News Nation Logo

भारत को जल्द मिलेगी फाइजर वैक्सीन की 5 करोड़ डोज, आखिरी दौर में पहुंची बातचीत

अमेरिका की फार्मा कपंनी फाइजर (Pfizer) की वैक्सीन को लेकर भारत सरकार से कंपनी की बातचीत चल रही है. उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही ये डील फाइनल हो जाएगी. और इसी साल की तीसरी तिमाही में भारत को फाइजर वैक्सीन की 5 करोड़ डोज मिल जाएगी.

News Nation Bureau | Edited By : Karm Raj Mishra | Updated on: 15 May 2021, 01:36:22 PM
Pfizer

Pfizer (Photo Credit: News Nation)

highlights

  • आखिरी दौर में पहुंची कंपनी के साथ बातचीत
  • इस साल 5 करोड़ डोज मिलने की संभावना
  • पिछले साल लटक गई थी डील 

नई दिल्ली:

कोरोना (Coronavirus) की दूसरी लहर ने देश में इस कदर कोहराम मचाया कि अस्पतालों में बेड्स, ऑक्सीजन और दवाओं की भारी किल्लत देखने को मिली. इस महामारी को मात देने के लिए वैक्सीनेशन का तीसरा चरण भी शुरू हो गया है, जिसमें 18 से ऊपर के लोगों को वैक्सीन लगवाने की इजाजत मिल चुकी है. लेकिन वैक्सीन की कमी (Covid Vaccine Shortage) के कारण कई राज्यों में अभी भी युवाओं को वैक्सीन नहीं मिल पा रही है. वैक्सीन की डिमांड बढ़ती जा रही है और राज्यों की ओर से कहा जा रहा है कि उनके पास वैक्सीन का स्टॉक नहीं है. इस बीच खबर आ रही है कि फाइजर (Pfizer) को भारत में इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिल सकती है. साथ जल्द ही मॉडर्ना (Moderna) की वैक्सीन भी भारत को मिल सकेगी.

ये भी पढ़ें- जल्द खत्म होगी वैक्सीन की किल्लत, अब भारत में ही बनेगी रूसी वैक्सीन- डॉ रणदीप गुलेरिया

आखिरी दौर में पहुंची बातचीत

अमेरिका की फार्मा कपंनी फाइजर (Pfizer) की वैक्सीन को लेकर भारत सरकार से कंपनी की बातचीत चल रही है. उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही ये डील फाइनल हो जाएगी. और इसी साल की तीसरी तिमाही में भारत को फाइजर वैक्सीन की 5 करोड़ डोज मिल जाएगी. द टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक भारत सरकार और वैक्सीन निर्माता कंपनी के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है. अखबार ने दावा किया है कि बातचीत आखिरी दौर में पहुंच गई है.

पिछले साल लटक गई थी डील

हाल ही में फाइजर के चेयरमैन और सीईओ अल्बर्ट बूर्ला ने एक बयान में कहा था कि कंपनी अपनी फाइजर-बायोएटेक वैक्सीन को भारत में जल्द उपलब्ध कराने के लिए भारत सरकार के साथ बातचीत कर रही है, ताकि उसे तेजी से मंजूरी मिल सके. फाइजर ने इससे पहले अप्रैल में कहा था कि उसने भारत में सरकारी टीकाकरण कार्यक्रम के लिए अपनी वैक्सीन को बिना किसी मुनाफे के उपलब्ध कराने की पेशकश की है. बता दें कि फाइजर ने पिछले साल वैक्सीन के इमरजेंसी यूज के लिए आवेदन किया था लेकिन जब उन्हें यह बताया गया कि यहां उन्हें ट्रायल करना होगा तो उन्होंने अपना आवेदन वापस ले लिया था. अब इस मुद्दे पर भी दोनों पक्षों में कुछ सहमति बन चुकी है. 

ये भी पढ़ें- कोरोनाः तीसरी लहर के लिए केजरीवाल ने कसी कमर, दिल्ली में ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बैंक की शुरुआत 

कितनी होगी कीमत ?

फाइजर के प्रवक्ता ने एक बयान जारी करके कहा, 'भारत के लिए फाइजर ने सरकार को इसके टीकाकरण अभियान के लिए 'नॉट फॉर प्रॉफिट' कीमत की पेशकश की है. हम सरकार के साथ बातचीत कर रहे हैं भारत के टीकाकरण अभियान में वैक्सीन उपलब्ध करवाने को प्रतिबद्ध हैं.' कंपनी ने कहा है कि इसने उच्च, मध्यम और निम्न आय वाले देशों के लिए अलग-अलग कीमत रखी है और दुनिया भर के सभी लोगों तक कोविड-19 वैक्सीन की समान और सस्ती पहुंच के लिए प्रतिबद्धता जताई. 

बता दें कि फाइजर कोरोना टीके के लिए अमेरिकी सरकार से प्रति डोज 19.5 डॉलर (करीब 1500 रुपए) चार्ज कर रही है यूरोपीय यूनियन के लिए कंपनी ने 2022-23 के लिए करीब 1700 रुपए प्रति डोज का चार्ज लिया है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 15 May 2021, 01:36:22 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.