News Nation Logo

विदेश मंत्रालय ने कहा, फर्जी नक्शा जारी करने के बजाय ICJ के फैसलों को माने पाकिस्तान

पाकिस्तान द्वारा नया राजनैतिक नक्शा जारी करने और राम मंदिर पर की गई टिप्पणी पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने पलटवार किया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि सीमा पार आतंकवाद में डूबे एक देश का यह रुख आश्चर्यजनक नहीं है. लेकिन इस तरह की टिप्पणियां अफसोसजनक हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Yogendra Mishra | Updated on: 06 Aug 2020, 07:26:35 PM
Anurag srivastav

अनुराग श्रीवास्तव। (Photo Credit: फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

पाकिस्तान द्वारा नया राजनैतिक नक्शा जारी करने और राम मंदिर पर की गई टिप्पणी पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने पलटवार किया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि सीमा पार आतंकवाद में डूबे एक देश का यह रुख आश्चर्यजनक नहीं है. लेकिन इस तरह की टिप्पणियां अफसोसजनक हैं. पाकिस्तान को भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने का कोई हक नहीं है. इसे उससे बचना चाहिए.

यह भी पढ़ें- Fact Check: क्या पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई कोरोना संक्रमित हो गए हैं, जानें सच

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने यह भी कहा कि भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने के बजाय पाकिस्तान ICJ के फैसलों को माने. जिसमें कहा गया है कि पाकिस्तान बिना शर्त जाधव को काउंसलर एक्सेस देगा. पाकिस्तान के नए नक्शे पर विदेश मंत्रालय ने कहा कि पाकिस्तान कई इलाकों को अपना बता कर वहां भी आतंकी गतिविधियां फैलाने की कोशिश कर सकता है. पाकिस्तान जैसे देश से आतंकवाद से अलग कुछ और उम्मीद नहीं की जा सकती.

यह भी पढ़ें- सावधान! चीन से आ रहा एक और वायरस, कोरोना की तरह यह भी इंसानों से फैलता है इंसानों में

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने अयोध्या नें राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर आलोचना को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि हमने भारत के आंतरिक मामले पर पाकिस्तान के बयान को देखा है. पाकिस्तान को भारत के अंदरूनी मामलों में हस्तक्षेप करने से दूर रहना चाहिए और सांप्रदायिक भावनाएं भड़काने से बचना चाहिए. आतंकवाद को पलने और अल्पसंख्यकों को उनके अधिकारों से वंचित करने वाले देश का यह बयान आश्चर्यजनक नहीं है.

LIVE TV NN

NS

NS

First Published : 06 Aug 2020, 07:00:26 PM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.