News Nation Logo

निशिकांत दुबे ने शशि थरूर को लेकर ओम बिरला को लिखी चिट्ठी, कर दी ये बड़ी मांग

बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने पत्र में लिखा है कि कांग्रेस नेता शशि थरूर को सूचना प्रौद्योगिकी पर संसदीय स्थायी समिति की बैठकें न करने के लिए अनुरोध किया है.

News Nation Bureau | Edited By : Sushil Kumar | Updated on: 20 Aug 2020, 06:18:43 PM
nishikant

बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे (Photo Credit: ट्विटर एनआईए)

नई दिल्ली:

बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को चिट्ठी लिखी है. उन्होंने पत्र में लिखा है कि कांग्रेस नेता शशि थरूर को सूचना प्रौद्योगिकी पर संसदीय स्थायी समिति की बैठकें न करने के लिए अनुरोध किया है. उन्होंने ये भी कहा कि उन्हें अध्यक्ष पद से हटा दिया जाए. उन्होंने कहा कि हमलोग किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को फेवर नहीं कर रहे हैं. मैंने संसद में कहा था कि सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को प्रिंट और इलेक्ट्रोनिक मीडिया की तरह ही विनियमित किया जाना चाहिए. क्योंकि यह बहुत सारे फेक और पक्षपातपूर्ण खबरों का प्रचार करता है. जिससे लोगों की निजता का उल्लंघन होता है.

यह भी पढ़ें - यूपी पुलिस की हिरासत में महाराष्ट्र के मंत्री नितिन राउत

भारत में फेसबुक को लेकर राजनीति गर्म

अमेरिकी अखबार वॉल स्ट्रीट जनरल (डब्लूएसजे) में छपे एक लेख के बाद भारत में फेसबुक को लेकर राजनीति गर्म है. इस बीच कांग्रेस के दिक्कत नेता शशि थरूर के बयान से विवाद और बढ़ गया है. संसद की सूचना प्रौद्योगिकी से संबंधित स्थायी समिति द्वारा फेसबुक से जुड़े एक ताजा विवाद को लेकर इस सोशल नेटवर्किंग कंपनी से जवाब मांगने की संभावना के बीच बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे और विपक्षी सांसद शशि थरूर के बीच टि्वटर पर वाकयुद्ध देखने को मिला. दोनों के बीच किस लड़ाई में टीएमसी के सांसद महुआ मोइत्रा ने शशि थरूर का समर्थन किया है.

यह भी पढ़ें -IPL की वापसी पर अजहरुद्दीन ने जाहिर की खुशी, बोले- आईपीएल पर निर्भर है कई लोगों की आजीविका

फेसबुक से जवाब मांगना चाहेगी

दरअसल, अमेरिकी अखबार ‘वाल स्ट्रीट जर्नल’ ने शुक्रवार को प्रकाशित रिपोर्ट में फेसबुक के अनाम सूत्रों के साथ साक्षात्कारों का हवाला दिया है. इसमें दावा किया गया है कि उसके एक वरिष्ठ भारतीय नीति अधिकारी ने कथित तौर पर सांप्रदायिक आरोपों वाला पोस्ट डालने के मामले में तेलंगाना के एक भाजपा विधायक पर स्थायी पाबंदी को रोकने संबंधी आंतरिक पत्र में दखलंदाजी की थी. इस मामले पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कांग्रेस सांसद और सूचना प्रौद्योगिकी संबंधी स्थायी समिति के प्रमुख थरूर ने कहा कि यह समिति इस खबर के बारे में फेसबुक से जवाब मांगना चाहेगी. शशि थरूर ने ट्वीट किया, 'सूचना प्रौद्योगिकी पर संसदीय स्थायी समिति निश्चित रूप से इन रिपोर्टों के बारे में फेसबुक का जवाब जानना चाहती है. समिति यह जानना चाहती है कि भारत में हेट स्पीच को लेकर उनका क्या प्रस्ताव है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 20 Aug 2020, 05:28:33 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.