logo-image
लोकसभा चुनाव

NCERT: 'इंडिया' की जगह 'भारत' करने की NCERT की सिफारिश का विरोध, जानें INDIA नेताओं ने क्या कहा?

NCERT समिति ने सभी स्कूली पाठ्यपुस्तकों में इंडिया की जगह 'भारत' लिखने की सिफारिश की है. अब विपक्षी दलों के INDIA (आईएनडीआईए) गठबंधन ने इसका विरोध जताया है.

Updated on: 25 Oct 2023, 09:27 PM

नई दिल्ली:

NCERT : राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (NCERT) समिति ने सभी स्कूली पाठ्यपुस्तकों में इंडिया की जगह 'भारत' लिखने की सिफारिश की है. अब विपक्षी दलों के INDIA (आईएनडीआईए) गठबंधन ने इसका विरोध जताया है. स्कूली पाठ्यपुस्तकों में 'इंडिया' की जगह 'भारत' करने की NCERT पैनल की सिफारिश पर कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि वे पाठ्यपुस्तक और पाठ्यक्रम के माध्यम से भारत के इतिहास को विकृत कर रहे हैं. हमारे लिए भारत और इंडिया दोनों बराबर है. ये चुनावी रणनीति और ध्रुवीकरण की राजनीति हैं. वे राजनीतिक मकसद के लिए ऐसा कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें : Rajasthan Election: 500 रुपये में सिलेंडर तो महिला मुखिया को मिलेंगे 10 हजार रुपये, CM गहलोत की घोषणा 

स्कूली पाठ्यपुस्तकों में 'इंडिया' की जगह 'भारत' करने की NCERT पैनल की सिफारिश पर शिवसेना (UBT) सांसद संजय राउत ने कहा कि ये राजनीतिक निर्णय है क्योंकि सभी राजनीतिक दलों ने मिलकर INDIA गठबंधन बनाया. तब से ये लोग इंडिया नाम से नफरत करने लगे हैं. हम भारत से नफरत नहीं करेंगे क्योंकि भारत हमारा ही है भारत हमारा देश है. संविधान में भारत का जिक्र है लेकिन इंडिया हो या भारत, देश-देश है लेकिन आप एक निर्णय लेने जा रहे हैं कि इंडिया की जगह भारत करने की तो क्या आपकी जिम्मेदारी नहीं है कि सर्वदलीय बैठक बुलाकर इस बारे में चर्चा करें. भारत हो या इंडिया हो हम तो एक हैं और जल्दी ही आपको पता चलेगा कि 2024 में इंडिया जीतेगा और भारत भी.

पश्चिम बंगाल के शिक्षा मंत्री ब्रत्य बसु ने कोलकाता में पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि हास्यास्पद निर्णय, यह एक राजनीतिक मुद्दा है, इसे आप शिक्षा में नहीं ला सकते हैं, क्योंकि वे इंडिया शब्द से भयभीत हैं... इसलिए मुझे लगता है कि यह एक विचित्र निर्णय है. यह सही निर्णय नहीं है और राजनीतिक रूप से वे भारत और ममता बनर्जी से डरते हैं. यह सबसे अच्छा उदाहरण है.

यह भी पढ़ें : UP: अयोध्या में इस दिन होगी रामलला की प्राण प्रतिष्ठा, प्रधानमंत्री मोदी भी होंगे शामिल

शिवसेना (उद्धव ठाकरे गुट) की सांसद प्रियंका चतुर्वेदी ने कहा कि NCERT के लोगों की बड़ी जिम्मेदारी रही है कि हमारा इतिहास क्या रहा है, किस प्रकार हमने लड़ाई लड़ी है. किस प्रकार से हम संविधान बनाकर आगे चले हैं ये बताएं. संविधान में लिखा है इंडिया जो कि भारत है, इसे इंडिया बनाम भारत बनान गलत है.