News Nation Logo
Banner

हाथरस केस में सामने आया ऑनर किलिंग का एंगल, पीड़िता का आरोपी संदीप से था प्रेम-संबंध

हाथरस गैंगरेप (Hathras gangrape case) मामले में ऑनर किलिंग का चौंकाने वाला एंगल सामने आया है. उन्होंने इस मामले को ऑनर किलिंग बताया है. गांव वालों का कहना है कि पीड़िता का आरोपी संदीप के साथ प्रेम संबंध था.

Written By : विनीत दुबे | Edited By : Kuldeep Singh | Updated on: 06 Oct 2020, 02:32:58 PM
Hathras Case

हाथरस केस (Photo Credit: फाइल फोटो)

हाथरस:

हाथरस गैंगरेप (Hathras gangrape case) मामले में ऑनर किलिंग का चौंकाने वाला एंगल सामने आया है. उन्होंने इस मामले को ऑनर किलिंग बताया है. गांव वालों का कहना है कि पीड़िता का आरोपी संदीप के साथ प्रेम संबंध था. यह बात पीड़िता का परिवार को नापसंद थी. इसी बात को लेकर पहले भी दोनों परिवारों के बीच झगड़ा हुआ था. उस दिन भी जब संदीप और पीड़िता को एक साथ देखा गया तो घरवालों को आक्रोश आ गया. इसी के बाद पीड़िता के परिवार ने पूरी घटना को अंजाम दिया. गांव वालों का कहा है कि लव कुश और उसके चाचाओं नाम इसलिए लिया गया कि उनसे पहले से ही कूड़ा डालने और नाली निकासी को लेकर झगड़ा होता रहता था. लिहाजा पीड़िता परिवार ने एक तीर से दो निशाने मारने की कोशिश की.

यह भी पढ़ेंः SC में बोली UP सरकार- नहीं हुआ था रेप, रात में ना करते दाह संस्कार तो होती हिंसा

कॉल डीटेल में हुआ खुलासा
वहीं आरोपी संदीप और पीड़िता के भाई के फोन डिटेल से भी कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. कॉल डीटेल में सामने आया है कि आरोपी संदीप और पीड़िता के भाई के बीच 13 अक्टूबर 2019 से मार्च 2020 तक 104 बार और करीब 5 घंटे बात हुई. इन दोनों के घर 200 मीटर की दूरी पर ही हैं. ऐसा पहली बार है जब पीड़ित पक्ष नारको जांच कराने से भाग रहा है. यूपी सरकार ने जब मामले की सीबीआई जांच के आदेश दिए तो पीड़ित पक्ष उससे भी सहमत नहीं हुआ. हाल ही में कुछ ऑडियो वायरल हुए थे जिनमें सामने आया कि कुछ लोग पीड़िता के परिवार को भड़काने का काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः हाथरस केस में बड़ा खुलासा, पीड़िता के भाई और आरोपी के बीच फोन पर हुई थी 5 घंटे बात

यूपी सरकार बोली-नहीं हुआ रेप
सुप्रीम कोर्ट में इस मामले की सुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि मेडिकल रिपोर्ट में पीड़िता के साथ रेप की पुष्टि नहीं हुई है. वहीं रात में शव का अंतिम संस्कार करने के मामले में सरकार की ओर से कहा गया कि बाबरी मस्जिद पर फैसले को लेकर पूरे प्रदेश में हाई अलर्ट था. दूसरी तरफ इस मामले को लेकर सुबह हिंसा के भी इनपुट थे. इसलिए रात में अंतिम संस्कार किया गया.

First Published : 06 Oct 2020, 02:32:58 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.

वीडियो