News Nation Logo
आग पर काबू पाने के लिए दमकल की 20 से ज्यादा गाड़ियां मौके के लिए रवाना मुंबई के लालबाग इलाके में 60 मंजिला इमारत में लगी भीषण आग आग की लपटों से घिरी बहुमंजिला इमारत में 100 से ज्यादा लोगों के फंसे होने की आशंका बहादुरगढ़ के बादली के पास तेज़ रफ़्तार कार और ट्रक की टक्कर में एक ही परिवार के 8 लोगों की मौत उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: कल शाम छह बजे सोनिया गांधी के आवास पर कांग्रेस सीईसी की बैठक राष्ट्रपति कोविन्द अपनी तीन दिवसीय बिहार यात्रा के अंतिम दिन गुरुद्वारा पटना साहिब, महावीर मंदिर गए छत्तीसगढ़ः राजनांदगांव में आईटीबीपी के 21 जवानों को फूड प्वाइजनिंग, अस्पताल में भर्ती कराया गया ऑयल मार्केटिंग कंपनियों ने लगातार तीसरे दिन पेट्रोल और डीजल को महंगा किया राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का दाम बढ़कर 106.89 रुपये प्रति लीटर हुआ युद्ध जारी रहते कवच नहीं उतारते यानी मास्क को सहज स्वभाव बनाएंः पीएम मोदी आर्यन खान की चैट के आधार पर एनसीबी आज फिर करेगी अनन्या पांडे से पूछताछ पुंछ में आतंकियों पर सुरक्षा बलों का घेरा कसा. आज या कल खत्म कर दिए जाएंगे आतंकी दूत जम्मू-कश्मीर दौरे से पहले गृह मंत्री अमित शाह की आईबी-एनआईए संग हाई लेवल बैठक आज आज फिर बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, 35 पैसे प्रति लीटर का हुआ इजाफा

मोदी सरकार वरिष्ठ नागरिकों को रोजगार देने के लिए करेगी पोर्टल विकसित

प्लेटफॉर्म के विकास के लिए 10 करोड़ रुपये की राशि के साथ-साथ पांच साल के लिए प्रति वर्ष दो करोड़ रुपये के रखरखाव अनुदान के रूप में प्रदान किया जाएगा.

News Nation Bureau | Edited By : Nihar Saxena | Updated on: 01 Oct 2021, 03:25:35 PM
Hire

मोदी सरकार की वरिष्ठ नागरिकों की नई पहल. (Photo Credit: न्यूज नेशन)

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक जॉब पोर्टल विकसित करने के लिए पूरी तरह तैयार है. 'सीनियर एबल सिटिजन्स फॉर री एम्प्लॉयमेंट इन डिग्निटी' (एसएसीआरईडी) नाम का पोर्टल, वरिष्ठ नागरिकों और प्रदाताओं को रोजगार की तलाश में एक मंच पर लाएगा. सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय का कहना है कि इसका उद्देश्य वरिष्ठ नागरिकों के स्वस्थ, खुशहाल, सशक्त, सम्मानजनक और आत्मनिर्भर जीवन सुनिश्चित करना है. प्लेटफॉर्म के विकास के लिए 10 करोड़ रुपये की राशि के साथ-साथ पांच साल के लिए प्रति वर्ष दो करोड़ रुपये के रखरखाव अनुदान के रूप में प्रदान किया जाएगा.

इसी तरह विभिन्न व्यावसायिक उद्यमों में पोर्टल के प्रचार के लिए सालाना 10 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी. मंत्रालय के अनुसार एक वरिष्ठ नागरिक अपनी प्रासंगिक शिक्षा, पिछले अनुभव, कौशल और रुचि के क्षेत्रों के साथ पोर्टल पर खुद को पंजीकृत करवाएगा. व्यक्ति अपेक्षित कार्यो के संबंध में कीवर्ड का भी चयन करेगा, जो नौकरी प्रदाताओं को उन्हें स्वचालित रूप से खोजने में सक्षम बनाएगा. मंत्रालय ने कहा, 'कोई भी नौकरी प्रदाता - व्यक्ति, फर्म, कंपनी, साझेदारी और स्वैच्छिक संगठन - पोर्टल पर भी पंजीकरण कर सकता है. नौकरी प्रदाता इसमें शामिल कार्य और इसे पूरा करने के लिए आवश्यक वरिष्ठ नागरिकों की संख्या निर्दिष्ट करेगा.'

स्वैच्छिक संगठन वरिष्ठ नागरिकों को इन नौकरियों के लिए आवेदन करने में मदद करेंगे और किसी भी स्वैच्छिक संगठन द्वारा किसी भी वरिष्ठ नागरिक से कोई उपयोगकर्ता शुल्क नहीं लिया जाएगा. मंत्रालय ने कहा, 'इसलिए, रोजगार पोर्टल न केवल रोजगार चाहने वाले वरिष्ठ नागरिकों, बल्कि नियोक्ताओं, स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी), कौशल हासिल करने वाले वरिष्ठ नागरिकों और अन्य एजेंसियों या व्यक्तियों की भी सेवा करेगा.' मंत्रालय ने हालांकि, स्पष्ट किया कि 'रोजगार विनिमय पोर्टल' नौकरी या रोजगार पाने या एसएचजी के उत्पादों की बिक्री, या किसी अन्य गतिविधि के लिए गारंटी नहीं होगा.

First Published : 01 Oct 2021, 03:07:36 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.