे को पूरा सहयोग देना चाहिए.

यह भी पढ़ें : गृह मंत्रालय के चिंतन शिविर से कई गैर-भाजपाई सीएम ने बनाई दूरी

प्रधानमंत्री ने कहा कि साइबर क्राइम हो या फिर ड्रोन टेक्नोलॉजी का हथियारों और ड्रग्स तस्करी में उपयोग, इनके लिए हमें नई टेक्नोलॉजी पर काम करते रहना होगा. स्मार्ट टेक्नोलॉजी से कानून-व्यवस्था को स्मार्ट बना पाना संभव होगा. बीते वर्षों में भारत सरकार के स्तर पर कानून व्यवस्था से जुड़े सुधार हुए हैं, जिसने पूरे देश में शांति का वातावरण बनाने का काम किया है.

उन्होंने कहा कि बीते वर्षों में केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए कानूनों ने भी देश में कानून व्यवस्था को मजबूत किया है, आतंकवाद हो, हवाला नेटवर्क हो, भ्रष्टाचार हो, इसपर देश ने अभूतपूर्व शक्ति दिखाई है, लोगों में विश्वास पनपने लगा है. कानून व्यवस्था को बनाए रखना, एक 24*7 वाला काम है, लेकिन किसी भी काम में ये भी आवश्यक है कि हम निरंतर प्रक्रियाओं में सुधार करते चलें, उन्हें आधुनिक बनाते चलें.

यह भी पढ़ें : Pakistan: लाहौर से इमरान खान का लॉन्ग मार्च शुरू, इस्लामाबाद तक जाएंगे

पीएम ने कहा कि आज वैश्विक स्तर पर भारत जितनी तेजी से आगे बढ़ रहा है, उतनी ही तेजी से भारत की चुनौतियां भी बढ़ने वाली है, विश्व की बहुत सारी ताकतें होंगी, जो नहीं चाहेगी कि उनके देश के संदर्भ में भारत सामर्थ्यवान बने. देश के विरोध में जो ताकते खड़ी हो रही हैं, जिस प्रकार हर चीज का उपयोग किया जा रहा है, सामान्य नागरिक की सुरक्षा के लिए, ऐसी किसी भी नाकारात्मक शक्तियों के खिलाफ कठोर से कठोर बर्ताव ही हमारी जिम्मेदारी है.

First Published : 28 Oct 2022, 11:44:39 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.