News Nation Logo
Banner

सिंघु बॉर्डर पर आंदोलनकारियों के बीच पकड़ा गया एक संदिग्ध, 4 किसान नेताओं को गोली मारने की साजिश का दावा!

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में आज किसानों के आंदोलन 59 दिन हो गए हैं. दिल्ली की अलग अलग सीमाओं पर कई हजार किसान डेरा डाले बैठे हैं.

News Nation Bureau | Edited By : Dalchand Kumar | Updated on: 23 Jan 2021, 09:41:15 AM
Singhu border

4 किसान नेताओं को मारने की साजिश! सिंघु बॉर्डर पर पकड़ा गया एक संदिग्ध (Photo Credit: ANI)

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में आज किसानों के आंदोलन 59 दिन हो गए हैं. दिल्ली की अलग अलग सीमाओं पर कई हजार किसान डेरा डाले बैठे हैं. ऐसे में किसान आंदोलन में बाधा डालने की बड़ी साजिश का खुलासा हुआ है. आंदोलन में किसानों के बीच पहुंचे एक संदिग्ध को पकड़ा गया है. किसानों ने इस संदिग्ध को पकड़ने के बाद आंदोलन में बाधा डालने की साजिश रचे जाने का आरोप लगाया है. सिंघु बॉर्डर पर इस संदिग्ध को पकड़ा गया है, जिसकी पहचान हरियाणा के सोनीपत निवासी योगेश के रूप में बताई जा रही है.

यह भी पढ़ें: LIVE: जिद पर अड़े किसानों ने ठुकराया प्रस्ताव तो आगे की बातचीत सरकार ने रोकी!

संदिग्ध युवक के पकड़े जाने के बाद किसान नेताओं ने देर रात एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान किसान नेता जगजीत सिंह दलेवाल ने कहा कि पकड़े गए संदिग्ध ने आंदोलनस्थल के पास प्रदर्शनकारियों पर एक लड़की के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाकर उन्हें बदनाम करने की. लेकिन जब उसे किसानों ने पकड़ लिया तो संदिग्ध नेयह स्वीकार किया कि वह ये देखने के लिए हंगामा कराने की कोशिश कर रहा था कि कहीं किसी के पास कोई हथियार तो नहीं है. इसके बाद किसानों की मौजदूगी में उसने कई खुलासे किए है.

किसान पत्रकारों से बातचीत करते हुए इस संदिग्ध को मीडिया के सामने भी लेकर आए. इस दौरान संदिग्ध ने खुलासा किया है कि उसे आंदोलन में शामिल चार बड़े किसान नेताओं को गोली मारने के लिए कहा गया था. संदिग्ध ने सोनीपत के एक पुलिस अधिकारी भी नाम लिया है. उसने कहा कि इस अधिकारी ने 26 जनवरी को कुछ गलत होने पर किसान नेताओं को गोली मारने की साजिश रची है. संदिग्ध ने बताया है कि इन चारों किसान नेताओं की तस्वीर भी पुलिस अधिकारी ने साझा कर रखी है.

यह भी पढ़ें: सुभाष चंद्र बोस के 125वीं जयंती समारोह समिति के अध्यक्ष हैं पीएम नरेन्द्र मोदी 

इतना ही नहीं, संदिग्ध ने यह भी खुलासा किया है कि आंदोलन के दौरान किसान कोई हथियार तो लेकर जा रहे हैं, इसका पता लगाने के लिए दो टीमें लगाई गई हैं. मीडिया के सामने संदिग्ध ने कहा कि वह 19 जनवरी से सिंघु बॉर्डर पर है. 26 जनवरी के दिन उसकी योजना आंदोलनरत किसानों के बीच में मिल जाने की थी. संदिग्ध ने कहा कि अगर किसान परेड के साथ निकलते तो उसे उन पर फायर करने के लिए कहा गया था.

बताया जा रहा है कि फिलहाल संदिग्ध को सोनीपत पुलिस ने अपनी हिरासत में ले लिया है और उसे कुंडली थाने ले जाया गया है. यहां पुलिस उससे पूछताछ कर रही है. उल्लेखनीय है कि कृषि कानूनों को रद्द किए जाने की मांग को लेकर किसान दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं. किसानों ने 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर ट्रैक्टर परेड निकालने का ऐलान किया है, जिस पर घमासान मचा है. 

First Published : 23 Jan 2021, 09:14:27 AM

For all the Latest India News, Download News Nation Android and iOS Mobile Apps.