News Nation Logo
Banner

उमर अब्दुल्ला ने खुद को और फारूक को नजरबंद किए जाने का दावा किया

जम्मू कश्मीर के इन दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों को पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के लिए श्रीनगर से बाहर जाना था. शनिवार को, एक और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाया था कि उन्हें गुप्कर रोड पर अपने निवास से बाहर जाने से रोका गया था.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 14 Feb 2021, 11:48:10 AM
Omar Abdullah with Farooq Abdullah

उमर अब्दुल्ला के साथ फारुक अब्दुल्ला (Photo Credit: फाइल फोटो)

highlights

  • उमर अब्दुल्ला और फारूक अब्दुल्ला नजरबंद!
  • घर के नौकरों को भी अंदर जाने से रोका गयाः उमर
  • महबूबा ने भी लगाया था नजरबंद किए जाने का आरोप

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने रविवार को दावा किया कि अधिकारियों द्वारा बिना किसी स्पष्टीकरण के उन्हें और उनके पिता फारूक अब्दुल्ला को यहां उनके आवास पर नजरबंद कर दिया गया है. उमर ने गुप्कर रोड पर अपने निवास के बाहर तैनात सुरक्षा वाहनों की तस्वीरें ट्विटर पर पोस्ट की और कहा कि उनकी बहन और उनके बच्चे, जो पास में ही रहते हैं, उन्हें भी नजरबंद कर दिया गया है. उमर ने ट्वीट किया, यह अगस्त 2019 के बाद नया जम्मू-कश्मीर है. हम बिना किसी स्पष्टीकरण के अपने घरों में नजरबंद हैं.

उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया कि, 'अगस्त 2019 के बाद यह नया जम्मू-कश्मीर है. हमें बिना कुछ बताए हमारे घरों में बंद कर दिया गया है. उन्होंने मेरे पिता को भी नजरबंद कर दिया है जो कि अभी सांसद हैं. उन्होंने मेरी बहन और उनके बच्चों को भी घरों में कैद कर दिया है.'

यह भी पढ़ेंःअखिलेश का वैक्सीन लगवाने से इंकार, उमर अब्दुल्ला बोले- खुशी से लगवाऊंगा

उमर अब्दुल्ला ने आगे लिखा कि यह काफी बुरा है कि उन्होंने मेरे पिता (एक सांसद) और मुझे अपने घर में बंद कर दिया है, उन्होंने बहन और उसके बच्चों को भी उनके घर में नजरबंद कर दिया है. आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर के इन दोनों पूर्व मुख्यमंत्रियों को पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने के लिए श्रीनगर से बाहर जाना था. शनिवार को, एक और पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने आरोप लगाया था कि उन्हें गुप्कर रोड पर अपने निवास से बाहर जाने से रोका गया था ताकि दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले में किशोर अतहर मुश्ताक के परिवार के साथ मुलाकात नहीं कर सकें, जो श्रीनगर के बाहरी इलाके में 30 दिसंबर 2020 को एक मुठभेड़ में मारा गया था.

यह भी पढ़ेंःजम्मू कश्मीर में 4G नेटवर्क शुरू, उमर अब्दुल्ला ने किया ट्वीट

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने अपने ट्वीट में कुछ तस्वीरें भी ट्वीट की हैं जिसमें उनके आवास के बाहर पुलिस की गाड़ियां दिखाई दे रही हैं. इसके साथ ही उमर अब्दुल्ला ने ये आरोप भी लगाया है कि मेरे घर में काम करने वाले नौकरों को भी अंदर नहीं आने दिया जा रहा है. उन्होंने अपने अगले ट्वीट में लिखा कि, 'चलो, आपके लोकतंत्र के नए मॉडल का मतलब है कि हमें बिना कुछ बताए हमारे घरों में कैद कर दिया जाए लेकिन हमारे घरों में काम करने वाले स्‍टाफ को भी अंदर आने की इजाजत नहीं दी जा रही. इसके बाद भी आपको हैरानी होती है कि मैं नाराज क्‍यों हूं और मेरे लहजे में कड़वाहट क्‍यों है.'

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 14 Feb 2021, 11:35:46 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.