News Nation Logo
Banner

Mission Shakti पर घमासान, चुनाव आयोग ने मांगी MP मोदी के भाषण की कॉपी

कई पार्टियों ने इस पर ऐतराज जताते हुए चुनाव आयोग से पूछा है कि आखिर पीएम को इसकी घोषणा करने की इजाजत क्यों दी गई?

News Nation Bureau | Edited By : Drigraj Madheshia | Updated on: 27 Mar 2019, 06:57:02 PM
सीताराम येचुरी

नई दिल्‍ली:  

मिशन शक्ति पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का राष्ट्र के नाम संदेश का मामला चुनाव आयोग पहुंच गया है. कई पार्टियों ने इस पर ऐतराज जताते हुए चुनाव आयोग से पूछा है कि आखिर पीएम को इसकी घोषणा करने की इजाजत क्यों दी गई? मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के नेता सीताराम येचुरी ने चुनाव आयोग (Election commission) को पत्र लिखकर कहा है कि यह चुनाव आचार संहिता (Model Code of Conduct) का उल्लंघन है. उपेंद्र कुशवाहा की आरएलएसपी और ममता बनर्जी की टीएमसी ने भी पीएम के राष्ट्र के नाम संबोधन पर ऐतराज जताया है. येचुरी की शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने सरकार से पीएम नरेंद्र मोदी के भाषण की कॉपी मांगी है.

यह भी पढ़ेंः Lok Sabha Elections 2019: जानिए क्या होता है Model Code of Conduct

सीताराम येचुरी ने अपने पत्र में लिखा कि इस तरह का मिशन देश को आमतौर पर रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) बताता है, लेकिन इस बार प्रधानमंत्री ने इसको लेकर राष्ट्र के नाम संबोधन किया. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद लोकसभा चुनाव में उम्मीदवार हैं. ऐसे में चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद उनको इसकी इजाजत कैसे दी जा सकती है?

यह भी पढ़ेंः मिशन शक्ति को लेकर राहुल गांधी ने किया पीएम मोदी पर कटाक्ष तो अमित शाह ने दिया यह जवाब

सीताराम येचुरी ने चुनाव आयोग से ये पूछा है कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संदेश के बारे में चुनाव आयोग को पता था? क्या चुनाव आयोग ने नरेंद्र मोदी के राष्ट्र के नाम संबोधन की इजाज़त दी थी?

यह भी पढ़ेंः Mission Shakti: कांग्रेस के दावे पर बोले पूर्व DRDO चीफ, UPA सरकार ने नहीं दी थी इजाजत

वहीं उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि मिशन शक्ति की सफलता का श्रेय अंतरिक्ष अनुसंधान एवं विकास में वर्षों से अनवरत परिश्रम कर रहे वैज्ञानिकों को जाता है.
तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि मिशन शक्ति एक राजनीतिक घोषणा है. इसकी घोषणा वैज्ञानिकों को करनी चाहिए थी. इसका श्रेय उन्हें दिया जाना चाहिए.

यह भी पढ़ेंः ममता बनर्जी : मिशन शक्ति की उद्घोषणा के चलते पीएम मोदी ने तोड़ी आचार संहिता

बता दें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कैबिनेट की सुरक्षा समिति की बैठक के बाद देश को संबोधित किया. संबोधन में उन्‍होंने देश के वैज्ञानिकों द्वारा हासिल महत्‍वपूर्ण उपलब्‍धि की ओर ध्‍यान दिलाया. पीएम नरेंद्र मोदी ने बताया- कुछ ही समय पहले भारत ने अभूतपूर्व सिद्धि हासिल की है. भारत खुद को अंतरिक्ष महादेश बन गया है. अमेरिका, चीन और रूस के बाद भारत अकेला देश है, जिसे यह बड़ी उपलब्‍धि हासिल हुई है. उन्‍होंने बताया, अब से कुछ ही देर पहले एलईओ (LEO) लो ऑर्विट सेटेलाइट को भारत द्वारा निर्मित A-SAT सेटेलाइट ने मार गिराया है.

First Published : 27 Mar 2019, 06:48:10 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.