News Nation Logo

कश्मीर में सॉफ्ट टारगेट पर हमला कर रहे 'हाइब्रिड' आतंकी, बना रहे ये प्लान

आतंकवादी गतिविधियों के किसी भी ट्रैक रिकॉर्ड के बगैर, सामान्य युवा हैं. ऐसे युवाओं को एक विशेष काम जाता है जिसे एक ओवरग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) द्वारा पहचाना और अनदेखा किया जाता है फिर उन्हें नियमित जीवन में वापस लौटने की सलाह दी जाती है.

IANS | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 05 Jul 2021, 07:50:08 AM
Kashmir

कश्मीर में सॉफ्ट टारगेट पर हमला कर रहे 'हाइब्रिड' आतंकी (Photo Credit: न्यूज नेशन)

श्रीनगर:

क्या कश्मीर में सुरक्षा बलों के सामने पार्ट टाइम आतंकवादी एक नई चुनौती हैं? सुरक्षा बलों और खुफिया एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारियों का मानना है कि ये पार्ट टाइम आतंकवादी, जिसे हाइब्रिड आतंकवादी भी कहा जाता है, आतंकवादी गतिविधियों के किसी भी ट्रैक रिकॉर्ड के बगैर, सामान्य युवा हैं. ऐसे युवाओं को एक विशेष काम जाता है जिसे एक ओवरग्राउंड वर्कर (ओजीडब्ल्यू) द्वारा पहचाना और अनदेखा किया जाता है और एक बार पूरा करने के बाद, उन्हें नियमित जीवन में वापस लौटने की सलाह दी जाती है. एक अधिकारी ने कहा, हाइब्रिड आतंकवादी का उपयोग करने का मुख्य उद्देश्य जनता के बीच भय पैदा करना और उन क्षेत्रों में अनिश्चितता की भावना पैदा करना है.

यह भी पढ़ेंः दिल्ली में 70 करोड़ की हेरोइन जब्त, 4 अफगानी हुए गिरफ्तार

स्लीपर सेल से अलग होते हैं ये आतंकी
ये युवा आतंकी संगठनों के स्लीपर सेल से अलग हैं. स्लीपर सेल अत्यधिक प्रेरित, प्रशिक्षित, सशस्त्र आतंकवादियों का एक समूह है जिसका आतंकवादी गतिविधियों का एक सुपरिभाषित ट्रैक रिकॉर्ड है. स्लीपर सेल को हाइबरनेट करने की अनुमति दी जाती है, ताकि एक बड़ा हमला किया जा सके, जबकि खुफिया एजेंसियों और सुरक्षा बलों का ध्यान आतंकवादी संगठनों के उन कैडर पर रहता है जो एक विशिष्ट क्षेत्र में सक्रिय हैं. स्लीपर सेल को अपने कार्य को पूरा करने के बाद पीछे से वापस आने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है.

यह भी पढ़ेंः किसान अब करेंगे संसद पर प्रदर्शन, आर-पार की होगी अब लड़ाई

इसके ठीक विपरीत, हाइब्रिड या अंशकालिक आतंकवादी एक सशस्त्र कैडर नहीं है. ऐसे आतंकवादी को एक हथियार दिया जाता है, संभवत: एक असुरक्षित, आसान लक्ष्य को मारने के लिए एक पिस्तौल. असुरक्षित लक्ष्य की गतिविधियों पर एक ओजीडब्ल्यू द्वारा सावधानीपूर्वक निगरानी की जाती है जो हाइब्रिड आतंकवादी को सभी प्रासंगिक जानकारी प्रदान करता है. सुरक्षा बलों के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, एक बार जब हमला सफल हो जाता है, तो ओजीडब्ल्यू हथियार वापस ले लेता है और हाइब्रिड आतंकवादी को उसके सामान्य जीवन में वापस जाने के लिए छोड़ देता है. अधिकारी ने कहा कि ऐसे लगभग सभी मामलों में, माता-पिता और हाइब्रिड के परिवार के अन्य सदस्यों की पार्ट टाइम आतंकवादी की भूमिका और संलिप्तता के बारे में तत्काल पता नहीं चल सकता. 

First Published : 05 Jul 2021, 07:50:08 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.