News Nation Logo

निलंबित DSP देविंदर सिंह को तत्काल प्रभाव से किया गया बर्खास्त

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने राज्य पुलिस के सस्पेंड डीएसपी देविंदर सिंह को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया है. इसके अलावा कुपवाड़ा जिले के दो शिक्षकों की भी बर्खास्तगी का फैसला किया गया है.

News Nation Bureau | Edited By : Shailendra Kumar | Updated on: 20 May 2021, 09:04:33 PM
DSP Davinder Singh

निलंबित DSP देविंदर सिंह को तत्काल प्रभाव से किया गया बर्खास्त (Photo Credit: न्यूज नेशन)

highlights

  • सस्पेंड DSP दविंदर सिंह को बर्खास्त किया गया
  • जम्मू कश्मीर के LG मनोज सिन्हा ने किया बर्खास्त
  • हिजबुल से लिंक मिलने पर हुए थे गिरफ्तार

 

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ( Lieutenant Governor Manoj Sinha ) ने राज्य पुलिस के सस्पेंड डीएसपी देविंदर सिंह को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया है. इसके अलावा कुपवाड़ा जिले के दो शिक्षकों की भी बर्खास्तगी का फैसला किया गया है. साल 2019 मे देविंदर सिंह को आतंकियों के साथ सांठगांठ के चलते गिरफ्तार किया गया था. इसके बाद से ही वो सस्पेंड चल रहे हैं. बता दें कि बीते महीने हाईकोर्ट ने देविंदर सिंह की उस याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें उसने खुद से जुड़े मामला जम्मू से श्रीनगर में ट्रांसफर करने की मांग की थी.

यह भी पढ़ें : PM मोदी संसदीय क्षेत्र काशी के डॉक्टरों और हेल्थ वर्कर्स से करेंगे बात, जानेंगे हाल

बीते साल जुलाई महीने में देविंदर सिंह से जुड़े मामले में NIA ने कोर्ट में आरोप पत्र दायर कर दिया था. दरअसल मामला आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के नावेद बाबू सहित कई आतंकियों से जुड़ा हुआ है. एनआईए द्वारा दायर इस आरोप पत्र में सैयद नावेद मुस्ताक उर्फ नावेद बाबू , इरफान शैफी मीर उर्फ वकील, के साथ निलंबित डीएसपी देविंदर सिंह का भी नाम है.

यह भी पढ़ें : बिहार में कोरोना के 5,871 नए मरीज, संक्रमण दर 4.19 प्रतिशत

आतंकियों के साथ मिले थे दविंदर सिंह
दविंदर सिंह को साल 2020 की जनवरी में गिरफ्तार किया गया था. कुलगाम जिले में सर्च ऑपरेशन के दौरान दविंदर सिंह को दो आतंकवादियों के साथ गिरफ्तार किया था. उस वक्त ये तीनों एक कार में सवार होकर कहीं जा रहे थे.

यह भी पढ़ें : महाराष्ट्र ने 5 करोड़ टीके के लिए निकाला था ग्लोबल टेंडर, लेकिन नहीं मिला कोई रिस्पांस

पुलिस के अनुसार, दविंदर के हिजबुल मुजाहिदीन के दो मोस्टवांटेड आतंकी पीछे की सीट पर बैठे थे. दविंदर सिंह का पुराना ट्रैक रिकॉर्ड भी खराब है. 28 साल पहले यानी 1992 में भी दविंदर को सस्पेंड किया गया था. वह ड्रग्स से जुड़ा मामला था.

यह भी पढ़ें : नेपाल के सुप्रीम कोर्ट से ओली को बड़ा झटका, शपथग्रहण के 7 दिन में ही 7 मंत्रियों की नियुक्ति रद्द 

 

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 20 May 2021, 08:55:56 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.