News Nation Logo
Banner

निर्मला सीतारमण बोलीं, बजट ने भारत को 'आत्मनिर्भर' बनने की गति प्रदान की

लोकसभा में केंद्रीय बजट पर चर्चा का जवाब देते हुए सीतारमण ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण सरकार के सामने कई प्रकार की चुनौतियां थीं और इसने 'प्रोत्साहन और सुधार' दोनों पर ध्यान केंद्रित किया.

News Nation Bureau | Edited By : Ravindra Singh | Updated on: 13 Feb 2021, 12:59:36 PM
nirmala sitharaman new

निर्मला सीतारमण (Photo Credit: एनआई ट्विटर)

highlights

  • बजट सत्र के आखिरी दिन जवाब दे रहीं थी वित्त मंत्री
  • कोविड महामारी में सरकार ने 'प्रोत्साहन और सुधार' किए
  • भारत को आत्मनिर्भर के लिए बजट ने दी गतिः निर्मला

नई दिल्ली:

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को कहा कि केंद्रीय बजट 2021-2022 ने भारत को 'आत्मनिर्भर' बनने के लिए गति प्रदान की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब से ही आत्मनिर्भर का यह मंत्र उनके अनुभव से प्राप्त हुआ है. फिर, उन्हीं अनुभवों के आधार पर सुधार के प्रति उनकी प्रतिबद्धता को इस बजट में भी शामिल किया गया. लोकसभा में केंद्रीय बजट पर चर्चा का जवाब देते हुए सीतारमण ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण सरकार के सामने कई प्रकार की चुनौतियां थीं और इसने 'प्रोत्साहन और सुधार' दोनों पर ध्यान केंद्रित किया.

वित्त मंत्री ने कहा कि सरकार ने इस आपदा को एक अवसर में बदल दिया. सीतारमण ने कहा कि कोविड महामारी जैसी चुनौतियां भी सरकार को उन सुधारों को करने से नहीं रोक पाईं जो अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने एवं देश की दीर्घकालिक प्रगति को बनाए रखने के लिए आवश्यक हैं. सीतारमण के भाषण के साथ ही संसद के बजट सत्र के पहले हिस्से का समापन हो गया.

यह भी पढ़ेंःगुजरात में CM रहते नरेंद्र मोदी के अनुभवों पर आधारित है बजट, लोकसभा में बोलीं निर्मला सीतारमण

इस बजट में प्रोत्साहन और सुधार दोनोंः वित्तमंत्री
एक फरवरी को पेश किए गए केंद्रीय बजट पर चर्चा का जवाब देते हुए सीतारमण ने कहा, प्रोत्साहन और सुधार - महामारी की स्थिति से एक अवसर हासिल हुआ है. महामारी जैसी चुनौतीपूर्ण स्थिति भी सुधार के लिए कदम उठाने से सरकार को नहीं रोक सकी जो इस देश के लिए दीर्घकालिक प्रगति को बनाए रखने के लिए आवश्यक हैं. मंत्री ने यह भी कहा कि केंद्रीय बजट ने भारत को आत्मनिर्भर बनने के लिए गति प्रदान की है.

यह भी पढ़ेंःLIVE: निर्मला सीतारमण की कांग्रेस को चुनौती- साबित करें कहां बंद हुई APMC मंडी

ये बजट पीएम मोदी के अनुभवों से जब वो गुजरात के सीएम थेः वित्तमंत्री
उन्होंने इस बात का भी उल्लेख किया कि बजट 2021-22 प्रधानमंत्री के अनुभवों से लिया गया है जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे और उन्होंने उस समय बहुत सारे बदलाव देखे थे. सीतारमण ने कहा कि यह बजट पीएम के अनुभव से लिया गया है जब वह गुजरात के सीएम थे. उस समय बहुत कुछ बदलाव हो रहा था. 1991 के बाद लाइसेंस कोटा राज समाप्त हो रहा था और फिर उन्हीं अनुभवों के आधार पर सुधार के प्रति प्रतिबद्धता को इस बजट में भी शामिल किया गया.

यह भी पढ़ेंःवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राहुल पर कसा तंज, दिलाई 'दामाद' की याद

बीजेपी ने किया जनसंघ का सम्मानः वित्तमंत्री
उन्होंने उल्लेख किया कि 'जनसंघ' से लेकर अब तक हम लगातार भारत और इसके विकास में विश्वास करते हैं. सीतारमण ने कहा कि भारतीय उद्यमिता कौशल, भारतीय प्रबंधकीय कौशल, भारतीय व्यापार कौशल, भारतीय व्यापार कौशल, भारतीय युवाओं और जनसंघ का सम्मान करते हुए भाजपा ने लगातार 'भारत में विश्वास किया है'.

First Published : 13 Feb 2021, 12:54:51 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.