News Nation Logo

मनीषा कोइराला ने नेपाल के विवादित नक्शे का किया समर्थन, भारत-नेपाल के बीच लाईं चीन को, स्वराज कौशल ने दिया तगड़ा जवाब

भारत और नेपाल के बीच कालापानी का मुद्दा जोर पकड़ रहा है. इस मुद्दे में अब बॉलीवुड की एक्ट्रेस मनीषा कोइराला (Manisha Koirala) भी कूद पड़ी हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Nitu Pandey | Updated on: 21 May 2020, 05:30:09 PM
manisha koirala

मनीषा कोइराला और स्वराज कौशल (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली :

भारत और नेपाल के बीच कालापानी का मुद्दा जोर पकड़ रहा है. इस मुद्दे में अब बॉलीवुड की एक्ट्रेस मनीषा कोइराला (Manisha Koirala) भी कूद पड़ी हैं. वहीं मनीषा कोइराला जिन्हें ने कई हिंदी फिल्मों में बेहतरीन किरदार निभाए हैं. जिन्हें भारत के लोग सर आंखों पर बिठाया है. मनीषा कोइराला ने नेपाल के नए नक्शे में कालापानी को शामिल किए जाने के फैसले से खुशी जाहिर की है. उन्होंने इसे नेपाल का आत्मसम्मान बताया और इशारों में चीन का भी जिक्र किया.

मनीषा कोइराला नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री केपी कोइराला की पोती हैं. उन्होंने नेपाल के विदेश मंत्री के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा, ' हमारे छोटे से देश का आत्मसम्मान बरकरार रखने के लिए आपका शुक्रिया.' उन्होंने आगे कहा कि हम सभी तीनों महान देशों के बीच शांति और आदरपूर्वक बातचीत के जरिए समाधान कोक लेकर आशान्वित हैं. '

मनीषा कोइराला के ट्वीट पर पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के पति स्वराज कौशल ने उन्हें जवाब दिया है. उन्होंने कई ट्वीट करके भारत-नेपाल के बीच चीन को लाने को लेकर निशाना साधा.

इसे भी पढ़ें:VIDEO: रतन राजपूत ने छोड़ा अपना गांव, जानिए अब कहां के लिए चली टीवी की बिटिया

स्वराज कौशल (Swaraj Kaushal) ने मनीषा कोइराला को बेटी जैसा बताते हुए कहा कि भारत को नेपाल से शिकायत हो सकती है या नेपाल का भारत के साथ कोई गंभीर दिक्कत हो सकती है. यह भारत और नेपाल के बीच है. आप चीन को कैसे बीच में लाईं? हम हमारे लिए बुरा है और यह नेपाल के लिए भी अच्छा नहीं है.

उन्होंने आगे कहा कि जब आप चीन को बीच में लाती हैं तो भारत के साथ हजारों सालों के रिश्ते को बर्बाद करती हैं. आप हमारी साझा विरासत को बर्बाद कर रही है. इतना ही नहीं आप खुद संप्रभु देश के रूप में अपनी स्थिति को कमजोर कर रही हैं.

मनीषा कोइराला के ट्वीट पर उन्होंने आगे जवाब देते हुए कहा कि भारतीयों को यह जानना चाहिए कि दुनिया में एकमात्र हिंदू राष्ट्र को खत्म करने की साजिश थी. उन्होंने माओवादियों के साथ हाथ मिलाया. उन्होंने प्रचंड और बाबू राम भट्टाराई को सम्मानित किया. उन्होंने एकमात्र हिंदू स्टेट को बर्बाद कर दिया. उनका मिशन पूरा हुआ.'

और पढ़ें:वसुंधरा राजे और दुष्यंत सिंह के लापता होने के पोस्टर सोशल मीडिया पर वायरल, बीजेपी नेताओं ने जताई नाराजगी

सुषमा स्वराज के पति ने आगे लिखा कि परिणाम मयह हुआ कि वामपंथी भारत के खिलाफ चीन का इस्तेमाल कर रहे हैं. या फिर चीन वामपंथियों का इस्तेमाल भारत के खिलाफ कर रहा है. पहले भारत का चीन के साथ बॉर्डर हिमालय तक था. अब भारत चाइना बॉर्डर बीरगंज में शुरू हो जाता है.

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

First Published : 21 May 2020, 04:36:02 PM